Athrav – Online News Portal
गुडगाँव व्यापार हरियाणा

निर्यात, मोटा अनाज व रोजगार सृजन को प्रोत्साहन देने पर बजट में देंगे ध्यान – मनोहर लाल


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
चण्डीगढ़: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश के वर्ष 2023-2024 के आम बजट में निर्यात, मोटे अनाज से तैयार होने वाले उत्पादों व रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देने पर ध्यान दिया जाएगा।  निर्यात को बढ़ावा देने से देश में विदेशी मुद्रा आएगी और प्रदेश की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी। उन्होंने यह बात सोमवार को गुरुग्राम के स्वर्ण जयंती लोक निर्माण विश्रामगृह में इंडस्ट्री, मैन्युफैक्चरिंग व सॢवस सेक्टर से संबंधित हितधारकों के साथ वर्ष 2023-24 के आम बजट से पूर्व परामर्श (प्री बजट कंसल्टेशन) चर्चा को संबोधित करते हुए कही।मनोहर लाल ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय मिलेट ईयर-मोटा अनाज वर्ष 2023 को देखते हुए आगामी बजट में खाद्य प्रसंस्करण से जुड़ी उन इकाइयों को भी बढ़ावा दिया जाएगा जोकि मोटे अनाज से अपने उत्पाद तैयार करेंगी। प्रदेश के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत बनाने पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा। अच्छा इंफ्रास्ट्रक्चर होने से राज्य में निवेश को बढ़ावा मिलेगा और नई औद्योगिक इकाइयां भी स्थापित होंगी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का उद्देश्य है कि अधिक से अधिक रोजगार के अवसर पैदा हों तथा ढांचागत सुविधाओं का तेजी से विकास हो।मुख्यमंत्री ने प्री बजट कंसल्टेशन में विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों द्वारा रखे गए सुझावों को ध्यानपूर्वक सुना और आश्वस्त करते हुए कहा कि राज्य की प्रगति के लिए आप सभी के अच्छे सुझावों को बजट में शामिल करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने वैट एरियर्स को लेकर रखे गए सुझाव पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने का भी प्रतिनिधियों का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधियों को राज्य की वित्तीय स्थिति को लेकर जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा की अर्थव्यवस्था बेहद मजबूत है। वर्तमान समय में राज्य पर किसी प्रकार के अतिरिक्त कर्ज का कोई बोझ नहीं है। हरियाणा ने ऋण के लिए निर्धारित कुल जीडीपी के 25 फीसदी की सीमा के दायरे के भीतर रहते हुए अपनी अर्थव्यवस्था को बढ़ाया है। जबकि देश के कई राज्य इस सीमा को पार कर चुके हैं।उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आनंद मोहन शरण ने कहा कि प्रदेश में वर्ष 2023-24 का आम बजट तैयार होना है, उससे पहले कंसल्टेशन बैठकें करने की परंपरा मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आरंभ की है। इस कड़ी में आज उद्योगों के प्रतिनिधियों के साथ यह बैठक रखी गई क्योकि अर्थव्यवस्था में उद्योगों की अहम भूमिका होती है।  इंडस्ट्री, मैन्युफैक्चरिंग व सर्विस सेक्टर के प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री को आगामी बजट के लिए अपने सुझाव दिए और अपनी प्रेजेंटेशन की प्रति भी भेंट की।इस अवसर पर हरियाणा में वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अनुराग रस्तोगी, एचएसआईआईडीसी के प्रबंध निदेशक विकास गुप्ता, चीफ कोऑर्डिनेटर सुनील शर्मा, विदेश सहयोग विभाग के कंसल्टेंट पवन चौधरी, डीसी निशांत कुमार यादव सहित सीआईआई, फिक्की, नैसकॉम, मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड, पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री, एसोचैम, जीआईए गुरुग्राम, आईएमटी मानेसर एसोसिएशन, फरीदाबाद इंडस्ट्रीज एसोसिएशन, हरियाणा राइस एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन, बहादुरगढ़ चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री, टैक्सटाइल एसोसिएशन सहित राज्य में कार्यरत विभिन्न औद्योगिक संगठनों के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे।

Related posts

संगीत सिर्फ हमारे मनोरंजन का साधन ही नहीं बल्कि साहस, एकाग्रता एवं करुणा जैसे गुणों का विकास भी करता है- बंडारू दत्तात्रेय

Ajit Sinha

चंडीगढ़ ब्रेकिंग: प्रदेश पुलिस ने 35 बड़े ड्रग तस्करों के ख़िलाफ़ की प्रिवेंटिव डिटेंशन की कार्रवाई

Ajit Sinha

चंडीगढ़ ब्रेकिंग : दो बाइक सवार युवकों को 9990 नशीली गोलियों सहित किया अरेस्ट।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//othoojoph.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x