Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली राजनीतिक राष्ट्रीय वीडियो

2000 नोट का मामला: बंद नहीं हो रहे हैं, पर एक्‍सचेंज करा लीजिए, एक्सचेंज कराना अच्छा रहेगा-लाइव वीडियो सुने 


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली: कांग्रेस प्रवक्ता प्रो० गौरव वल्‍लभ ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि रात 8 बजे की घोषणाएं, शाम 7 बजे की घोषणाएं, देश का और अर्थव्यवस्था का पीछा नहीं छोड़ रहीं। करंसी नोट कोई घर से लेकर निकलता है, तो ये सोचकर निकलता है कि शाम तक इसको कंज्यूम कर लूं, क्या पता शाम तक इसकी वैल्यू रहेगी, या नहीं रहेगी। दो हजार का गुलाबी नोट, जिसको आपने और मैंने शायद एक साल, डेढ़ साल पहले देखा होगा पर सरकार के आंकड़ों के अनुसार 181 करोड़ ऐसे नोट अभी भी अर्थव्यवस्था में मौजूद हैं, जिनकी वैल्यू लगभग 3,62,000 करोड़ रुपए है। ये किनके पास हैं? हमने पहले भी इस मुद्दे पर बात की थी कि नोट आपने नहीं देखा, मैंने नहीं देखा, अगर हम बैंक में जाते हैं, तो बैंक मैनेजर बोलता है कि मैंने भी नहीं देखा सर, आपको कहाँ से दूँ, मैं? तो किनके पास था वो नोट? हमने बार-बार ये प्रश्‍न पूछा है। अब इस बार 20 तारीख से ये घोषणा की गई कि आप जाकर उसको एक्‍सचेंज करवा लीजिए, 30 सितंबर तक एक्‍सचेंज करवा लीजिए, एक नोट दो या तो पांच सौ के चार नोट ले आओ या सौ-सौ के 20 नोट ले आओ या 50 के चालीस नोट ले आओ और बोला 30 सितंबर के बाद भी ये बंद नहीं हो रहे हैं पर एक्‍सचेंज करवा लीजिए, पता नहीं क्‍या मंत्र ये है।

बंद नहीं हो रहे हैं, पर एक्‍सचेंज करा लीजिए, एक्‍सचेंज कराना अच्‍छा रहेगा और इस बार घोषणा ने टीवी पर आकर नहीं की, इस बार रिजर्व बैंक का सर्कुलर आया। आपको याद होगा, जब आजाद हिन्‍दुस्‍तान की सबसे बड़ी लूट हुई थी, तब फायनांस मिनिस्‍ट्री का सर्कुलर था, पर इस बार फायनांस मिनिस्‍ट्री का सर्कुलर नहीं था, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का सर्कुलर था। अब हम कुछ बातें लेकर आए हैं और सरकार से इन पांच बातों का हम जवाब चाहते हैं कि रिजर्व बैंक ने एक स्‍पष्‍टीकरण दिया कि एक बार में जाओ, 10 नोट चेंज कराकर वापस बाहर आ जाओ, दिन भर में अगर 20 बार जाना चाहते हो तो 20 बार चले जाओ, 40 बार जाना चाहते हो तो 40 बार, वैसे 40 बार जा नहीं सकते हो, क्‍योंकि लंबी लाईन भी है, दिन भर करोगे तो 5-6 बार ये काम हो सकता है, पर आपसे कोई कुछ नहीं पूछेगा, ये नोट किसका है, ये नोट कहां से मिला, आपकी इंकम टैक्‍स, पैन कार्ड नंबर क्‍या है, आपका आधार कार्ड नंबर, नहीं वो नहीं पूछेंगे, इंकम टैक्‍स रिटर्न अगर भरना है तो उसको आधार से लिंक करवाना पड़ेगा, पर अगर इन 10 नोट को जितनी बार जाकर आना है 30 सितंबर तक कोई कुछ नहीं पूछेगा।ये ब्‍लैक मनी को फैसिलि‍टेट किया जा रहा है कि ब्‍लैक मनी के लिए एक विंडो खोली गई है कि इस विंडो में जो आएगा, वो 10 नोट लेकर आए, दिन भर में 20 चक्‍कर लगा ले, 10 चक्‍कर लगा ले, 5 चक्‍कर लगा ले,30 सितंबर तक जितने नोट लाना है लाइए, हम आपसे नहीं पूछेंगे कि आप कौन हो, आपका नाम क्‍या है, आपका पता क्‍या है, आपका पैन कार्ड नंबर क्‍या है, आपकी आय का स्त्रोत क्‍या है, आपने पिछले साल कितना इंकम शो किया या नहीं पूछेंगे। तो जो डॉ. मनमोहन सिंह ने कहा था कि Demonetization is the greatest organized loot of independent India आज आप 2,000 के एक्‍सचेंज को आपने एक छूट दे दी, कोई कुछ नहीं पूछा जाएगा, ये तो वैसी बात हो गई कि रॉयल वेलकम किया जा रहा है ब्‍लैक मनी के कीपर्स को, ये 2,000 का एक्‍सचेंज प्रोग्राम नहीं है, This is a royal welcome to the keepers of Black money. Point no. 1.Point no. 2. थोड़ा बहुत जो एक 2,000 रुपए का नोट किनके पास मिलेगा – 6 करोड़ एमएसएमई के पास, क्‍योंकि उनकी वर्किंग कैपिटल है, वो कैश बेस्ड इकोनॉमी में काम करते हैं, उनका रोजमर्रा का सामान खरीदने के लिए, माल खरीदने के लिए। किनके पास मिलेगा, 1 या 2-3 नोट मिल सकते हैं, 6 करोड़ एमएसएमई ऑनर्स जो कि देश के हैं उनके पास मिल सकते हैं 2-4 नोट 11 करोड़ किसान के पास मिल सकता है, क्‍योंकि वो फसल बेचकर आया, उसको 2-3 नोट दे दिए, वो अपने घर में उसको लेकर बैठा है। अब 11 करोड़ देश के किसान और 6 करोड़ एमएसएमई के जो ऑनर्स हैं, वो वापस 42 डिग्री के टैम्‍प्रेचर में बैंकों के ऊपर लाइन लगा लो। ,साहब गए 14 डिग्री के टैम्‍प्रेचर वाले सिडनी में और 6 करोड़ एमएसएमई उद्यमी को और 11 करोड़ किसानों को 44 डिग्री, 42 डिग्री

Related posts

दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर के लिए आधुनिक ट्रेनों का उत्पादन एनसीआरटीसी ने गुजरात में शुरू किया।

Ajit Sinha

मधुसूदन मिस्त्री, अध्यक्ष, केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण, एआईसीसी ने आज मीडिया को संबोधित करते हुए क्या कहा-वीडियो सुने

Ajit Sinha

दिल्ली के अल्पसंख्यक विभाग और महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों की नियुक्ति की गई हैं।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//geejetag.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x