Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद

मुख्यमंत्री उड़नदस्ता, फरीदाबाद द्वारा HSDM के तहत चलने वाले 2 ट्रेनिंग सेंटरों पर मारा छापा


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
फरीदाबाद:हरियाणा कौशल विकास मिशन,सूर्या स्कीम के तहत हरियाणा राज्य के युवाओं को रोजगार एंव स्वंरोजगार के अवसर दिलाने के लिए प्रशिक्षण केन्द्र खोले गए है। जहां पर सरकार द्वारा प्रदत्त आर्थिक मदद से बच्चों को अलग-अलग कोर्स के लिए ट्रेनिंग दी जाती है लेकिन उन केंद्रों पर ना तो कोई स्टाफ हाजिर होता है ना ही छात्र हाजिर आते हैं और ना ही अध्यापक। केंद्र संचालकों द्वारा इस योजना का दुरुपयोग किया जा रहा है,में मुख्यमंत्री उड़न दस्ता , फरीदाबाद की टीम ने छापेमारी की कार्रवाई की गई , जिसमें काफी खामियां मिली हैं , पर अब सम्बंधित विभाग सख्त कार्रवाई कर रही हैं।

डीएसपी राजेश चेची ने आज जानकारी देते हुए बताया कि कल शुक्रवार को मुख्यमंत्री उड़न दस्ता, फरीदाबाद को गुप्त सूचना प्राप्त हुआ कि हरियाणा कौशल विकास मिशन, सूर्या स्कीम के तहत हरियाणा राज्य के युवाओं को रोजगार एंव स्वं रोजगार के अवसर दिलाने के लिए प्रशिक्षण केन्द्र खोले गए है। जहां पर सरकार द्वारा प्रदत्त आर्थिक मदद से बच्चों को अलग-अलग कोर्स के लिए ट्रेनिंग दी जाती है लेकिन उन केंद्रों पर ना तो कोई स्टाफ हाजिर होता है ना ही छात्र हाजिर आते हैं और ना ही अध्यापक। केंद्र संचालकों द्वारा इस योजना का दुरुपयोग किया जा रहा है। यदि संबंधित विभाग के अधिकारियों के साथ इन केंद्रों की अचानक चेकिंग की जाए तो सच्चाई सामने आ सकती हैं। इस सूचना के आधार पर जीवन नगर गौच्छी व सीकरी बल्लबगढ में चल रहे दो अलग-अलग केद्रों का संयुक्त टीम द्वारा औचक निरीक्षण किया गया। हरीश यादव क्वालिटी कंट्रोल इंस्पेक्टर कृषि विभाग फरीदाबाद एवं ड्यूटी मैजिस्ट्रेट व सतबबीर उप निरीक्षक मुख्यमंत्री उड़नदस्ता, फरीदाबाद की संयुक्त टीम द्वारा एडूजॉइन ट्रेनिंग फाउंडेशन जीवन नगर गोछी सोहना रोड का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि सोहना रोड से गांव गोछि को जाने वाले रास्ते पर दाहिने तरफ अग्रवाल मेडिकल सेंटर के प्रथम तल व द्वितीय तल पर बने कमरों में HSDM के तहत एडज्वाइंट ट्रेनिंग फाउंडेशन सेन्टर चलाया जा रहा था। मौका पर की गई पूछताछ अनुसार इस सेंटर के संचालक जितेंद्र शर्मा निवासी सोनीपत है। लेकिन मौका पर पहली व दूसरी मंजिल पर चल रहे सेंटर में कोई भी अध्यापक संचालक व छात्र/छात्रा हाजिर नहीं मिले। पूछताछ पर ज्ञात हुआ कि ट्रेनिंग लेने वाले छात्र व अध्यापक यहाँ कभी कभार ही आते हैं। निरीक्षण के समय कोई भी व्यक्ति हाजिर ना होने के कारण कोई जानकारी व रिकार्ड नहीं मिल सका। जिस संबंध में उपायुक्त फरीदाबाद से इस प्रकार के सेंटर की चेकिंग करने व अनियमितताओं के संबंध