Athrav – Online News Portal
अपराध दिल्ली नई दिल्ली

540 बोरी में भरे साढ़े 25 टन चावल सहित ट्रक लूटने वाले दो लूटेरों को पुलिस ने किया अरेस्ट, चावल की बोरियां बरामद।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नई दिल्ली: दिल्ली ने दक्षिण पूर्व जिले कीथाना सूरज की रोशनी कालोनी की टीम ने दो लूटेरों को अरेस्ट किया हैं, इन लूटेरों के कब्जे से पुलिस ने लूटी गई कुल 25. 5 टन चावल, खाली कंटेनर ,असेंट कार,3  मोबाइल फोन बरामद किए हैं। अरेस्ट किए गए आरोपितों के नाम अब्दुल उर्फ़ शानू व रिसीवर श्याम बहादुर उर्फ़ भोला ठाकुर हैं।   

पुलिस के मुताबिक बीते 19 फ़रवरी -2021 को लखनऊ पुलिस कंट्रोल रूम,उत्तरप्रदेश से थाना  सनलाइट कॉलोनी में एक ट्रक चावल की डकैती के बारे में पीसीआर कॉल प्राप्त हुई थी। प्रगति मैदान ,सराय काले खां दिल्ली में एक ट्रक की डकैती के बारे में और फोन करने वाला चंदौसी, यूपी में था । कर्मचारियों ने तेजी से काम किया और शिकायतकर्ता ललित से मुलाकात की। उस का बयान दर्ज किया गया जिसमें उसने आरोप लगाया कि वह के के से एक लोडेड कंटेनर ट्रक में रवाना हुआ । राम विपणन एवं एजेंसियां, अलीपुर दिल्ली जिसमें 27 टन चावल था और टाटा के पास मेघा धर्मकांटा में इसका वजन किया गया था । टेल्को, Alipur.At उसी समय दो लोगों ने लिफ्ट मांगी और ट्रक में सवार हो गए। प्रगति मैदान पहुंचने पर उन्होंने शिकायतकर्ता ललित को सराय काले खां में ट्रक रोकने को कहा। शिकायतकर्ता ने सराय काले खां फ्लाईओवर से पहले सीएनजी पंप, रिंग रोड के पास ट्रक को रोक लिया। दोनों कथित व्यक्तियों ने शिकायतकर्ता के साथ जबर्दस्ती की और जान से मारने की धमकी दी। दोनों कथित व्यक्तियों ने शिकायत कर्ता को कपड़े से बांधकर अपना चेहरा ढक दिया।अगले दिन सुबह चालक को सफेद रंग की कार में बैठाकर चंदौसी गांव,उप्र के पास कहीं कथित व्यक्तियों ने फेंक दिया।इसी के तहत थाना सनलाइट कॉलोनी में आईपीसी की धारा संख्या- 44 /21 दर्ज की गई। अपराध की संवेदनशीलता को देखते हुए आईसी/पीपी सराय काले खां एसआई प्रदीप शर्मा, एसआई अरुण कुमार, एचसी अभिलाष और सीटी की समर्पित टीम शामिल है। आरोपी लोगों को पकड़ने के लिए मनोज कुमार सिन्हा एसीपी,लाजपत नगर की देखरेख में इंप्रेनी कुमार एसएचओ, थाना सूरज की रोशनी कॉलोनी द्वारा सतीश का नेतृत्व किया गया था ।बीते 20 फ़रवरी -2021 को पीपी पाठकपुर, थाना  बहजोई, सम्भल, यूपी से लूट के बारे में जानकारी मिली थी। सीटी सतीश के साथ आईओ/एसआई अरुण कुमार तुरंत सम्भल, यूपी पहुंचे, जहां खाली कंटेनर वाला ट्रक मिला। उसे पुलिस कब्जे में लेकर पीपी सराय काले खां ले आई। हालांकि अभी तक अपराधियों का कोई सुराग नहीं मिल पाया। जांच के दौरान ट्रक मालिक के पास से लूट की ट्रक की तस्वीर मिली तो ट्रक के नीले रंग के कंटेनर पर “कॉनकोर” का पता चला। टीम ने दिल्ली से सम्भल जाने वाले संभावित मार्गों पर सभी टोल टैक्स प्लाजा की जांच की, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला।सराय काले खां, एनएच-9, डीएनडी, मयूर विहार और छैला बॉर्डर के पास लगे सभी संभावित सीसीटीवी कैमरों की सीसीटीवी फुटेज चेक की गई। लूट वाला ट्रक एनएच-9 से अक्षरधाम की ओर गुजरते हुए देखा गया। ट्रक ने यू-टर्न लिया और मयूर विहार की ओर रवाना हो गया । इसके बाद मयूर विहार और छैला बॉर्डर पर लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की गई तो ट्रक नोएडा की ओर आगे बढ़ता हुआ पाया गया ।नोएडा से दादरी और नोएडा से ग्रेटर नोएडा रूट पर लगाए गए। सभी सीसीटीवी कैमरों की सीसीटीवी फुटेज चेक की गई तो ट्रक नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर जाते हुए नजर आए।एक संदिग्ध सफेद रंग की कार के साथ देखा जा सकता है सीसीटीवी फुटेज में ट्रक।

