Athrav – Online News Portal
अपराध गुडगाँव

फरीदाबाद के टैक्सी ड्राइवर की हत्या गुरुग्राम में कार लूटने के उद्देश्य से की गई थी, इस हत्याकांड में तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार ।  

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
गुरुग्राम: थाना पालम विहार ने आज एक टैक्सी ड्राइवर की अपहरण कर, ब्लेड से गले  में चोट मार  कर व कंबल से गला घोंट कर हत्या करने व उसकी लाश को झाड़ियों में ले जाकर पत्थरों से दबा कर एंव कार छीनने के एक मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किए हैं। पुलिस ने एक महीने के बाद पकड़े गए आरोपियों की निशानदेही पर टैक्सी ड्राइवर के शव को पुलिस ने बरामद किया हैं। यह खुलासा आज एसीपी क्राइम प्रीतपाल सांगवान ने सीपी ऑफिस के कांफ्रेंस में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में किए।  

एसीपी क्राइम प्रीतपाल सांगवान पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि बीते 23 नंवबर को पुलिस चौकी अंसल टाउनशिप ,थाना पालम विहार, गुरुग्राम में सुरजन सिंह चौहान उर्फ अर्जुन सिंह निवासी गांव फौजी मककोट, थाना रुद्रपुर, जिला ऊधमसिंह नगर, उत्तराखंड हाल किरायेदार म.न. 3880, गली न. 9 NIT फरीदाबाद ने हाजिर चौकी आकर एक लिखित शिकायत के माध्यम से बताया कि यह सांई टूर एण्ड ट्रैवल नामक एजेंसी चलाता है। उसके  पास 10 कमर्शियल कारे है, जिन्हे चलाने के लिए उसने ड्राईवर रख रखे है। उसका एक ड्राईवर जिसका नाम जयपाल निवासी गाँव बुडेका, थाना टप्पल जिला जेव उत्तर-प्रदेश हाल पता WHSS 201 शिशपाल विहार, गुरुग्राम करीबन एक साल से उसके  पास काम कर रहा है। जो बीते  21 नवंबर को समय करीब 10 बजे रात  पर Cyber city, गुरुग्राम से उसकी  Personal गाडी कलर, सफेद मे एक व्यक्ति दानेश को छोडने के लिए C2-1111 पालम विहार, गुरुग्राम गया था। जो दानेश को C2-1111 पालम विहार पता पर 10:30 पीएम पर छोडकर गाडी  सहित वहां से निकल गया. लेकिन जयपाल ना ही तो Cyber city गुरुग्राम पहुंचा और ना ही अपने घर  शिशपाल विहार पहुंचा। 

उनका कहना हैं कि इस शिकायत पर थाना पालम विहार ,गुरुग्राम में विभिन्न धाराओं के तहत केस  दर्ज किया गया था। इस केस में कार्यवाही करते हुए पुलिस चौकी अंसल टाउनशिप, थाना पालम विहार,गुरुग्राम की पुलिस  ने उक्त कार चालक के विभिन्न माध्यमों से विज्ञापन जारी किए गए व उसके मोबाईल फोन को कॉल डिटेल निकलवा कर उसे ढूढनें के हर सम्भव प्रयास किए गए। उनका कहना हैं कि बीते 7 दिसंबर को पुलिस टीम को अपने गुप्त सुत्रों के माध्यम से ज्ञात हुआ कि उपरोक्त केस में कार चालक जिस कार को लेकर गया था वह थाना अकराबाद, जिला अलीगढ, उत्तर-प्रदेश पुलिस द्वारा 3 आरोपियों के कब्जा से बरामद की गई है। इस सम्बन्ध में उपरोक्त केस में शिकायतकर्ता द्वारा एक और लिखित शिकायत दी गई। जिसमें शिकायतकर्ता ने बताया कि उत्तर-प्रदेश पुलिस द्वारा जिन आरोपियों के कब्जा सेउसकी कार बरामद की  थी। उसे शक है कि उन्ही आरोपियों ने उसकी  कार के चालक जयपाल का अपहरण करके उसकी हत्या की है। इस शिकायत पर उपरोक्त केस में धारा 364 भा.द.स. ईजाद (जोङी) गई।



