Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली राजनीतिक राष्ट्रीय

ऐतिहासिक विजय के साथ महाराष्ट्र में एक बार पुनः देवेन्द्र फड़णवीस सरकार के गठन का किया आह्वान : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह  

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नई दिल्ली :भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज महाराष्ट्र में कलाम्बा (कोल्हापुर) के तपोवन मैदान और कराड (सतारा) में आयोजित विशाल जन-सभाओं को संबोधित किया और महाराष्ट्र की जनता से राज्य की समृद्धि एवं लोगों के कल्याण के लिए ऐतिहासिक विजय के साथ महाराष्ट्र में एक बार पुनः देवेन्द्र फड़णवीस सरकार के गठन का आह्वान किया। उन्होंने प्रसिद्ध महालक्ष्मी मंदिर (कोल्हापुर) में माँ अंबाबाई का दर्शन कर देशकी समृद्धि एवं जन-कल्याण का आशीर्वाद माँगा। सतारा में उन्होंने लोक सभा उप-चुनाव के लिए छत्रपति शिवाजी के वंशान उदयन राजे भोंसले के लिए भी जनता से विजय का आशीर्वाद माँगा और कहा कि हम छत्रपति शिवाजी के सिद्धांतों पर चलने वाले लोग हैं। कांग्रेस पर बड़ा हमला करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस कभी भी अपनी नेताओं का सम्मान नहीं करती, कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय यशवंत राव चह्वाण के साथ भी अन्याय किया। ऐसे लोगों को सबक सिखाने का चुनाव आ गया है। शाह ने कहा कि इस बार के महाराष्ट्र विधान सभा चुनाव में एक ओर प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी की अगुआई में देवेन्द्र फड़णवीस और उद्धव ठाकरे जी के नेतृत्व में विकास के लिए समर्पित भाजपा – शिव सेना गठबंधन है तो वहीं दूसरी ओर राहुल गाँधी और शरद पवार के नेतृत्व में भ्रष्टाचार में आकंठ डूबी हुई कांग्रेस – एनसीपी गठबंधन। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने राज्य के साथ लगातार अन्याय करने वाली कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन कोकरारा जवाब देने का निर्णय पहले ही कर लिया है और भाजपा – शिव सेना गठबंधन महाराष्ट्र में अब तक के ऐतिहासिक विजय के साथ सरकार बनाने जा रही है। 

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र की जनता के आशीर्वाद से इस बार के लोक सभा चुनाव में प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी को 300 से अधिक सीटें मिली और प्रधानमंत्री जी ने सरकार बनने के बाद पहले ही सत्र में धारा 370 को ख़त्म करते हुए देश में एक प्रधान, एक निशान और एक विधान के सपने को साकार किया। उन्होंने कहा कि देश की जनता 70 साल से धारा 370 के हटने की राह देख रही थी लेकिन आज तक किसी भी सरकार ने ऐसा करने की हिम्मत नहीं दिखाई। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की जनता कांग्रेस पार्टी, राहुल गाँधी और शरद पवार से इस बात का जवाब मांगे कि वे धारा 370 को हटाने के पक्ष में हैं या विरोध में और उन्होंने संसद में धारा 370 को हटाने का विरोध क्यों किया था? उन्होंने कहा कि यह प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी जी हैं जिन्होंने धारा 370 और 35 (A) को ख़त्म कर जम्मू-कश्मीर को वास्तव में हिंदुस्तान का अभिन्न अंग बनाया है। इतना ही नहीं, मोदी सरकार की सफलतम कूटनीति के कारण आज पाकिस्तान पूरी दुनिया में इस कदर अकेला पड़ गया है कि विश्व का कोई भी देश उसके साथ खड़ा नहीं होना चाहता। शाह ने कहा कि जब हम देश के दुश्मनों के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक करते हैं तो वे न केवल इसका विरोध करते हैं बल्कि जवानों की वीरता को ‘खून की दलाली की संज्ञा देते हैं, जब हम ट्रिपल तलाक हटाते तो वे उसका विरोध करते हैं। मुझे समझ में नहीं आता कि राहुल गाँधी और कांग्रेस पार्टी को तकलीफ क्या है? एक तो कांग्रेस की सरकारों ने राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर कभी कुछ किया नहीं और आज मोदी सरकार जब एक-एक कर सभी समस्याओं का समाधान कर रही है तो वह उसका विरोध करती है। यह कांग्रेस पार्टी का वैचारिक दिवालियापन नहीं तो और क्या है?कोल्हापुर, सांगली और सतारा सहित पूरे महाराष्ट्र में बारिश और बाढ़ के कारण हुए नुकसान की चर्चा करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि प्रचंड बाढ़ के महाराष्ट्र को काफी परेशानी झेलनी पड़ी है। अभी बारिश थमी भी नहीं थी कि चुनाव के लिए आचार संहिता लागू हो गई और नुकसान का सर्वे पूरा नहीं हो पाया। मैं यहाँ के निवासियों को आश्वस्त करना चाहता हूँ कि चुनाव के बाद बनने वाली देवेन्द्र फड़णवीस सरकार केंद्र सरकार के साथ मिलकर बाढ़ की समस्या का समाधान करेगी और जिले की भलाई और नागरिकों के कल्याण के लिए पहले से भी अधिक कदम उठाएगी। 