इसके अलावा परी चौक तक नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे के सभी कैमरों की सीसीटीवी फुटेज चेक की गई तो लूट का ट्रक यमुना एक्सप्रेस-वे पर जेवर की ओर प्रवेश करता पाया गया। इसके बाद टीम जेवर टोल प्लाजा पर पहुंची तो पता चला कि लुटेरों ने टोल पास करते समय ट्रक के रजिस्ट्रेशन नंबर के पिछले चार डिजिट को काला रंग से बदलकर “8986” कर दिया था। लेकिन टोल प्लाजा पर ऐसे ट्रक की कोई एंट्री नहीं मिली।जिस पर यमुना एक्सप्रेस-वे के टोल प्लाजा और कैमरों की सीसीटीवी फुटेज चेक की गई तो पता चला कि लुटेरों ने जेवर टोल प्लाजा पार करते समय रजिस्ट्रेशन नंबर का आखिरी डिजिट फिर से बदलकर 8985 कर दिया था। इस लीड पर टीम यमुना एक्सप्रेस-वे पर टप्पल कट पर पहुंची तो ट्रक अलीगढ़ रोड पर एक ढाबे पर लगाए गए सीसीटीवी कैमरे में अलीगढ़ की ओर से गुजरता हुआ मिला। इसके अलावा, टीम जतरी, गोमती चौराहा, खैर की ओर बढ़े और सड़क पर लगाए गए। सभी सीसीटीवी कैमरों की जांच की। ट्रक यूपी के खैरेश्वर चौक, खैर, अलीगढ़ रोड पर लगे सीसीटीवी कैमरे में अलीगढ़ की ओर प्रवेश करते हुए पाया गया । वही सफेद रंग की संदिग्ध कार ट्रक के पीछे जा रही थी।लेकिन उसके बाद खेरेश्वर चौक से नाडा पुल तक किसी भी सीसीटीवी कैमरे में ट्रक नहीं मिला। इसके बाद खेरेश्वर चौक से नाडा पुल तक स्थानीय जांच की गई और एक श्याम बहादुर@भोला ठाकुर की पहचान चोरी/लूटे गए चावल, गेहूं आदि के रिसीवर के रूप में हुई। और उसका गोदाम भी इसी सड़क पर मिला था। गोदाम के पास एक सीसीटीवी कैमरा लगा था, जिसमें लूट का ट्रक साफ तौर पर गोदाम के सामने खड़ी नजर आ रही थी।जांच करने पर श्याम बहादुर@भोला ठाकुर उक्त गोदाम का मालिक मिला।श्याम बहादुर @भोला ठाकुर का मोबाइल नंबर भी हासिल कर उसका सीडीआर व सीएएफ हासिल किया गया।टीम ने गोदाम पर छापेमारी कर सुपित श्याम बहादुर@भोला ठाकुर को हिरासत में लिया।श्याम बहादुर @भोला ठाकुर ने खुलासा किया था कि बीते 18-19 फ़रवरी -21 की देर रात एक अब्दुल@शानू अपने गोदाम में ट्रक लेकर आया और उसे अपने गोदाम में चावल उतारने को कहा।लेकिन श्याम बहादुर @भोला ठाकुर अपने घर पर था और मजदूरी भी नहीं मिलती थी।उन्होंने अब्दुल@शानू को सुबह तक इंतजार करने को कहा। लेकिन अब्दुल@शानू ट्रक को बदायूं में कुछ सुरक्षित स्थान पर ले गया था।उन्होंने अब्दुल@शानू से सैंपल मांगा। बीते 20 फ़रवरी 21 को अब्दुल@ शानू और उसका एक सहयोगी सैंपल चावल लेकर उसके गोदाम में आए थे।श्याम बहादुर @ भोला ठाकुर ने चावल के लिए टोकन मनी के तौर पर अब्दुल @शानू को 12,000 रुपये दिए थे। अब्दुल@शानू का मोबाइल नंबर श्याम बहादुर @भोला ठाकुर से प्राप्त किया गया था। संदिग्ध की सीडीआर और सीएएफ मिली थी।
