Athrav – Online News Portal
दिल्ली राजनीतिक राष्ट्रीय

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर कब इस्तीफा देंगे: सुप्रिया श्रीनेत


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
भोपाल:अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुश्री सुप्रिया श्रीनेत ने आज प्रदेष कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि अब हमारे पास कहने को कुछ बचा नहीं है। लेकिन एक जिम्मेदार विपक्ष होने के नाते सर्वप्रथम तो यह कहेंगे कि हमने इस मंच से पहले दो वीडियो और भी जारी किए थे। जिसमें केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के बेटे देवेन्द्र तोमर एक वीडियो काल पर 100 करोड़ रू. एक वीडियो में और 500 करोड़ रू. की हेरा फेरी, कैसे हवाला आएगा, किस अकाउंट में जाएगा, कितने अकाउंट खोलने हैं इस सब की चर्चा करते हुए दिखाई दिए हैं। भाजपा ने अभी तक यह कहकर खारिज किया कि यह झूठा वीडियो है। लेकिन सच्चाई सबके सामने उजागर हो गई है।

श्रीनेत ने कहा कि वायरल वीडियो के सत्य का पता लगाना एजेंसी का काम है भाजपा ब्रह्मवाक्य नहीं बोल रही है हम बार-बार कह रहे हैं एक वीडियो आया है जिसमें ऐसा प्रतीत हो रहा है कि नरेंद्र सिंह तोमर के लड़के देवेंद्र तोमर एक बिचौलिए से फोन पर बात कर रहे हैं और 100 करोड़, 500 करोड़ की डील कर रहे हैं। जो व्यक्ति अपने आप को जगमग दीप कह रहे हैं कनाडा के रहने वाले हैं, इन्होंने अपना फोन नंबर और एड्रेस दोनों साझा किया है और अगर कोई इन्वेस्टिगेटिव एजेंसी कोई सबूत मांगना चाहती हो तो वह लगातार वह सबूत यहां भी दिख रहे हैं, और साझा भी करने को तैयार है। यह व्यक्ति अपने आप को जगमनदीप बता रहे हैं और यह भी बता रहे हैं कि उनकी नरेंद्र सिंह तोमर के लड़कों के साथ दोस्ती भी है।

श्रीनेत ने बताया कि लुटियंस दिल्ली में अमित शाह के ठीक सामने वाली कोठी में नरेंद्र सिंह तोमर रहते हैं। वीडियों में इस व्यक्ति का दावा है कि यह 2020 मार्च में वहां पर था और यह खुद गांजे की खेती करता है और गांजे की खेती में जगमनदीप के अनुसार तोमर परिवार पैसा लगाना चाहते थे। जगमनदीप क्रमवार तरीके से बता रहा है कि पैसा कैसे आता है। इनका आरोप है कि जो भी काम उनके पास आता था वो 100 से 500 करोड़ का कमीशन लेते थे। अब यह आरोप सार्वजनिक  मंच पर आ चुके है। और एक जिम्मेदार विपक्ष होने के नाते हमारी जिम्मेदारी है कि हम इसके बारे में बात करें और हम पूछना चाहते हैं कि अब किस बात का इंतजार है, क्योंकि यह व्यक्ति आगे बढ़कर यह भी कह रहा है जो इसके आगे की चर्चा हुई थी जो रिटायर्ड आरबीआई का अधिकारी था वह पार्टी लेकर आते थे। इनका कहना है कि मोनालो नाम की जो कंपनी के द्वारा पैसे का लेन-देन हो रहा था। वह सबूत देने के लिए भी तैयार हैं।

