Athrav – Online News Portal
खेल राष्ट्रीय हरियाणा

विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में पदक जीतने वाले भारत के पहले पुरुष खिलाड़ी बने नीरज चौपड़ा-सीएम

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
चंडीगढ़: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर ने गोल्डन बॉय नीरज चोपड़ा को विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में रजत पदक जीतकर इतिहास रचने पर बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं । उन्होंने कहा कि हरियाणा के लाल नीरज चोपड़ा देश का गौरव हैं। वे विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में पदक जीतने वाले भारत के पहले पुरुष खिलाड़ी बन गए हैं।  मनोहर लाल ने कहा कि नीरज चोपड़ा ने एक बार फिर देश और हरियाणा का नाम पूरे विश्व में रोशन किया है। मुख्यमंत्री ने नीरज के चाचा  भीम चोपड़ा से फोन पर बात करके बधाई दी।

मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने कहा कि हमारा लक्ष्य हरियाणा को खेलों का हब बनाना है। इसके लिए नीरज चोपड़ा जैसे होनहार खिलाड़ी युवा पीढ़ी को प्रेरित करने का काम करेंगे । मुख्यमंत्री ने कहा कि नीरज चोपड़ा जैसे युवाओं के कारण ही हरियाणा खेलों में विश्व स्तर पर अपना परचम लहरा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा की खेल की दुनिया में आज हमने एक कदम और आगे बढ़ाया है। प्रदेश सरकार की नीतियों और हरियाणा के खिलाड़ियों के प्रदर्शन की पूरे विश्व में चर्चा हो रही है। हरियाणा अपने खिलाड़ियों को कॉमनवेल्थ, एशियाड और ओलंपिक में पदक जीतने पर देश में सबसे ज्यादा पुरस्कार और सुविधाएं देता है।उन्होंने बताया कि हरियाणा सरकार ने उत्कृष्ट खिलाड़ियों के लिए सुरक्षित रोजगार सुनिश्चित करने हेतु ‘हरियाणा प्रतिभाशाली खिलाड़ी नियम-2018’ बनाए हैं। उनके लिए खेल विभाग में 550 नए पद सृजित किए हैं। इसके अलावा, 7 मई 2022 तक 156 खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी दी गई है।खिलाड़ियों के लिए क्लास वन से क्लास फोर तक के पदों की सीधी भर्ती में आरक्षण का प्रावधान किया गया है। अर्जुन, द्रोणाचार्य और ध्यानचंद पुरस्कार जीतने वाले खिलाड़ियों का मानदेय 5,000 रुपये से बढ़ाकर 20,000 रुपये प्रतिमाह किया गया है। तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार विजेताओं को 20 हजार रुपये प्रतिमाह और भीम पुरस्कार विजेताओं को 5,000 रुपये प्रतिमाह मानदेय देने की शुरुआत की है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि हरियाणा में खेलों को बढ़ावा देने और खिलाड़ियों के सर्वांगीण विकास हेतू हरियाणा सरकार निरंतर कार्य कर रही है। परिणामस्वरूप प्रदेश के बेटे – बेटियां राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलों में नाम रोशन कर तिरंगे की शान बढ़ा रहे हैं। इसी कड़ी में अब खेल एवं युवा मामले विभाग ने खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करने के लिए 10 डे-बोर्डिंग और 8 आवासीय अकादमियां शुरू की हैं। इन अकादमियों के सभी प्रशिक्षुओं को प्रति खिलाड़ी 400 रुपये प्रति दिन की दर से डाइट दी जाएगी। राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल स्पर्धाओं में मेडल जीतकर हरियाणा के साथ-साथ भारत का नाम भी विश्व मानचित्र पर दर्शाया है। वर्तमान में हरियाणा देश का खेलों का पावरहाऊस है। ओलंपिक व पैरालंपिक- 2021 में हमारे खिलाड़ियों का प्रदर्शन इसका जीवंत उदाहरण है कि कैसे हरियाणा खेलों के क्षेत्र में अन्य राज्यों के लिए पथ प्रदर्शक बनकर उभर रहा है।  इसके अलावा, हरियाणा ने हाल ही में खेलो इंडिया यूथ गेम्स – 2021 की मेजबानी की जिसमें हरियाणा के खिलाड़ियों ने सबसे अधिक पदक जीते। देशभर से आए खिलाड़ियों व कोचों ने हरियाणा की खेल संस्कृति को करीब से महसूस किया और जाना कि कैसे हरियाणा की मिट्टी केवल खेती बाडी ही नहीं बल्कि खेलों में भी सोना उगल रही है।

Related posts

हरियाणा में आज से आगामी आदेशों तक प्रतिदिन रात को 9 बजे से सुबह 5 बजे तक ‘कोरोना-कफ्र्यू’ लागू कर दिया है।

webmaster

फरीदाबाद: तैराकी खेल के अधिकारी/कर्मचारियों के चयन 8 दिसंबर को खेल परिसर सेक्टर-12 में

webmaster

अखिलेश सरकार में उत्तर प्रदेश में जमकर हुआ भ्रष्टाचार, उनका एक मंत्री अब भी भ्रष्टाचार के मामले में जेल में हैं-नड्डा

webmaster
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//thaudray.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x