सीडीआर के आधार पर यूपी के बदायूं में अब्दुल@शानू और अन्य संदिग्धों के ठिकाने मिले।इसके अलावा श्याम बहादुर @भोला ठाकुर के साथ टीम ने बदायूं जाने वाले मार्ग का पीछा किया और हाईवे पर लगे सभी सीसीटीवी कैमरों की जांच की। बीते 25 फ़रवरी 21 को टीम ने बेलन टोल प्लाजा, नरौरा, यूपी के सीसीटीवी फुटेज चेक किए तो ट्रक यूपी के बदायूं की ओर जाते हुए देखा गया।सीसीटीवी फुटेज में वही संदिग्ध सफेद रंग की कार भी मिली है।टीम बदायूं, यूपी के लिए रवाना हो । संदिग्ध मोबाइल नंबरों की सीडीआर और लाइव लोकेशन समय-समय पर मिलती रही और मोबाइल की लोकेशन गुन्नौर यूपी में मिली। टीम यूपी के गुन्नौर पहुंची और स्थानीय जांच की गई।कुछ टीम के सदस्यों को स्थानीय लड़कों और गुप्त के रूप में बदल गया जानकारी एकत्र की गई। टीम को तीन उप टीमों में बांटा गया था।बाघवाला, जरीठा, उस्मानपुर आदि स्थानों पर कई स्थानों पर संदिग्ध का मोबाइल फोन सक्रिय मिला।संदिग्ध हर 10-15 मिनट के अंतराल के बाद अपना मोबाइल फोन स्विच ऑफ कर लेते थे ।हालांकि टीम लगातार संदिग्ध के मोबाइल फोन की लोकेशन ट्रैक कर रही थी।संदिग्ध कार सड़क पर चलती मिली तो उसे टीम ने रोक लिया।संदिग्ध कार में बैठे लोगों को मौके पर ही गिरफ्तार कर लिया गया।श्याम बहादुर @भोला ठाकुर ने उक्त कार चला रहे एक व्यक्ति की पहचान अब्दुल@शानू के रूप में की।संदिग्ध से पूछताछ की गई तो उसने अपने नाम का खुलासा अब्दुल@शानू निवासी    जिला बदायूं, यूपी उम्र 26 साल, लगातार पूछताछ के बाद उसने डकैती में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली। बीते 26 फ़रवरी 21 को यूपी के बदायूं में आरोपी को गिरफ्तार किया गया और लूट का चावल भी जिला के गांव देहावान से बरामद किया गया। आरोपी अब्दुलउर्फ़ शानू के कहने पर कुल 540 बोरी (27 टन) चावल बरामद किया गया।संदिग्ध एक्सेंट कार को भी जब्त कर लिया गया । आरोपी ने आगे खुलासा किया कि उसने श्याम बहादुर उर्फ़ भोला ठाकुर को सैंपल के तौर पर 3-4 किलो चावल दिया था और उसने एडवांस टोकन मनी के तौर पर 12 हजार रुपए दिए थे।