उनका कहना हैं कि उपरोक्त केस में आगामी कार्रवाई  करते हुए अंसल टाउनशिप, थाना पालम विहार, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने बीते 19 दिसंबर  को उपरोक्त केस  में शिकायकर्ता के चालक का अपहरण करने व उसके कब्जा से कार लूटने की वारदात को अन्जाम देने वाले 3 आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की हैं। जिनके  एक का नाम साकिब अन्सारी निवासी मकान नं. 1377/ 700 मोहल्ला मदीना चौक, थाना सिविल लाईन्स, मुज्जफरनगर, जिला मुज्जफरनगर, उत्तर-प्रदेश, उम्र 26 वर्ष, शिक्षा बी.सी.ए, पंकज सिंह निवासी मकान नं. 74, रानी खेत, थाना रानीखेत, जिला अल्मोङा, उत्तराखण्ड, उम्र 24 वर्ष, शिक्षा 12वीं पास व प्रिन्सपाल निवासी मकान नं. 423 ,इन्दिरा कॉलोनी, मुज्जफरनगर, थाना कोतावली, जिल मुज्जफरनगर, उत्तर-प्रदेश, उम्र 23 वर्ष, शिक्षा 12वीं पास हैं। उनका कहना हैं कि इसके बाद गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपियों को अदालत के सम्मुख पेश किया  जहां से तीनों आरोपियों को पुलिस रिमांड पर लिया गया। रिमांड के दौरान प्रारम्भिक पुलिस पूछताछ में उक्त आरोपियों ने बताया  कि बीते  21 दिसंबर  को इन लोगों ने  थाना पालम विहार के एरिया से एक कार चालक से लिफ्ट मांगी थी। कार चालक का अपहरण करके इन लोगों ने  कार चालक को अपने एक साथी के मकान कानपुर, उत्तर-प्रदेश में बन्दी बनाकर रखा हुआ है तथा उससे उसकी कार छीन ली थी, जिस कार सहित उत्तर-प्रदेश पुलिस द्वारा इन्हें गिरफ्तार कर लिया था।
उनका कहना हैं कि आरोपियों द्वारा किए गए उक्त खुलासे के बाद पुलिस टीम आगामी कार्यवाही के लिए जब आरोपियों के साथ कानपुर उत्तर-प्रदेश जाने के लिए गुरुग्राम से निकली तो आरोपियों ने बताया  कि उपरोक्त केस  में कार चालक को उन्होनें  बन्दी बनाकर कानपुर नही रखा। कार चालक से लिफ्ट लेने के बाद उन्होनें   उसके गले पर ब्लेड से हमला किया और कम्बल से उसका गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी थी। उसके बाद मृतक को उन्होनें  शंकर चौक से हनुमान मन्दिर वाले रास्ते में सङक के साथ झाङियों में डालकर उसे पत्थरों से ढक दिया। उसके बाद उन्होनें मृतक का मोबाईल व उसकी गाङी लूटकर चले गए।उनका कहना हैं कि पुलिस हिरासत रिमाण्ड के दौरान *आरोपियों की निशानदेही पर उपरोक्त केस  में कार चालक जयपाल सिंह की डैड बॉडी को झाङियों में से पत्थरों के नीचे से निकालकर मृतक जयपाल  का पोस्ट मार्टम कराया गया और उसकी लाश  को उनके परिजनों को सौप दिया। आरोपियों द्वारा उपरोक्त केस में कार चालक का अपहरण करके उसकी हत्या करके कार लूटने की वारदात को अन्जाम देने पर केस  में धारा 392, 302 भा.द.स. ईजाद (जोङी) की गई।

Related posts

गो वे कंपनी के निदेशक और मास्टमाइंड अरेस्ट, दस हजार लोगों क करोड़ों की ठगी शिकार बनाया था।

Ajit Sinha

गुरुग्राम : डीएलएफ फेस -3 पुलिस ने पत्नी काजल के चरित्र पर शक करता था, इसके चलते गुरुग्राम उसे ले गया वहां पर उसकी हत्या कर दी, गिरफ्तार।

Ajit Sinha

सिटी फोरेस्ट में सीवरेज के शोधित पानी से विकसित की जाएंगी झीलें, लेपर्ड सफारी बनाने का भी किया जाएगा प्रयास: राव नरवीर

Ajit Sinha
//whoursie.com/4/2220576
error: Content is protected !!