Athrav – Online News Portal
अपराध दिल्ली नई दिल्ली

मोबाइल टावर लगाने के नाम पर करोड़ों की ठगी करने के मामले में एक शख्स को साइबर क्राइम ने किया गिरफ्तार।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली:साइबर ,क्राइम ब्रांच (cypad ) ने आज एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया हैं जिस पर ब्रांडेड कंपनी के मोबाइल टावर लगाने के नाम पर ऑनलाइन ठगी करने का आरोप हैं। पुलिस की माने तो अभी तक 500 आम लोगों से ठगी कर, तक़रीबन एक करोड़ रूपए वसूल चूका हैं। पकड़े गए आरोपी के खिलाफ साइबर क्राइम यूनिट / CyPAD में विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज हैं। पकड़े गए आरोपियों से गहनता से पूछताछ की जा रही हैं।

डीसीपी,साइबर क्राइम अन्येष रॉय का कहना हैं कि मोबाइल कंपनी ने साइबर, क्राइम ब्रांच को एक लिखित शिकायत के माध्यम से बताया था कि एक शख्स उनकी कंपनी की तरह एक फर्जी वेबसाइट तैयार करके आमजनों से मोबाइल टावर लगवाने के नाम ऑनलाइन 10,000 से लेकर 100000 रुपए वसूल रहा हैं और बिल्कुल उन्हीं की कंपनी की तरह आमजनों में विश्वास बनाने के उद्देश्य से ई-मेल आईडी, लेटर हेड व पत्र आदि सामानों को इस्तेमाल कर रहा हैं। उनका कहना हैं कि शिकायत मिलने के बाद साइबर,क्राइम सेल यूनिट में मुकदमा दर्ज किया गया था। उन्होनें मामले की गंभीरता को देखते हुए एसीपी आदित्य गौतम की अगुवाई में इस्पेक्टर सज्जन कुमार के नेतृत्व में एक विशेष टीम गठित की गई।



उनकी टीम ने जांच के दौरान आरोपी रितेश उर्फ़ लिवेश निवासी ॐ विहार , उत्तम नगर ,दिल्ली की पहचान की और आज आरोपी रितेश को गिरफ्तार कर लिया। उनका कहना हैं कि पूछताछ के दौरान आरोपी रितेश ने पुलिस को बताया कि इस कार्य को वह वर्ष -2015 से कर रहा हैं और अब तक तक़रीबन 500 से अधिक लोगों से मोबाइल टावर लगाने के नाम पर तक़रीबन एक करोड़ रूपए वसूल चूका हैं। प्रत्येक जनता से 10000 से लेकर 100000 रुपए वसूल लेता था। उनका कहना हैं अभी तो आरोपी रितेश से पूछताछ की जा रहीं हैं और इससे और कई खुलासे होने की उम्मीदें हैं।

Related posts

हरियाणा के नागरिकों से आग्रह,  गैर-आपातकालीन शिकायतों के पंजीकरण के लिए चुने ऑन लाइन प्रणाली : डीजीपी 

Ajit Sinha

गांव महावतपुर में दो बारादरी के बीच बारात निकालने को लेकर उतपन्न हुए विवाद को एसीपी रतनदीप बाली के मौजूदगी में निपटाया 

Ajit Sinha

फरीदाबाद:ट्यूबवेल कनेक्शन के मामूली विवाद के चलते चचेरे भाई ने तेजधार हथियार से की भाई की हत्या।

Ajit Sinha
//aickeebsi.com/4/2220576
error: Content is protected !!