इसके बाद श्याम बहादुर @भोला ठाकुर से पूछताछ की गई तो उसने यह बात स्वीकार कर ली। श्याम बहादुर उर्फ़ भोला ठाकुर निवासी   थाना  गभाना, जिला अलीगढ़, यूपी, उम्र- 35 साल की गिरफ्तारी भारतीय दंड सहिंता की धारा  411 आईपीसी के तहत गिरफ्तारी और केस प्रॉपर्टी की सूचना थाना  जरफ नगर, जिला पुलिस ने दर्ज कराई थी, बदायूं, यूपी। इसके बाद बरामद केस प्रॉपर्टी और आरोपी अब्दुल उर्फ़ शानू  के साथ एक टीम दिल्ली के लिए रवाना हो गई, जबकि एसआई अरुण कुमार, एचसी अभिलाष ने आरोपी श्याम बहादुर उर्फ़ भोला ठाकुर के साथ उसके गोदाम में जाकर उसके कहने पर गोदाम से सैंपल चावल बरामद किया। बरामद चावल को जब्त कर लिया गया. पुलिस का कहना हैं कि  पूछताछ करने पर आरोपी अब्दुल उर्फ़ शानू ने खुलासा किया था कि वह अपने परिवार के साथ पुल पेहलदपुर दिल्ली में रहता है।वह पेशे से ड्राइवर है। वह अपने साथियों के साथ मिलकर ट्रक डकैतियों को अंजाम देता है, ताकि जल्दी पैसे कमाए जा सके । उसके साथियों ने ट्रक चालक को लूट लिया था और उसे कपड़े से बांध दिया था। उसने डकैती में अपनी एक्सेंट कार का इस्तेमाल किया था और डकैती के बाद बदायूं तक ट्रक का पीछा करता था। लूटे गए चावल बेचने के लिए उसने डीलर से संपर्क किया।उसने यह चावल श्याम बहादुर उर्फ़ भोला ठाकुर को बेच दिया और 10 हजार रुपए मिले। टोकन राशि के रूप में 12000 रुपये। उसने लूटे गए चावल को अपने गांव के पास जिला के गांव देहगवान में सुरक्षित स्थान पर रखा था,बदायूं उप्र. पूछताछ करने पर आरोपी श्याम बहादुर उर्फ़ भोला ठाकुर ने खुलासा किया कि वह चावल का सौदागर है।वह चोरी/लूट के चावल में सौदा करता है और लुटेरों/चोरों से ही खरीदता है । उसने अब्दुलउर्फ़ शानू के साथ सौदा किया था, ताकि लूटा गया चावल सस्ते दाम पर खरीद सके।उन्होंने आरोपी अब्दुल उर्फ़ शानू से सैंपल चावल प्राप्त किया और एक लाख रुपये का भुगतान किया। टोकन राशि के रूप में 12,000 रुपये।

Related posts

निगम एसडीओ सुमेर सिंह पर एनआईटी महिला थाने में छेड़छाड़ व जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज, केस झूठा हैं।

Ajit Sinha

विजिलेंस मंत्री आतिशी ने एसडीएम ऑफिसों में रिश्वतखोरी की घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए मुख्य सचिव को दिया आदेश

Ajit Sinha

गर्भवती हथिनी को पटाखों से भरा अनानास खिला दिया, मुंह में पटाखे फट जाने से हो गई उसकी मौत, जांच के आदेश।

Ajit Sinha
//meenetiy.com/4/2220576
error: Content is protected !!