Athrav – Online News Portal
अपराध नोएडा

जब्त बकरे और बकरियां एनिमल शेल्टर होम से गायब,कोर्ट ने कहा- मालिक को वापस करो, जवाब दिया-मर गए सभी, केस दर्ज


अरविन्द उत्तम की रिपोर्ट
नॉएडा: ये अजब नोएडा एनिमल शेल्टर होम की गजब कहानी है, सेक्टर-20 कोतवाली पुलिस ने पशु क्रूरता अधिनियम के मामले एक व्यक्ति को को पकड कर 110 बकरे और बकरियां जब्त कर उनकी देखभाल के लिए एक साल पहले नोएडा एनिमल शेल्टर होम को सौंपा था, जो अब गायब हो गए . न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने एनिमल शेल्टर हाउस के मैनेजर के खिलाफ संबंधित धाराओं में केस दर्ज कर मामले की जांच प्रारंभ कर दी है। नोएडा के सेक्टर- 94 में बना नोएडा एनिमल शेल्टर होम को आवारा, घायल और क्रूरता के शिकार जानवरों की देखभाल के लिए बनाया गया है। इसका संचालन नोएडा प्राधिकरण और दान में मिलने वाले फंड से किया जाता है. एनिमल शेल्टर होम का रोज नया कारनामा सामने आ रहा है।

शनिवार को पुलिस की 101 और बकरे, बकरियां और भेड़ के गायब होने का मामला सामने आया है। एडीसीपी नोएडा बताया कि दो जून 2021 को सेक्टर-20 कोतवाली पुलिस ने जांच के दौरान दो डीसीएम ट्रक में भेड़,बकरी व बकरे ले जाते हुए पकड़ा था। एक डीसीएम में व्यापारी संतोष निवासी औरैया की 110 बकरे,बकरियां थे,जबकि दूसरे डीसीएम ट्रक में मथुरा के छाता निवासी रईस की 101 बकरे, बकरियां और भेड़ लदे थे। इस तरह से एक ही दिन में पुलिस ने 211 बकरे, बकरियां और भेड़ को पकड़ कर आरोपियों के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम के तहत केस दर्ज कर डीसीएम से बरामद भेड़ व बकरे, बकरियों को सेक्टर-94 स्थित एनिमल शेल्टर होम में देखरेख के लिए रखवा दिया था। इसकी कुल कीमत करीब 40 लाख बताई जा रही है। औरैया के संतोष ने अपनी जमानत करा बकरियों को वापस दिलाने के अर्जी कोर्ट में दे दी।

इस मामले में सुनवाई शुरू हुई तो शेल्टर होम संचालक ने रखरखाव का खर्च 94 हजार रुपये देने की मांग रख दी। व्यापारी संतोष ने इस रकम को कोर्ट में जमा करा दिया। इसके बाद भी उसे बकरे व बकरियां नहीं मिली। जिसके बाद दोबारा संतोष ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया व अपने बकरे व बकरियों को दिलाने की मांग की। इसके बाद पुलिस ने जब शेल्टर होम संचालक से बकरियां मांगे तो उन्होंने सभी 110 बकरे, बकरियों के मर जाने की बात कह कर देने से मना कर दिया। जिसके बाद पीड़ित ने तीसरी बार कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। अब कोर्ट ने सेक्टर-20 थाने को इस मामले में शेल्टर होम के खिलाफ केस दर्ज करने को कहा जिस पर अमल करते हुए पुलिस ने शेल्टर होम के मैनेजर योगेंद्र के खिलाफ आईपीसी की धारा 406 के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली है। इस मामले की छानबीन के दौरान जब दूसरे व्यापारी रईस के बकरे, बकरियां व भेड़ की छानबीन शुरू हुई तो वह भी गायब मिले। इसके बाद पुलिस के पैरों तले जमीन खिसक गई।

Related posts

नौकरानी ने पति के साथ मिलकर किया एनआरआई का मर्डर, नाले में फेंकी लाश

Ajit Sinha

एंटी करप्शन ब्यूरो ने ईएएसआई को 5000 रुपये रिश्वत लेते किया अरेस्ट।

Ajit Sinha

मोबाइल लुटेरों के गैंग का पर्दाफ़ाश, दो शातिर लुटेरे गिरफ्तार, लूट के आठ मोबाइल और छह बाइक

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//nutchaungong.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x