Athrav – Online News Portal
गुडगाँव

दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम ने आज गुरुग्राम से ‘उद्यमी के द्वार डीएचबीवीएन‘ कार्यक्रम की शुरुआत की।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
गुरुग्राम:दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम (डीएचबीवीएन) ने आज गुरुग्राम से ‘उद्यमी के द्वार डीएचबीवीएन‘ कार्यक्रम की शुरुआत की। यह कार्यक्रम प्रदेश के डीएचबीवीएन के सभी 12 जिलों में चरणबद्ध तरीके से चलाया जाएगा। गुरूग्राम के बाद इस प्रकार का कार्यक्रम फरीदाबाद तथा रेवाड़ी में आयोजित किया जाएगा। बिजली निगमों के अतिरिक्त मुख्य सचिव पी के दास ने डीएचबीवीएन की इस नई पहल की शुरूआत चंडीगढ़ मुख्यालय से वर्चुअल माध्यम से की। गुरूग्राम में यह कार्यक्रम सैक्टर-43 स्थित पावर ग्रिड के एम पी हॉल में आयोजित किया गया था जहां पर डीएचबीवीएन के प्रबंध निदेशक  पी सी मीणा के साथ निगम के समस्त वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे। इन अधिकारियों ने गुरूग्राम की सभी औद्योगिक एसोसिएशनों से सेवाओं में और बेहतरी के लिए सुझाव भी सुने। आज के इस कार्यक्रम की खासियत यह रही कि वीरवार को एक ही दिन में 100 उद्यमियों को बिजली कनेक्शन रिलीज तथा स्वीकृति पत्र मौके पर दिए गए। गुरुग्राम के उद्यमियों ने डीएचबीवीएन की इस पहल की सराहना की और कहा कि इससे उद्योगों को लाभ होगा।

डीएचबीवीएन की इस नई पहल की शुरूआत ऑनलाइन माध्यम से करते हुए बिजली निगमों के अतिरिक्त मुख्य सचिव पी के दास ने कहा कि हरियाणा में अब बिजली सरप्लस है और इसका फायदा उद्योगों तथा उद्यमियों को मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि  ‘ क्वालिटी पावर‘ के साथ उद्योगों की मांग समय पर पूरी होनी चाहिए। इस दिशा में बिजली निगम प्रयासरत है और आज का यह कार्यक्रम उद्यमियों को पर्याप्त मात्रा में गुणवत्तापूर्ण बिजली आपूर्ति करने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद और गुरूग्राम में बिजली की मांग बढ़ी है और सभी को बेहतर गुणवत्ता की बिजली आपूर्ति हम कर पाएं, इस दिशा में कार्य किया जा रहा है। उद्योग स्थापित करने या लोड बढ़ाने के बारे में यदि बिजली निगम को पहले सूचित कर दिया जाए तो सुनियोजित ढंग से इस कार्य को अंजाम दिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि बिजली वितरण निगम तथा उपभोक्ता के बीच बेहतर तालमेल स्थापित किया जा रहा है ताकि उपभोक्ताओं को आसानी से सुविधाएं मिल सकें।  दास ने यह भी कहा कि हमारे सोचने और कार्यशैली में बड़ा बदलाव आया है और यह आने वाले दिनों में दिखाई भी देगा। कार्यक्रम में उपस्थित डीएचबीवीएन के प्रबंध निदेशक  पी सी मीणा ने कहा कि डीएचबीवीएन देश में रेटिंग में 5वें स्थान पर है और हमारा प्रयास है कि बिजली सुविधाओं में और अधिक सुधार लाते हुए इसे पहले पायदान पर लाया जाए। उन्होंने कहा कि हमारे कनेक्शनों में 25 प्रतिशत कनेक्शन औद्योगिक ईकाइयों के हैं ।  उन्होंने यह भी कहा कि डीएचबीवीएन के ए टी एंड सी लॉसेस अब कम होकर मात्र 15 प्रतिशत रह गए हैं।  मीणा ने उद्योगों को बिजली निगम के अच्छे क्लाइंट बताते हुए कहा कि उनका ध्यान रखना हमारा कर्तव्य है। उन्होंने बताया कि ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की तर्ज पर ‘ ईज ऑफ कनेक्शन‘ की सुविधा उद्यमियों को दी जाएगी ताकि वे अपनी ऊर्जा का कनेक्शन प्राप्त करने की जद्दोजहद की बजाय अपने उद्योग को स्थापित करने में लगाएं। उन्होंने बताया कि उद्यमियों की सुविधा के लिए बैंको की तर्ज पर डीएचबीवीएन द्वारा जल्द ही रिलेशनशिप मैनेजर (आरएम) की परिकल्पना को लागू किया जाएगा ताकि उद्यमियों को अपनी बिजली संबंधी समस्याओं के समाधान के लिए इधर-उधर ना भटकना पड़े। ये रिलेशनशिप मैनेजर उद्यमियों का सहयोग करेंगे और उनकी बिजली संबंधी समस्याओं के समाधान करवाएंगे। उद्यमी को केवल रिलेशनशिप मैनेजर से संपर्क करना है।मीणा ने कहा कि डीएचबीवीएन के क्षेत्र में उद्योगों को औसतन 23 घंटे 52 मिनट बिजली आपूर्ति की जा रही है। इस 8 मिनट के गैप को भी कम करने की कोशिश जारी है । जिन फीडरों में बिजली कट ज्यादा हैं , उनमें सुधार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उद्योगों को जनरेटर फ्री करने की दिशा में काम किया जा रहा है ताकि वातावरण में प्रदूषण भी कम हो। उन्होंने बताया कि कई स्थानों पर बिजली के नए सब स्टेशन भी स्थापित किए जा रहे हैं।उन्होंने बताया कि डीएचबीवीएन द्वारा लोगों की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नंबर-1912 भी चलाया जा रहा है जहां बिजली उपभोक्ता  अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। इसके अलावा, हेल्पलाइन नंबर-7082102200 पर मिस्ड कॉल करके भी बिजली उपभोक्ता अपने बिजली बिल की जानकारी प्राप्त कर सकता है। यही नहीं, व्हाटस एप के माध्यम से भी हेल्पलाइन नंबर- 8813999708 पर बिजली निगम की सेवाएं प्राप्त करने की सुविधा भी शुरू की गई है।  मीणा ने बताया कि बिजली उपभोक्ताओं को बिल अदायगी के लिए कई पेमेंट ऑप्शन दिए जा रहे हैं, फिर भी इन ऑप्शन में विस्तार किया जाएगा। उन्होंने ये भी बताया कि गलत बिजली बिल आदि संबंधी समस्याओं के निवारण के लिए कमर्शियल बैक ऑफिस (सीबीओ) का एक्सटेंशन सेंटर गुरुग्राम में जल्द ही शुरू किया जाएगा।मीणा ने कार्यक्रम में उपस्थित उद्यमियों की एसोसिएशनों के प्रतिनिधियों की समस्याएं और सुझाव भी सुने। उन्होंने कहा कि उनके उपयोगी सुझावों पर अवश्य विचार किया जाएगा।

Related posts

धनतेरस पर गुरुग्राम को मिली 109.14 करोड़ रुपए की लागत से तैयार अंडरपास की सौगात

Ajit Sinha

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के पांच खूंखार बदमाशों को किया अरेस्ट, लाखों का इनाम घोषित हैं।

Ajit Sinha

परिवाहन एंव खनन मंत्री मूलचंद शर्मा ने चेकिंग के दौरान रेती चोरी, ओवर लोडिंग के 35 डंपरों को किया पुलिस के हवाले 

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//soocaips.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x