श्रीनेत ने कहा कि सबसे ज्यादा चिंता वाली बात यह है कि एक ऐसा व्यक्ति सामने आया है जो किसी दबाव में नहीं है। मुझे लगता है कि वह स्वतंत्र रूप से कहता हुआ सुनाई दे रहा है कि मैं सबूत देने को तैयार हूं और यह 100, 500 करोड़ का ही नहीं पूरे 10,000 करोड़ का मामला है। वह साफ तौर से यह भी कह रहे हैं कि पूरा पैसा कैश में दिया जाता था।श्रीनेत ने कहा कि गुरुद्वारे जैसी इतनी पाक इतनी पावन संस्था को भी इन लोगों ने दूषित करने का काम किया। आगे उन्होंने बताया कि आईसीआईसीआई बैंक के द्वारा जो ट्रांजैक्शन हो रहे थे उनके सारे सबूत भी एजेंसी को मिल जाएंगे। फिर उन्होंने पार्सल का जिक्र किया जिसमें यह एक चिंता का विषय है तीन कृष्ण मेनन मार्ग पर एक पार्सल आया जिसमें नरेंद्र सिंह तोमर की बहू श्रीमती हर्षिनी जी के लिए आया था जिसमें मेकअप का सामान के साथ भांग और गांजा भी तथाकथित तौर पर भेजा गया था। तो जो नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो है उनको भी सतर्क हो जाना था। जगमनदीप का कहना है कि जो बेनामी संपत्ति बेनामी एजेंसी के द्वारा 100 एकड़ की जमीन न्यूब्रेंस कनाडा में खरीदी गई थी। तोमर परिवार पर गंभीर आरोप लगाने वाले जगमनदीप वीडियों में अपना पता भी बता रहे है, जो ब्रिटिश कोलंबिया कनाडा का है, उसने अपना नंबर भी दिया है। सुश्री श्रीनेत ने कहा कि हमारे कुछ सवाल हैं और इन सवालों के जवाब हमें सरकार से चाहिए ही चाहिए। सबसे बड़ी चिंता का सवाल यह है कि अब यह बात नरेंद्र सिंह तोमर से और आगे बढ़ गई है क्योंकि इस व्यक्ति ने मनिंदर सिंह सिरसा का नाम लिया है जो अमित शाह के बेहद करीबी है। वह भाजपा के बड़े नेता भी हैं, जो उनके साथ हवाई जहाज में यात्रा करते हैं। इनका कहना है कि वह कैष की हेरा फेरी राउंड ट्रिपिंग के द्वारा करते थे। तो यह जो भ्रष्टाचार के छींटे हैं वह गृह मंत्री शाह तक पहुंच चुके है। आज सवाल इस बात का है कि भारतीय जनता पार्टी अब किस बात का इंतजार कर रही है। एक आदमी अपने आप सामने आकर कह रहा है कि मैं ही वह व्यक्ति हूं जो वीडियो कॉल में था। यह मेरा फोन नंबर है, यह मेरा पता है, मेरे पास सारे सबूत है और मैं यह सब साझा करने के लिए तैयार हूं कि कैसे कैसे कमीशन लिया गया? दस हजार करोड़ का घोटाला है कैसे भांग और गांजा मंत्री साहब के ऑफिशल आवास में पहुंचाया जाता था और कैसे मंत्री जी की बेनामी संपत्ति 100 एकड़ की कनाडा में बनी है।श्रीनेत ने आरोप लगाया और कहा कि  इसमें ड्रग्स का मामला सामने आ गया, ड्रग्स कार्टेल एक्टिवेट हो गया। इसमें मनी लॉनिं्ड्रग का रियल मामला सामने आ गया क्योंकि बेनामी संपत्ति पैसे को बाहर किया जा रहा है। नार्कोटिक्स कंट्रोल का मामला बन रहा है, ईडी का मामला बनता है। एक मंत्री के द्वारा यह सब हो रहा है तो सीबीआई क्यों चुप बैठी है? मुझे लगता है कि इसमें सबसे बड़ा पाप यह किया गया है कि गुरुद्वारा जैसी पावन संस्था को भी दुरुपयोग के लिए इस्तेमाल किया गया है। यह सीबीआई का केस है, यह एड का केस है, यह पूरी तरह नारकोटिक्स ब्यूरो का केस है। सबसे पहले नरेंद्र सिंह तोमर का इस्तीफा होना चाहिए। श्रीनेत ने बताया कि अभी बगल के राज्य छत्तीसगढ़ में अनर्गल आरोप लगाकर एक आदमी की गाड़ी में पैसा रखवाया और उस पैसे को पकड़वाया। उसपर दबाव बनाया और हमारे मुख्यमंत्री जी पर झूठा आरोप लगाकर आपने ईडी भेज दी, तब आपने सीबीआई भेज दी। आज कहां है आपकी ईडी और सीबीआई। श्रीनेत ने कहा कि आज प्रधानमंत्री सभाओं में घूम-घूमकर भ्रष्टाचार की बातें करते हैं। प्रधानमंत्री जी, सबसे बड़ा भ्रष्टाचार आपके मंत्री आपकी नाक के नीचे आपके प्रोत्साहन से कर रहे हैं, जबकि लोग सामने आकर सबूत साझा करने को तैयार हैं। आज सवाल यह है कि सरकार चुप क्यों है? यह चुप्पी संरक्षण है भ्रष्टाचार का। यह तो एक मंत्री के एक लड़के की करतूत है जो 10000 करोड़ की बताई जा रही है। अगर भाजपा इसको भी झूठ बताती है तो आईए सामने और इसमें जांच एजेंसी को शामिल कीजिए। अगर आपको लगता है कि यह झूठ है तो उसको सच साबित कीजिए। वह कैसे साबित होगा जब तक एजेंसी ही शामिल नहीं होगी। मैं यह जानना चाहती हूं कि नरेंद्र मोदी, पूरी की पूरी भाजपा सरकार, गृहमंत्री अमित शाह जिनके बेहद करीबी सिरसा जी का भी नाम आ रहा है वह चुप क्यों बैठे हैं? नरेंद्र सिंह तोमर को अवैध ड्रग्स के केस में, मनी लांडिं्रग के केस में, बेनामी संपत्ति के केस में कौन संरक्षण दे रहा है? यह सवाल आज आपके सामने है और हम यह सवाल आपके सामने लगातार उठाते रहेंगे।

Related posts

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच एसटीएफ ने बांग्लादेश के एक खूंखार अपराधी को खान पुर , दिल्ली से अरेस्ट किया हैं।  

Ajit Sinha

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली के चार सरकारी अस्पतालों का किया औचक निरीक्षण

Ajit Sinha

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने गार्डन ऑफ फाईव सेंसेज, साकेत में 35वें गार्डन टूरिज़्म फेस्टिवल का उद्घाटन किया।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//ewhareey.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x