Athrav – Online News Portal
नोएडा

तेंदुआ दिखने की चर्चा सोशल मीडिया वायरल, वन विभाग ने फिशिंग कैट बताया


अरविन्द उत्तम की रिपोर्ट
नॉएडा: ग्रेटर नोएडा के चंद्रावल गांव में तेंदुआ दिखाई देने की खबर पुरे गांव में आग की तरह फैल गई। लोगों ने उसकी तस्वीर और वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया, जो तेजी से वायरल हो रही है, इसके बाद पुलिस और वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे, और जांच की तो पता चला कि यह तेंदुआ नहीं फिशिंग कैट है जो मुख्य रूप से नदी और नहरों के किनारे पाई जाती है और इससे कोई खतरा नहीं है। नहर के किनारे घूम रहे इस जानवर को लेकर लोगों ने इसे तेंदुआ समझ बैठे और देखते ही देखते यह खबर तेजी से फैली और लोगों में दहशत व्याप्त हो गया। पुलिस को भी पीआरवी के माध्यम से सूचना मिली कि गांव चंद्रावल में तेंदुआ निकल आया है।
पुलिस अधिकारी और फॉरेस्ट विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे तो जांच में पता चला यह तेंदुआ नहीं फिशिंग कैट है और इससे कोई खतरा नहीं है। गौतम बुद्ध नगर के डिविजनल फॉरेस्ट अफसर प्रमोद श्रीवास्तव ने बताया कि फिशिंग कैट ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर और जेवर में पहले भी दिखाई दे चुकी है।उन्होंने बताया कि यह खतरनाक नहीं होती है, इसका स्वभाव होता है कि यदि इन्हें छेड़ा ना जाए तो यह हमलावर नहीं होती है. डिविजनल फॉरेस्ट ऑफिसर ने बताया कि जंगली मांसाहारी जानवर दो प्रकार के होते हैं। एक डॉग और एक कैट फैमिली के होते हैं। डॉग फैमिली में भेडिय़ा और जंगली कुत्ते आदि आते हैं। जबकि कैट फैमिली में लेपर्ड, टाइगर, घरेलू बिल्ली, फिशिंग कैट और वाइल्ड कैट शामिल हैं। उन्होंने बताया कि फिशिंग कैट मांसाहारी होती है। ये मुख्य रूप से नदियों के किनारे पाई जाती हैं। यह शेड्यूल वन के तहत आती हैं। ये मूलत: हिंसक जानवर नहीं होती हैं। उन्होंने बताया कि इन जानवरों से बचने का सबसे अच्छा उपाय है कि उन्हें छेड़ें नहीं और आई कॉन्टेक्ट न करें।

Related posts

पुलिस मुठभेड़ में एक वाहन चोर के पैर में लगी गोली, देखें वीडियो

Ajit Sinha

सुसाइड नोट में लिखा है कि इंटरनेट से पता चला था कि नाइट्रोजन गैस से आत्म हत्या करने पर ज्यादा दर्द का अहसास नहीं होता

Ajit Sinha

अपार्टमेंट में अचानक आग लगने से मची अफरा- तफरी, समय रहते सभी को बाहर निकाला गया।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//ewhareey.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x