Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद

पर्यावरण मंत्री विपुल गोयल का यह गृह क्षेत्र हैं.यह शहर प्रदूषण के मामले में विश्व के क्षितिज पर है.रोपे पौधे: ललित

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
फरीदाबाद: फरीदाबाद में बढ़ते प्रदूषण को लेकर अब शहर के युवाओं ने एकजुट होकर पौधे लगाने की मुहिम शुरु की है। इसी कड़ी में फरीदाबाद युवा क्लब सेक्टर-29 द्वारा रविवार को एक पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रुप में तिगांव विधानसभा क्षेत्र के विधायक ललित नागर ने शिरकत करते हुए स्वयं पौधे लगाकर लोगों को पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। उन्होंने युवाओं की इस मुहिम की जमकर प्रशंसा करते हुए कहा कि पर्यावरण को स्वच्छ रखना हर व्यक्ति का दायित्व बनता है इसलिए हम सभी को अपने दायित्व का निर्वहन जिम्मेदारी से निभाना होगा। उन्होंने कहा कि कितनी बड़ी विंडबना है कि हरियाणा के पर्यावरण मंत्री विपुल गोयल का यह गृह क्षेत्र होने के बावजूद यह शहर प्रदूषण के मामले में विश्व के क्षितिज पर है।



पर्यावरण को शुद्ध रखने के लिए भाजपा सरकार ने आज तक ऐसा कोई प्रयास नहीं किया, जिससे पर्यावरण शुद्ध हो सके। उन्होंने कहा कि पर्यावरण के दूषित होने के चलते लोग बीमारियों की चपेट में आकर बीमार हो रहे है, हर ओर गंदगी का बोलबाला है परंतु सरकार केवल कागजों में स्वच्छता की बात कहकर लोगों को गुमराह करने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि केवल घोषणाएं से अब काम होने वाला नहीं है बल्कि सरकार को इस मुद्दे पर सख्त निर्णय लेने होंगे, तभी यहां का प्रदूषण समाप्त हो सकेगा। उन्होंने युवाओं से आह्वान करते हुए कहा कि वह पर्यावरण के संरक्षण के लिए शुरु की गई इस मुहिम को बदस्तूर जारी रखे और उनके द्वारा जो पौधे लगाए जा रहे है, उन की पेड़ बनने तक देखभाल करें, तभी उनकी यह मुहिम पूरी तरह से सार्थक हो पाएगी। इस अवसर पर संदीप राणा, नितिन नागर, अमन मौर्या, निशांत मंगला, कुनाल ठाकुर, प्रदीप धनखड, प्रवीन मंगला, सोनू कुमार, सुजोय सिंह, मुकुल मिश्रा, मनीष मौर्या, युद्धवीर झा, जोगेन्द्र पायला, नितिश मौर्या, सुनील चौहान, अजय कुमार सहित अनेकों युवा मौजूद थे।

Related posts

फरीदाबाद: नशीले पदार्थ बेचकर अर्जित की गई अवैध संपत्ति की जाएगी कुर्क– फरीदाबाद पुलिस

Ajit Sinha

फरीदाबाद में आज कोरोना संक्रमित के कुल 90 केस सामने आए हैं।

Ajit Sinha

फरीदाबाद: सीएम मनोहर जी ओल्ड निगम के अधिकारी नहीं उठाते हैं फोन, सिर्फ बनवाते हैं अवैध दुकानें,साधन कमी बताते हैं।

Ajit Sinha
//ofglicoron.net/4/2220576
error: Content is protected !!