Athrav – Online News Portal
अपराध दिल्ली नई दिल्ली

लड़कियों के कपडे पहन कर लूटपाट करने वाले गिरोह के साथ पुलिस की हुई मुठभेड़ में एक लूटेरे की मौत, 3 अरेस्ट।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
दिल्ली: डकैती और स्नैचिंग की घटनाओं पर प्रभावी जांच के क्रम में पुलिस थाना न्यू उस्मान पुर के अन्य कर्मचारियों को ऑपरेशन “अंकुश” के तहत हॉकआई ऑपरेशन के लिए 5वीं पुस्ता, दिल्ली के पास सादे कपड़ों में तैनात किया गया था। रिपोर्ट की गई घटनाओं के विश्लेषण के दौरान एक सामान्य बात सामने आई थी कि युवा लड़कों का एक समूह जिसमें कुछ लड़के यात्रियों को आकर्षित करने के लिए लड़कियों की पोशाक में रहते हैं, यमुना खादर क्षेत्र और उस के आसपास कई डकैती के मामलों में शामिल हैं।

कल यानी 8 जुलाई 2022 को रात करीब 8.30 बजे टीम ने खादर क्षेत्र से आ रहे एक घायल व्यक्ति को देखा जिसका नाम बाद में तुषार रखा गया। पूछने पर उसने बताया कि 5-6 लोगों ने उस पर हमला किया और उसका मोबाइल फोन छीन लिया। उन्हें तेज चोट लग रही थी, इसलिए उन्हें अस्पताल भेजा गया। इस मामले में पीएस न्यू उस्मानपुर में एफआईआर संख्या- 688/22 भारतीय दंड संहिता की धारा  392/394/397/34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया था। पुलिस टीम संदिग्धों की तलाश में खादर क्षेत्र की ओर बढ़ी और करीब डेढ़ किलोमीटर गहरे जंगल में पहुंची, जहां उन्होंने इतने देर और अंधेरे घंटों में एकांत स्थान पर 7-8 संदिग्ध व्यक्तियों की उपस्थिति देखी। पुलिस कर्मियों ने अपनी पहचान बताते हुए उन्हें बाहर आने को कहा। लेकिन अचानक उन्होंने पुलिस टीम पर दो गोलियां चला दीं।

पुलिस कर्मियों ने किसी तरह खुद को बचाया और फिर से आत्मसमर्पण करने की चेतावनी दी लेकिन उन्होंने अनुरोध पर कोई ध्यान नहीं दिया और फिर से पुलिस टीम पर गोलियां चला दीं। कोई अन्य विकल्प न होने पर एसआई नितिन ने अपनी आत्मरक्षा में जवाबी कार्रवाई की और साथ ही टीम के सदस्यों की सुरक्षा के परिणामस्वरूप उनमें से एक को गोली लगी और नीचे गिर गया और अन्य बदमाश अंधेरे का फायदा उठाते हुए भाग गए।घायल व्यक्ति जिसकी पहचान बाद में आकाश एंव थलाऊ उर्फ़  इलू, निवासी करतार नगर के रूप में हुई; उम्र करीब 23 साल की दिल्ली को इलाज के लिए जेपीसी अस्पताल में शिफ्ट किया गया। बाद में उन्हें एलएनजेपी अस्पताल रेफर कर दिया गया जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

*अपराध स्थल से एक पिस्टल 2 खाली कारतूस व एक और खाली कारतूस बरामद किया गया है*।

आपराधिक इतिहास की जांच करने पर आकाश लूट आदि के सात आपराधिक मामलों में संलिप्त पाया गया है। उसे थाना न्यू उस्मानपुर के एक मामले में 6 जून 22 को जमानत पर रिहा किया गया था। आकाश पीएस न्यू उस्मानपुर के बीसी थे।

इस मामले में एफआईआर संख्या- 689/22 , भारतीय दंड संहिता की धारा  186/353/ 332/ 307/34 आईपीसी और 25/27 आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

दो दिन पहले जब पुलिस टीम इस इलाके में गश्त कर रही थी, तब बदमाशों के एक समूह ने आधिकारिक कर्तव्यों के निर्वहन में संयम बरतने के लिए उन पर पथराव किया था। इस मामले में पीएस न्यू उस्मानपुर में भारतीय  संहिता की धारा 186/353/332/427/34 आईपीसी* के तहत मामला दर्ज किया गया था। तलाशी अभियान के दौरान यमुना खादर क्षेत्र से मृतक आकाश के तीन साथियों को भी पकड़ा गया है

1. विशाल उर्फ़ राहुल नेगी उर्फ़ चुन्नू पुत्र गिरधारी नेगी निवासी खजूरी खास दिल्ली को खादर क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है। आयु लगभग 25 वर्ष। 
2. मोनू उर्फ़  चीनी  पुत्र तारा चंद 
3. निखिल निवासी राम दत्त निवासी भजनपुरा, देहली वृद्ध-19 वर्ष

उनके कब्जे से 08 मोबाइल फोन, एक सीएमपी 2 जिंदा कारतूस 1 चाकू बरामद किया गया है।

विशाल को लूट आदि के छह आपराधिक मामलों में भी संलिप्त पाया गया है। अन्य के आपराधिक इतिहास का सत्यापन किया जा रहा है। पूछताछ के दौरान यह सामने आया है कि मोनू एंव निखिल सड़क पर चलने वालों/यात्रियों को आकर्षित करने के लिए लड़कियों के वेश में हुआ करता था। एक बार कोई भी व्यक्ति ऐसी लड़कियों के साथ आता था तो उसके साथी उसका सामान/मूल्यवान लूट लेते थे। आगे की जांच जारी है।

Related posts

डकैती, हत्या, अवैध हथियार रखने व पुलिस कस्टडी से भागने की वारदात को अंजाम देने वाला अपराधी पकड़ा गया।

Ajit Sinha

बसपा नेता के बेटे राहुल की गोली मारकर हत्या दोस्त ने इस लिए की थी,क्यूंकि वह उसकी बहन पर गलत नजर रखता था।

Ajit Sinha

पत्नी -प्रेमी अरेस्ट: पति की हत्या का राज 4 सालों तक अपने सीने में दबाए रखा, जब राज खुला तो सब के सब रह गए सन्न।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//sauptowhy.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x