Athrav – Online News Portal
अपराध दिल्ली

मेरे क्षेत्र में चल फिर मैं तुम्हें बताऊंगा, ये चैलेंज दोनों दोनों आरोपितों ने स्वीकार किया,उसकी आरोपितों ने हत्या कर दी-अरेस्ट।


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली:थाना रंजीत नगर में रास्ता देने को लेकर हुए झगडे में एक शख्स को ये धमकी देना उस देने जीवन पर भारी पड़ गया,जब उसने ये कहा मेरे क्षेत्र में चल फिर मैं तुम्हें बताऊंगा, ये चैलेंज दोनों आरोपितों ने स्वीकार किया और उसी स्कूटी पर सवार होकर उसके इलाके के लिए चल दिए, जैसे ही उसका इलाका नजदीक आने वाला था , दोनों लड़कों ने स्कूटी चला रहे शख्स पीछे से जकड़ लिया। और तीनों स्कूटी से नीचे गिर गए , स्कूटी चला रहे शख्स को दोनों लड़कों ने संभलने ने दिया , लात घूसों से उसे उस समय तक मारते रहे,जब तक वह मर नहीं गया। अब दोनों आरोपित पुलिस के गिरफ्त में हैं। ये सनसनीखेज खुलासा डीसीपी सेंट्रल संजय कुमार सेन ने की हैं।

डीसीपी सेंट्रल संजय कुमार सैन ने जानकारी देते हुए बताया कि गत 22 -23 अप्रैल 2023  की दरम्यानी रात करीब 11 बजे दिल्ली के थाना रंजीत नगर में एक लड़के पर हमले के संबंध में एक पीसीआर कॉल प्राप्त हुई। तत्काल एसएचओ थाना रणजीत नगर अपने कर्मचारियों के साथ मौके पर पहुंचे तो पाया कि मेट्रो पिलर नंबर- 210 के पास दुकान नंबर -2633 शादीपुर मेन बाजार के पास एक होंडा एक्टिवा नंबर -डीएल 10 एए 2204 स्कूटी खड़ी मिली है। सड़क पर खून के धब्बे भी मिले हैं। और मौके पर कुछ लोग जमा हो गए थे। पीसीआर कॉल करने वाला व्यक्ति भीड़ में से निकलकर आया और बताया कि एक लड़का घायल पड़ा मिला है और उसे सरदार वल्लभ भाई अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां डॉक्टरों ने घायल को मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों ने मृतक का मोबाइल फोन जांच अधिकारी व सब इंस्पेक्टर विनय सांगवान  को सौंप दिया।  मृतक के मोबाइल फोन पर उसकी पत्नी द्वारा किए गए फोन कॉल से मृतक की पहचान पंकज ठाकुर पुत्र स्वर्गीय अनिल ठाकुर निवासी वेस्ट पटेल नगर दिल्ली के रूप में स्थापित हुई। उनका कहना हैं कि एक चश्मदीद इलाके में ढाबा चलाता था और उसने घटना देखी थी। उन्होंने बताया कि मृतक को उस स्कूटी पर दो लड़कों के साथ देखा गया था और बाद में पीछे बैठे लोगों (दो लड़कों) को मृतक की पिटाई करते देखा गया। सीन ऑफ क्राइम और लिफ्टिंग के निरीक्षण के लिए फॉरेंसिक टीम और क्राइम टीम को बुलाया गया। चश्मदीद गवाह के बयान के आधार पर अपराध स्थल के निरीक्षण पर मुकदमा नंबर – 286/23, दिनांक 23.04.23, आईपीसी की धारा 302/34 के तहत मामला दर्ज किया गया और जांच शुरू की गई 

टीम
उनका कहना हैं कि जैसा कि, यह एक सनसनीखेज अपराध था और एक निर्दोष व्यक्ति की हत्या कर दी गई थी, इसलिए, पीएस रंजीत नगर, मध्य जिले की एक समर्पित टीम जिसमें इंस्पेक्टर रविंदर डागर, इंस्पेक्टर/जांच, एसआई विनय सांगवान, एचसी रविंदर नंबर 1767/सी, एचसी  नरेंद्र नंबर 1762/सी, एचसी महेश नंबर 1899/सी, एचसी धीरज, नंबर 982/सी, एचसी रवि दत्त नंबर 1842/सी, कांस्टेबल रोहित नंबर 1204/सी, कांस्टेबल  चांद नंबर 2082/सी, हेड इंस्पेक्टर  अरुण देव नेहरा, एसएचओ रंजीत नगर दीपक चंद्र, एसीपी पटेल नगर की देखरेख में एक विशेष टीम गठित किया गया था