शाह ने कहा कि कांग्रेस-एनसीपी की सरकार ने 15 वर्षों में महाराष्ट्र में प्रधानमंत्री सिंचाई योजना के तहत 72,000 करोड़ रुपये खर्च किये लेकिन एक हेक्टेयर भूमि भी सिंचित नहीं हुई जबकि देवेन्द्र फड़णवीस सरकार ने केवल 9,000 करोड़ रुपये से जलयुक्त शिवार योजना के तहत लगभग 18,000 से अधिक गाँवों में पानी पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि केवल सतारा में पिछले पांच वर्षों में ही लगभग 48,000 हेक्टेयर भूमि सिंचित हो चुकी है। उन्होंने कहा कि 15 सालों तक कांग्रेस – एनसीपी की सरकार में कृष्णा घाटी से पानी लाने का काम अधूरा पड़ा रहा, अब देवेन्द्र फड़णवीस सरकार उस योजना पर काम कर रही है और अगले एक दो वर्षों में ही यह कार्य भी पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस-एनसीपी सरकार की उदासीनता के कारण सिंचाई की 26 बड़ी योजनायें अधर में लटकी हुई थी जिसे मोदी सरकार ने आगे बढ़ाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की देवेन्द्र फड़णवीस सरकार लगभग 15 लाख करोड़ रुपये के 3400 ग्रामीण प्रोजेक्ट्स पर काम कर रही है जो महाराष्ट्र के विकास के महती भूमिका निभाएगी। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पहले नागरिकों से काफी टोल टैक्स वसूला जाता था लेकिन देवेन्द्र फड़णवीस सरकार नेकोल्हापुर की जनता को टोल टैक्स से आजादी दी है। राज्य में भाजपा सरकार पुनः बनने पर कोल्हापुर में एक बहुतबड़ा आईटी पार्क बनाया जाएगा। जिले में डैम के लिए 80 करोड़ रुपये दिए गए, 10 साल से बंद पर कोल्हापुर हवाईअड्डे को पुनः शुरू किया गया, जिले में पासपोर्ट केंद्र बनाया गया और कोल्हापुर को कोंकण से जोड़ने वाली कोल्हापुर-वैभववाडी रेलवे लाइन निर्माण का कार्य भी जोरों पर है। आज गन्ना किसानों को सब्सिडी सीधे उनके बैंक खाते मेंहस्तांतरित की जा रही है, साथ ही एथेनॉल के दाम भी बढ़ाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि कोल्हापुर अपने चप्पल उद्योग केकारण पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है और अब इस उद्योग को जीआई टैग दिए जाने से इस इंडस्ट्री को काफी बढ़ावामिलेगा।श्री शाह ने कहा कि आजादी के वक्त महाराष्ट्र सहकारिता, उद्योग, एफडीआई, कृषि, सिंचाई और दुग्ध उत्पादन में पहले स्थान पर था लेकिन कांग्रेस-एनसीपी के शासन में महाराष्ट्र काफी पायदान नीचे खिसक गया। आज केंद्र मेंमोदी सरकार और महाराष्ट्र में देवेन्द्र फड़णवीस सरकार का डबल इंजन मिल कर महाराष्ट्र को फिर से देश कासर्वोत्तम प्रदेश बनाने में लगी है। आज केवल पांच वर्षों के भाजपा शान में महाराष्ट्र एफडीआई में पहले स्थान परकाबिज हुआ है और शिक्षा एवं कृषि में तीसरे स्थान पर पहुँच गया है। उद्योग में भी महाराष्ट्र ने अच्छी प्रगति की है।अगले पांच साल में हम हर क्षेत्र में महाराष्ट्र को प्रथम स्थान पर प्रतिष्ठित करने के लिए कार्य करेंगे।राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि केंद्र में 10 वर्षों तक कांग्रेस-एनसीपी की सरकार रही, महाराष्ट्र में 15 वर्षों तक कांग्रेस-एनसीपी की सरकार रही लेकिन महाराष्ट्र में विकास के बजाय भ्रष्टाचार चरम पर पहुँच गया। उन्होंने कहा कि 13वें वित्तआयोग के दौरान जब केंद्र और महाराष्ट्र, दोनों जगह कांग्रेस-एनसीपी की सरकार थी, तब महाराष्ट्र को केवल1,15,500 करोड़ रुपये की सहायता दी गई जबकि मोदी सरकार के दौरान 14वें वित्त आयोग में प्रदेश को ढाई गुनाअधिक 2,86,353 करोड़ रुपये दिए गए। इसके अतिरिक्त महाराष्ट्र को कृषि सिंचाई योजना के तहत लगभग 26,000करोड़ रुपये, सूखे से निबटने के लिए लगभग 3,000 करोड़ रुपये, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लगभग 13,000करोड़ रुपये, स्मार्ट सिटी योजना के लिए लगभग 19,000 करोड़ रुपये, मेट्रो परियोजना के लिए लगभग 20,000 करोड़रुपये, स्वच्छ भारत योजना के तहत 7,000 करोड़ रुपये, अमृत योजना के तहत लगभग 7,700 करोड़ रुपये और मुद्रायोजना के तहत राज्य के 73 लाख से अधिक युवाओं को लगभग 32,000 करोड़ रुपये की सहायता दी गई। इस तरह,महाराष्ट्र को कुल 4,38,760 करोड़ रुपये की सहायता दी गई।

Related posts

देवघर रोपवे हादसा: ऊपर आसमान, नीचे खाई, रात में अंधेरा, 48 लोगों की सांसे ट्रॉली में अटकी, हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू -जारी

Ajit Sinha

फरीदाबाद :बल्लभगढ़ के सैकड़ों व्यापारियों ने आज भारतीय जनता पार्टी में आस्था व्यक्त करते हुए पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

Ajit Sinha

फरीदाबाद: 37 वें सूरजकुंड अंतर्राष्ट्रीय शिल्प मेला-2024 का राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मू ने किया उद्घाटन

Ajit Sinha
//whulsaux.com/4/2220576
error: Content is protected !!