Athrav – Online News Portal
अपराध दिल्ली नई दिल्ली राष्ट्रीय

लॉ स्टूडेंट बलात्कार केस में ट्विस्ट, अदालत में मुकर गई पीड़िता, चिन्मयानंद पर बलात्कार के आरोप से इंकार।

नई दिल्ली: पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर बलात्कार के आरोप से जुड़े मुकदमे में बड़ा ट्विस्ट आया है. इस मामले में स्वामी चिन्मयानंद पर बलात्कार  का आरोप लगाने वाली कानून की छात्रा अदालत में अपने आरोपों से ही मुकर गई. मंगलवार को 23 वर्षीय छात्रा लखनऊ की विशेष एमपी-एमएलए अदालत में अपने पहले के सभी आरोपों से पलट गई. बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर लखनऊ के विशेष एमपी-एमएलए कोर्ट में इस मामले की सुनवाई हो रही है. अब इस केस की अगली सुनवाई 15 अक्टूबर को होगी. 

आरोपों से मुकरी छात्राजानकारी के मुताबिक बलात्कार के आरोप में फंसे स्वामी चिन्मया नंद केस की सुनवाई एमपी एमएलए कोर्ट में स्पेशल जज पवन कुमार राय के सामने हुई. इस दौरान एलएलएम की छात्रा ने इस बात से स्पष्ट रूप से इनकार किया कि उसने पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मया नंद के खिलाफ कोई आरोप लगाया था.लॉ की छात्रा के इस बयान से हैरान अभियोजन पक्ष ने छात्रा के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है और सीआरपीसी की धारा 340 के तहत झूठा बयान देने के लिए कार्रवाई की मांग की है. इस पर जज पीके राय ने निर्देश दिया कि अभियोजन पक्ष के कार्रवाई के आवेदन को स्वीकार किया जाए और इस आवेदन की कॉपी पीड़िता और आरोपी को भी सौंपी जाए. मामले की अगली सुनवाई 15 अक्टूबर को होगी. बता दें कि पिछले साल शाहजहांपुर के स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली एलएलएम की छात्रा ने एक वीडियो में स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाए थे. इस कॉलेज को स्वामी चिन्मयानंद का ट्रस्ट चलाता है.

इस मामले में आरोपी स्वामी चिन्मयानंद की मुमुक्ष आश्रम से गिरफ्तारी हुई थी. एसआईटी ने यूपी पुलिस के साथ मिलकर सितंबर में चिन्मयानंद को आश्रम से गिरफ्तार किया था. इस मामले में छात्रा ने दिल्ली के लोधी कॉलोनी पुलिस स्टेशन में 5 सितंबर 2019 को चिन्मयानंद के खिलाफ केस  दर्ज कराई थी. इससे पहले 28 अगस्त 2019 को छात्रा के पिता ने शाहजहांपुर में छात्रा की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज़ कराई थी.  इस मामले की जांच के लिए यूपी सरकार ने एसआईटी  भी गठित की थी. मामले की जांच के दौरान दोनों केस  को एक साथ मिला दिया गया था. इसी साल फरवरी में इलाहाबाद हाईकोर्ट से स्वामी चिन्मयानंद को जमानत मिली थी. इस मामले में आरोप लगाने वाली लड़की  पर भी चिन्मयानंद को ब्लैकमेल कर रंगदारी मांगने के आरोप हैं. इसी मामले में स्वामी चिन्मयानंद के वकील ओम सिंह ने एक अज्ञात मोबाइल नंबर से 5 करोड़ रुपये रंगदारी मांगने का मामला दर्ज कराया था. 

Related posts

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने आज कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर किया पलटवार।

Ajit Sinha

दिल्ली को दुनिया का नंबर 1 शहर बनाने के लिए केजरीवाल सरकार का साथ देगी सीआईआई

Ajit Sinha

नई दिल्ली: कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बिहार में जनसभाओं को संबोधित करते हुए पीएम मोदी – नितीश पर बोला हमला

Ajit Sinha
//nutchaungong.com/4/2220576
error: Content is protected !!