जाँच पड़ताल:
उनका कहना हैं कि समर्पित टीम ने मामले को सुलझाने की चुनौती ली, तदनुसार शादीपुर, शादी खामपुर क्षेत्र में स्थापित सभी सीसीटीवी कैमरों और पटेल रोड पर कैमरों के प्रासंगिक समय के फुटेज का विश्लेषण किया गया ताकि मृतक और हमलावरों के आंदोलन से निपटने के लिए विश्लेषण किया जा सके। रात में ही सारे गुप्तचर सक्रिय हो गए। सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि मृतक व दोनों हमलावर घटना से ठीक पहले मृतक की स्कूटी पर सवार थे, मृतक स्कूटी चला रहा था, जबकि दोनों हमलावर पिछली सीट पर सवार थे. टीम के ठोस प्रयासों का नतीजा निकला और दोनों हमलावरों की पहचान कर ली गई क्योंकि दोनों रणजीत नगर इलाके के रहने वाले थे। टीम ने आरोपियों को पकड़ने के लिए कई बार छापेमारी की और आखिरकार उन्हें पकड़ने में सफलता मिली.
गिरफ्तार व्यक्तियों का विवरण:
(1) मनीष पुत्र फूल देव पासवान निवासी शादी खामपुर दिल्ली, उम्र 19 वर्ष अपने माता-पिता के साथ उपरोक्त पते पर रहता है। मनीष का एक बड़ा भाई है। मनीष शिव चौक रंजीत नगर में परांठे की दुकान पर काम करता है। उनका स्थायी पता ग्राम कानोखर थाना-मणिगद्दी, जिला-दरभंगा, बिहार है। वह 8वीं तक पढ़ा है। नाबालिग होने के दौरान उसकी पिछली दो आपराधिक संलिप्तताएं हैं।
 केस  एफआईआर नंबर 48/21, दिनांक 20.02.2021, धारा 354-ए, 366-ए, 376 आईपीसी एंव  4, 8 पॉक्सो एक्ट, थाना रणजीत नगर, दिल्ली।
 केस एफआईआर नंबर एफआईआर नंबर 143/21, दिनांक 19.06.2021, धारा 326/307/34 आईपीसी एंव  25/27/54 आर्म्स एक्ट, पीएस रंजीत नगर, दिल्ली।
(2) लालचंद उर्फ गोलू पुत्र पारस राम निवासी मुख्य बाजार शादीपुर दिल्ली, उम्र 20 वर्ष उपरोक्त पते पर अपने माता-पिता और भाई-बहनों के साथ रहता है। उनका स्थायी पता ग्राम लकड़ा जिला- गोरखपुर यूपी है। उनके पिता सचदेवा पकौड़े वाली दुकान, शादीपुर दिल्ली में काम करते हैं। उनके तीन भाई और दो बहनें हैं। लालचंद उर्फ गोलू एक कूलर मोटर पैकिंग कंपनी में मजदूर के रूप में काम करता है और उसका पहले से कोई आपराधिक संलिप्तता नहीं है।
पूछताछ
उनका कहना हैं कि पूछताछ के दौरान, दोनों आरोपियों ने अलग-अलग खुलासा किया कि दोनों गत 22 अप्रैल 20 23 को लगभग 2.30 बजे रोहिणी, आरोपी गोलू की बड़ी बहन के घर गए थे। रात करीब 10.30 बजे ओला कैब से वापस शादीपुर आए और मनीष के घर के पास वाली गली में कैब ली। जब वे कैब से उतरे तो मृतक उसी गली में अपनी स्कूटी पर बैठा था, उन्होंने उसे दूर जाने और टैक्सी को रास्ता देने के लिए कहा। इसी बात को लेकर दोनों ने मृतक के साथ मारपीट की। जब टैक्सी चली गई, तो उन दोनों ने फिर से खुद को क्षेत्र का दादा घोषित करते हुए मृतक को चुनौती दी। मृतक ने क्षेत्र में अपना प्रभाव देखने के लिए उन्हें पटेल नगर आने का आव्हान किया। दोनों ने उसकी चुनौती स्वीकार कर ली और पटेल नगर जाने के लिए मृतक की स्कूटी पर सवार हो गए। पटेल नगर जाते समय दोनों ने पटेल नगर पहुंचने से पहले मृतक को पीटने की साजिश रची। तदनुसार, उन्होंने घटना स्थल पर मृतक को पीछे से पकड़ लिया और तीनों स्कूटी सहित सड़क पर गिर पड़े। मृतक के सिर में चोट आई और दोनों आरोपियों ने उसे उठने का मौका दिए बिना उसके चेहरे, सिर, गर्दन और शरीर के अन्य हिस्सों पर लात-घूसों से मारना शुरू कर दिया। दोनों ने मारपीट कर मृतक को तब तक पीटा जब तक उसकी मौत नहीं हो गई।
आगे की जांच चल रही है।

Related posts

एसटीएफ और पुलिस के जॉइंट ऑपरेशन में बावरिया गिरोह का दो लाख रूपए का इनामी डकैत अजय कालिया मारा गया,एक फरार

Ajit Sinha

अपराध शाखा -3 ने  ज्वैलर्स की घर से 70 लाख नकदी व लाखों के गहने चोरी करने के मामले 3 महिलाएं सहित 5 को धर दबोचा 

Ajit Sinha

हरियाणा पुलिस द्वारा प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाए रखने व आमजन की सुरक्षा को लेकर व्यापक स्तर पर इंतजाम किए गए हैं।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//tauphaub.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x