Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद

फरीदाबाद : मां वैष्णो देवी मंदिर में पहले दिन आज प्रात मां शैलपुत्री की भव्य पूजा अर्चना की गई. नवरातों तक चौबीसों घंटे मंदिर के कपाट दर्शन हेतु खुले रहेंगें।


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
फरीदाबाद : नवरात्रे पर्व की धूम की शुरुआत बड़े ही हर्षोउल्लास के साथ हो गई हैं और यह पर्व अगले नौ दिनों से चलेगी। सिद्धपीठ माँ वैष्णो देवी मंदिर में नवरात्रों के पहले दिन माँ शैलपुत्री की भव्य पूजा आराधना की गई। पहले नवरात्रों पर मंदिर में आज हवन यज्ञ एंव पूजा अर्चना में शामिल होने के प्रातकाल से ही भक्तों का तांता लग गया।
पूजा अर्चना के पावन अवसर पर उनके साथ मंदिर में लखानी अरमान ग्रुप के चैयरमेन के. सी. लखानी, उद्योगपति आर. के.जैन,प्रताप भाटिया, गुलशन भाटिया, रमेश सहगल, गिर्राजदत्त गौड़, कांशीराम, फ़क़ीर चंद कथूरिया, एस.पी.भाटिया, राहुल मक्क्ड़, नेतराम गांधी, बलजीत, विकास, पारुल रत्तड़ा, कमलेश कुमारी, अनिल निशान, रमेश कुमार, राकेश कुमार,नीलम मनचंदा, राजेश भाटिया प्रमुख रूप से उपस्थित थे। इन सभी ने मंदिर में श्रद्धालुओं के बीच पूजा अर्चना में हिस्सा लिया। मंदिर के प्रधान जगदीश भाटिया का कहना हैं कि आज प्रात ही मंदिर में मां शैलपुत्री की भव्य पूजा अर्चना की गई। इस अवसर पर मंदिर में आए श्रद्धालुओं को प्रधान जगदीश भाटिया ने बताया कि नवरत्नों के पावन अवसर पर मंदिर के कपाट चौबीसों घंटें खुले रहेंगें। उनके अनुसार मंदिर में हर रोज भव्य पूजा अर्चना के साथ श्रद्धालुओं के लिए विशेष तौर पर प्रसाद की ब्यवस्था रहेगी।उन्होनें बताया कि वैष्णों देवी मंदिर की महिमा दूर -दूर तक फैली हुई हैं,यहीं वजह हैं कि जो भी भक्त मंदिर में सच्चे मन से अपनी मुराद लेकर आता हैं ,वह अवश्य पूरी होती हैं।

Related posts

फरीदाबाद : गांव हो या शहर सभी जगह एक समान विकास और एक समान सम्मान देने वाली भाजपा विश्व की न. 1 पार्टी है, राजेश नागर ।

Ajit Sinha

फरीदाबाद:गांजे का सेवन करने, और 5000 रूपए देने से मना तो कर्मचारी ने कंपनी मालिक पर गोली चला दी -अरेस्ट।

Ajit Sinha

फरीदाबाद की ईशा गुलाटी बनी मेसेस इंडिया यूनिवर्स -2018 ,मिसेस यूनिवर्स अन्तर्राष्टीय ब्यूटी पेजेट हैं में भी ख़िताब जितना चाहती हैं, मैं बहुत खुश हूँ ।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//gleeglis.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x