Athrav – Online News Portal
अपराध दिल्ली नई दिल्ली

तिहाड़ जेल से कुख्यात अपराधी नीरज बावनिया बन कर एक व्यापारी से 50,00,000 की रंगदारी मांगने वाले दो आरोपित अरेस्ट

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की स्टार्स -2 क्राइम ब्रांच की टीम ने तिहाड़ जेल से कुख्यात अपराधी नीरज बावनिया और हाशिम बाबा बनकर एक व्यापारी से 50,00,000 रूपए की रंगदारी मांगने वाले दो आरोपित को अरेस्ट किया हैं, गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपितों के नाम आदिल निवासी  डी- 132, न्यू सीलम पुर, दिल्ली, उम्र- 25 वर्ष व मोहम्मद मोइन निवासी  सी- 25/19 आरके मार्ग चौहान बांगर, दिल्ली-110053, उम्र- 26 साल हैं। 

पुलिस के मुताबिक बीते 13 फ़रवरी 2021 को दिल्ली के पीएस शाहीन बाग में एक व्यापारी की शिकायत मिली थी जिसमें आरोप लगाया गया था कि बीते 6 फ़रवरी -2021 को शाम करीब 7. 59 बजे उसके मोबाइल पर फोन आया, जिसमें कहा गया था कि “नीरज बावनिया” दिल्ली की तिहाड़ जेल से फोन कर रहा हूँ। फोन करने वाले ने शिकायतकर्ता को धमकी दी और उससे 50,00,000 रुपये की मांग की और उसे व्यवस्था  करने के लिए दो दिन का समय दिया । बीते 12 फ़रवरी -2021 बजे उन्हें फिर से उसी नंबर से फिरौती की कॉल आई और उन्होंने 10 लाख रुपये की मांग दोहराई। जिसने उसे धमकी दी कि वह मांगे गए पैसे और देने के लिए तैयार हो जाए, उसे अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहें। इस संबंध में एफआईआर नंबर 37/21, भारतीय दंड सहिंता की धारा 387/506 आईपीसी, पीएस शाहीन बाग, दिल्ली के तहत मामला दर्ज किया गया था। बीते 02 मार्च -2021 को शिकायत कर्ता के भाई को भी एक व्यक्ति से जबरन वसूली का फोन आया, जिसने खुद को तिहाड़ जेल से हाशिम बाबा बुलाने के रूप में पेश किया और उसे रुपये देने की धमकी दी । पहले पूछे गए अनुसार 50 लाख रुपये। इन सब कॉल के बाद शिकायतकर्ता का परिवार काफी घबरा गया और परेशान हो गया। इस केस को गंभीरता को देखते हुए एक विदेश गठित की गई। इस टीम ने त्तपरता से कार्रवाई करते हुए आदिल को दिल्ली के यमुना विहार के इलाके से पकड़ा गया था। लगातार पूछताछ के दौरान उसने अपराध में अपनी संलिप्तता कबूल की और बाद में उसे गिरफ्तार कर लिया गया। उसके कहने पर फिरौती की कॉल करने में इस्तेमाल किया गया मोबाइल फोन बरामद किया गया । इसके बाद, उसके  कहने पर, उसके    सहयोगी नामत मोहम्मद मोइन, जिन्होंने शिकायतकर्ता को जबरन वसूली का कॉल किया था, को पकड़ा गया ।

पुलिस पूछताछ के दौरान यह बात सामने आई कि आरोपित आदिल शिकायतकर्ता को जानता है और जींस धोने के काम लगा हुआ है। शिकायतकर्ता के साथ उसकी कुछ व्यक्तिगत शिकायत है और वह शिकायतकर्ता को सबक सिखाना चाहता था और कुछ जल्दी पैसे कमाना भी चाहता था । आदिल ने अपने सहयोगी मोहम्मद  मोइन के साथ मिलकर शिकायतकर्ता से पैसे ऐंठने के लिए यह साजिश रची। क्योंकि वे उसे आसान शिकार मानते थे । प्लान के अनुसार उन्होंने शिकायतकर्ता से भारी मात्रा में रकम की मांग करने के लिए सिम कार्ड और मोबाइल फोन की व्यवस्था की। आरोपित  आदिल दिल्ली से सिम कार्ड और मोबाइल फोन की व्यवस्था करता था। आरोपित  मोहम्मद मोइन ने शिकायतकर्ता को फोन किया, उसे धमकाया और प्रोटेक्शन मनी के रूप में 50,00,000 रुपये की मांग की ।उसने रोहिणी जेल के आसपास से शिकायतकर्ता को बुलाया और खुद की पहचान नीरज बावनिया और बाद में जेल में बंद हाशिम बाबा के रूप में की।उनके कहने पर मोबाइल फोन बरामद कर लिया गया है। उन्होंने किसी परेशानी से बचने के लिए जबरन वसूली कॉल करने के मकसद से अपने निजी मोबाइल नंबरों का इस्तेमाल नहीं किया और पेशेवर तरीके से अपनी योजना को अंजाम देने की कोशिश की। उसने खुद को तिहाड़ जेल में बंद नीरज बावनिया उर्फ हाशिम बाबा का अपराधी होने का दावा किया था।

Related posts

कॉलेजों की अनियमितता दूर कर जबाबदेही सुनिश्चित करने के लिए उच्च शिक्षा मंत्री आतिशी ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री को दिए सुझाव

Ajit Sinha

छह डकैतों को गिरफ्तार कर लूटी गई एक किलो 875 ग्राम सोना, एक किलो 218 चांदी, हीरे के आभूषण सहित अन्य सामान बरामद किए हैं।

Ajit Sinha

यस बैंक पर आरबीआई ने कसा शिकंजा, सिर्फ 50 हजार रूपए ही निकाल सकेंगे ग्राहक

Ajit Sinha
//iglegoarous.net/4/2220576
error: Content is protected !!