में कार्रवाई  करने में अधीकृत प्रोजेक्ट मैनेजर श्रीमती नेहा रानी को सूचित किया गया व संयुक्त टीम द्वारा उनके साथ औचक निरीक्षण प्रकिया पूरी की। श्रीमती नेहा ने इस केंद्र के ऑनलाईन रिकार्ड को चेक किया व बताया कि यहां पर रिकार्ड अनुसार 2 कोर्स चलाए  जाते हैं व उनकी अलग अलग क्लासेज चलती है तथा 233 बच्चों को ट्रेनिग दी जाती है। लेकिन मौका पर किसी भी क्लास के बच्चे हाजिर नहीं मिले। कोर्स के लिए लैब बनाई हुई मिली, लेकिन लैब में नियमानुसार पूरा सामान नहीं मिला। दूसरी टीम द्वारा राजेंद्र कुमार उप निरीक्षक, महेंद्र कुमार सहायक उप निरीक्षक व सतीश कुमार ईएसआई मुख्यमंत्री उड़नदस्ता फरीदाबाद द्वारा भूषण कुमार म्ज्व् कराधान विभाग फरीदाबाद एवं ड्यूटी मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में श्रीमती नेहा रानी प्रोजेक्ट मैनेजर HSDM, फरीदाबाद व ओमप्रकाश ग्रुप इंस्ट्रक्टर, तकनीकी प्रशिक्षण संस्थान एनआईटी फरीदाबाद की संयुक्त टीम द्वारा सेंटम लर्निंग स्किल सेंटर अंकित प्लाजा, एस. बी. आई. बैंक के ऊपर, सीकरी फरीदाबाद का औचक निरीक्षण किया गया। औचक निरीक्षण के दौरान श्रीमती दीक्षा संचालिका सेंटम  लर्निंग केंद्र मौका पर उपस्थित मिली। निरीक्षण के दौरान इस केंद्र पर रिकार्ड अनुसार कुल 270 प्रशिक्षु होने चाहिए थे लेकिन मौका पर 114 हाजिर मिलें। अध्यापक 5 होने चाहिए थे लेकिन निरीक्षण पर केवल 3 ही हाजिर मिलें। प्रशिक्षण केंद्र में सीसीटीवी कैमरे सही अवस्था में मिले पर कुछ अन्य कमियां भी सामने आई। उपरोक्त दोनों केन्द्र पर की गई चेकिंग के दौरान पाई गई अनियमित्ताओं बारे श्रीमती नेहा रानी प्रोजेक्ट मैनेजर द्वारा अलग से रिपोर्ट तैयार की है तथा रिपोर्ट से उच्च अधिकारियों को अवगत कराने उपरांत नियमानुसार कार्रवाई  की जाएगी। इस मामले में यह भी ज्ञात हुआ कि एक प्रशिक्षु को एक घंटे की ट्रेनिंग देने के लिए सरकार से केंद्र संचालक को 40 से 50 रूपये दिए  जाते है। जिनमें कुछ कोर्स 400 से 600 घंटे तक के होते है तथा एक केंद्र में करीब 250 प्रशिक्षु ट्रेनिंग लेते हैं लेकिन अधिकतर केंद्र संचालक ज्यादा प्रशिुक्ष दिखाकर तथा ट्रेनिंग देने के नाम पर सरकार से पैसे लेकर अनुचित लाभ कमा रहे है। जिनके खिलाफ संबधित विभाग द्वारा नियमानुसार कार्रवाई  की जा रही है जी।

Related posts

मेरा कचरा मेरी जिम्मेदारी, हर आदमी अपना कचरा उठाने की जिम्मेदारी अगर स्वयं ले तो शहर स्वच्छ हो जाएगा: मूलचंद शर्मा 

Ajit Sinha

जजपा के व्यापार प्रकोष्ठ के कई पदाधिकारियों ने आज भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया।

Ajit Sinha

जे.सी. बोस विश्वविद्यालय में बीटेक दाखिले के लिए ओपन काउंसलिंग 13 अक्टूबर को

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//roapsoogaiz.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x