Athrav – Online News Portal
अपराध फरीदाबाद

30 नए वर्कस्टेशनों के साथ साइबर सुरक्षा हुई और अधिक प्रभावी, डीजीपी ने हरियाणा 112 की बिल्डिंग में किया विधिवत शुभारंभ


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
चंडीगढ़: साइबर सुरक्षा को मजबूत करने और साइबर अपराध के बढ़ते खतरे से निपटने को लेकर आज पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर ने 30 नए वर्क स्टेशनों का हरियाणा 112 के कार्यालय में विधिवत शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि इस पहल का उद्देश्य न केवल साइबर अपराध के मामलों से निपटने की दक्षता बढ़ाना है बल्कि विभिन्न एजेंसियों और हितधारकों के बीच सहयोग को बढ़ावा देना भी है।इस दौरान उन्होंने मौके पर उपस्थित अधिकारियों के साथ साइबर अपराध संबंधी चुनौतियों पर विस्तार से चर्चा की। इस बैठक में पुलिस विभाग के कई वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया और साइबर अपराध के खतरे से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए मिलकर काम करने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराई।

 इस दौरान बताया गया कि हाल ही में मुख्य रूप से पश्चिम बंगाल, राजस्थान, मेवात और उनके आसपास के क्षेत्रों से हरियाणा में होने वाले साइबर हमलों में चिंताजनक वृद्धि देखी गई है जिसके संबंध में साइबर अपराध से निपटने के प्रयासों को मजबूत करने के लिए एक समर्पित टीम अलग अलग राज्यों में भेजने के बारे में निर्णय लिया गया। यह टीम स्थानीय अधिकारियों और साइबर अपराध इकाइयों के साथ निकट समन्वय में काम करेगी। बैठक में पुलिस महानिदेशक कपूर ने कहा कि हमारा प्रयास है कि साइबर फ्रॉड से आमजन को होने वाले आर्थिक नुकसान को रोका जाए। उन्होंने कहा कि धोखाधड़ी से लोगों के पैसों को तुरंत ब्लॉक करने के लिए साइबर सुरक्षा की टीम के साथ बैंककर्मी भी यहां बैठेंगे ताकि लाइव साइबर अपराध के मामलों पर तत्परता से कार्यवाही करते हुए उन्हें बचाने के लिए एक जुटता से किया जा सके। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जिला अपने अधिकार क्षेत्र में साइबर अपराध की गंभीरता को समझें और सक्रिय दृष्टिकोण अपनाते हुए काम करें। उन्होंने बताया कि पुलिस विभाग के संज्ञान में आया है कि साइबर अपराधियों द्वारा ग्राहकों की केवाईसी का गलत तरीके से इस्तेमाल करते हुए फर्जी बैंक खाते खोले जाते हैं। ऐसे में उन सभी तथ्यों का गंभीरता से अध्ययन किया जाना जरूरी है जिनके चलते साइबर अपराधी फ्रॉड करते हैं। साइबर अपराध के खिलाफ लड़ाई में इसकी प्रभावशीलता सुनिश्चित करने के लिए बैंको के साथ ओर बेहतर समन्वय स्थापित किया जाएगा।  इसी कड़ी में बैंको को ग्राहक सत्यापन और पहचान सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया जा रहा है । बैठक में बताया गया कि टेलीकॉम कंपनियांे को संदिग्ध फोन नंबरों और फोन नंबरों के तेजी से बदलाव पर कड़ी नजर रखने के लिए कहा गया है और टेलीकॉम कंपनियों द्वारा भी आष्वस्त किया गया है कि साइबर अपराधियों द्वारा मोबाइल नंबर के दुरुपयोग को रोकने के लिए हर संभव मदद की जाएगी। कपूर ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि वे सतर्क रहें और अपने मोबाइल फोन पर आने वाले किसी भी संदिग्ध लिंक को ओपन ना करें। इसके अलावा, लोग अपने बैंक खाता संबंधी निजी जानकारी भी किसी के साथ सांझा ना करें। व्यक्ति की जरा सी लापरवाही उन्हें साइबर फ्रॉड का शिकार बना  सकती है। इस दौरान उनके साथ एडीजीपी साइबर ओ पी सिंह, एडीजीपी क्राइम अजय सिंघल, एडीजीपी आईटी अरशिन्दर चावला, पुलिस आयुक्त सिबास कविराज, एसपी ईआरएसएस-1 नुपूर , एसपी ईआरएसएस-2 राजेश कालिया, एसपी साइबर अमित दहिया सहित कई अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।
 

Related posts

फरीदाबाद: सीपी विकास अरोड़ा ने कई थाने के एसएचओ और क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टरों को इधर से उधर किए हैं -लिस्ट पढ़े

Ajit Sinha

फरीदाबाद : पियूष ग्रुप के अनिल गोयल,अमित गोयल व पुनीत गोयल के खिलाफ भूपानी थाना में धोखधड़ी, विश्वासघात, जान से मारने की धमकी का केस दर्ज।

Ajit Sinha

फरीदाबाद: तिगांव से भाजपा विधायक राजेश नागर ने विधान सभा में उठाई जनता की आवाज, ग्रेटर फरीदाबाद को मिले अलग बजट

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//vaikijie.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x