Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद

फरीदाबाद: ग्रेटर फरीदाबाद, पार्क इलीट फ़्लोर, सेक्टर 84 बना लुटेरों का अड्डा, “डे लाइट” चोरों का आतंक, “वीक- डे” में करते हैं चोरी।


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
फरीदाबाद : ग्रेटर फरीदाबाद, पार्क इलीट फ़्लोर, सेक्टर 84, एल ब्लॉक में आए दिन सोसाइटी में “डे लाइट” चोरी की संख्या बढ़ते जा रही है, पिछले महीने 8 जून, 2018 को धोबी के कपडे लेकर पार्क इलीट फ्लोर्स में चोर आए थे और दिन दहाड़े 1.25 लाख रूपए घर का मेंन गेट तोड़ कर ले गए थे, भूपानी थाना ने जोश में एफआईआर भी कर दी थी, लेकिन इस “डे लाइट” चोर के गिरोह का कोई पता नहीं लग पाया था. ये उन्ही घरों को निशाना बनाते हैं, जहाँ इन्हे पता होता है कि घर में दिन में कोई नहीं रहता है.इस मामले में डीसीपी सेंट्रल लोकेंद्र सिंह व भूपानी थाने के एसएचओ से बातचीत करने की कोशिश की पर उन्होनें अपना फोन नहीं उठाया। इस कारण से सोसायटी के अंदर फ्लैटों में दिनदहाड़े हुई चोरी,की कार्रवाई हुई भी हैं या नहीं इस बात का पता नहीं चल सका हैं। पुलिस का ढीलाढाला रवैया हैं सुरक्षित स्थानों पर भी लोग लूटने को मजबूर हैं।

अभी पुरानी घटना को दो महीने भी नहीं हुए थे की उसी सोसाइटी ( पार्क इलीट फ्लोर्स L ब्लॉक) में “डे लाइट” चोरों ने फिर से दो घटनाओं को अंजाम दिया। सबसे आश्चर्यजनक बात ये हैं कि इनमें से एक घटना L- 20 की है, जिनका घर गार्ड रूम के बिलकुल लगा हुआ है। घर के मालिक रामेन्द्र सूंदर बनर्जी (51) बताते हैं “लोग कहते थे कि मेरा घर सबसे सुरक्षित हैं, क्योंकि गार्ड रूम मेरे बगल में हैं और इस लिए मैं निश्चिन्त भी रहता था, दिन- दोपहर- रात में हमेशा 2 -3 गार्ड तो रहते ही हैं” . वो प्राइवेट नौकरी के सिलसिले में ग्रेटर नॉएडा सुबह साढ़े सात बजे निकलते हैं और देर रात आते हैं. उनकी पत्नीं भी फरीदाबाद के एक एक्सपोर्ट हाउस में काम करती हैं और शाम में 6:45 के आसपास ही आ पाती हैं, चोर ने मेन गेट को तोडा और बिना आस पास के पड़ोसियों और गॉर्ड रूम को सतर्क किए निकल गया।
चोर हर रूम में पंखे और लाइट चला कर छोड़ गया और ऊँची ऊँची अलमारियों को खोल कर कुल एक लाख के जेवर और 28 ,000 रूपए कैश के अलावा कुछ भी नहीं लिया। उसी लाइन में नौ घर छोड़ कर L – 10 है जो “डे लाइट” चोरों का दूसरा निशाना बना, घर से 10-12 तोला सोना, डेढ़ किलो चाँदी और पचास हज़ार रूपए नगद की चोरी होने की बात बताई गई, घर के मालिक नौकरी के लिए ओखला जाते हैं और प्रायः उनकी पत्नी घर पर रहती हैं, लेकिन किसी परिवारिक काम से घर पर नहीं थी, बेटा सुबह दस बजे निकला था और पांच बजे जब वो आया तो घर में चोरी हो चुकी थी, गृहस्वामी – सिंह बताते हैं “मैं फरीदाबाद में पिछले बीस साल से SGM कॉलोनी में रहता था, जहाँ एक सुई भी नहीं चोरी हुई थी मेरी , 2017 अप्रैल में यहाँ शिफ्ट हुआ और आज मुझे यहाँ शिफ्ट होने का बहुत पछतावा हो रहा है ”.
गौरतलब हैं कि सोसाइटी के मेंटेनेंस (जिसमे सेक्टोरिटी जुडी है), के लिए हर महीने 2 ,500 प्रति फ्लैट लगते हैं,जो ये दोनो मकान मालिक़ बिना नागा भरते रहे हैं, मैंटेनस कंपनी BPMS के ढीले रवैये से परेशान होकर कुछ लोगों ने मेंटेनेंस भी देनी बंद कर दी है, पर इसके बाद भी कंपनी के कान में जू नहीं रेंगती। पिछले चोरी के बाद आरडब्लूए ने घर पर चौका बर्तन का काम करने वालों और बाकी वेंडर के लिए आइडेंटिटी कार्ड बनाई थी, पर इन दोनों वारदातों में चोरी होने वाले दोनों घरों में पिछले छह महीनों से कोई चूल्हा चौका करने वाली काम वाली नहीं आई थी, पुलिस को ये पता लगाना मुश्किल होगा की आखिर किसने इन चोरों को जानकारी दी। खैर, रेजिडेंट और पुलिस आस पास के CCTV खंगालने में लगी हुई है.जैसे ही हमें चोर के इस गिरोह के बारे में पता चलेगा, हम आपको सूचना देंगे।

Related posts

चंडीगढ़ ब्रेकिंग: अपराधी खोज प्रणाली के तहत अब तक लगभग एक करोड़ अपराधियों की हो चुकी सर्चिंग- डीजीपी शत्रुजीत कपूर

Ajit Sinha

फरीदाबाद: विकास से अछूता नहीं रहेगा तिगांव विधानसभा का कोई क्षेत्र – राजेश नागर

Ajit Sinha

नगर निगम में अब एडवर्टाइजमेंट विभाग में करोड़ों का घोटाला : वरुण श्योकंद

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//psaurdard.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x