Athrav – Online News Portal
अपराध नोएडा

इंटरनेशनल ऑनलाइन बैटिंग करने वाले गैंग का पर्दाफाश 16 लोग अरेस्ट, डेढ़ करोड़ की रकम फ्रीज-वीडियो देखें।


अरविन्द उत्तम की रिपोर्ट 
नॉएडा: नोएडा ज़ोन पुलिस ने दुबई से ऑपरेट हो रहे सट्टे के इंटरनेशनल रैकेट का पर्दाफाश कर 16 लोगों को अरेस्ट  किया है, इस गैंग का सरगना सहित 9 लोग फरार है। अरेस्ट आरोपितों ने 2 माह के अंदर करीब 400 करोड़ का सट्टे पर ट्रांजैक्शन किया है। इनके विभिन्न खातों में  करोड़ों रुपए की नकदी को पुलिस ने जब्त किया है। पुलिस ने मोबाइल फोन और सिम कार्ड, 12 लैपटॉप, एटीएम कार्ड, पासपोर्ट, फर्जी दस्तावेज और  इलेक्ट्रॉनिक उपकरण आदि बरामद किया है। इस गैंग ने कितने लोगों को अपनी ठगी शिकार बनाया पुलिस इसकी  जांच में जुटी है।

पुलिस के गिरफ्त में खड़े यह वो ठगों की जमात है जो सोशल मीडिया पर विज्ञापन देकर लोगों को महादेव ऐप के जरिए ऑनलाइन गेम खिलाने का काम करते हैं अगर गलती से कोई भी शख्स इनके ऐप पर क्लिक कर देता है तो फिर उसे यह बिना ठगे ऐप से बाहर नहीं आने देते थे.पुलिस को  इनपुट मिला था कि नोएडा के पॉश इलाके सेक्टर- 108 में किराए के मकान पर कुछ लोग संदिग्ध रूप से रह रहे है प्रोफेशनल तरीके से ऑनलाइन सट्टे का कारोबार चला रहे है, पुलिस ने इस पर जाल बिछाया और रेड कर दी पुलिस को रेड में 16 लोग ऑनलाइन सट्टा चलाते हुए मौके से मिले जिन्हें पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है। हरीश चंद्र ने बताया कि जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि सट्टे का संचालन दुबई से किया जा रहा है।

और दुबई में बैठा सौरव इसका मास्टरमाइंड है और नोएडा इस इंटरनेशनल ऑनलाइन बैटिंग सचिन देख रहा था जो इस समय अपने 8 साथियों के साथ फरार है. डीसीपी के मुताबिक महादेव गैंबलिंग ऐप दुबई से ऑपरेट किया जाता है और बाकायदा जो लोग भारत में इसकी फ्रेंचाइजी लेते हैं उनको पहले दुबई में ट्रेनिंग दी जाती है उसके बाद यहां पर यह ठगी का खेल शुरू करते हैं महादेव ऐप के जरिए देश के कई हिस्सों में लगातार लोगों को ठगा जा रहा है 1 दिन पहले छत्तीसगढ़ पुलिस ने भी नोएडा में छापेमारी की और बड़ी तादाद में लोगों को अरेस्ट कर साथ ले गई. 

नोएडा के सेक्टर-108 के डी ब्लाक के इसी तीन मंजिल के मकान से इंटरनेशनल ऑनलाइन बैटिंग का धंधा चल रहा था. डीसीपी नोएडा बताया कि इस मकान से ये ना के बराबर बाहर निकलते थे। आरोपित मकान के अंदर ही छुप कर रहते थे, तथा वहीं से सट्टा खिला रहे थे। उन्होंने बताया कि जिस एप से ये लोग लोगों को सट्टा खिलाते  थे उस पर जितने भी गेम खिलाए जाते थे, वे इनके बनाए हुए गेम थे। ये लोग क्रिकेट, स्कूनर, टेबल टेनिस, बास्केटबॉल, हैंडबॉल सहित विभिन्न गेम को अपने ऐप के माध्यम से लोगों को खिलाते थे, तथा शुरुआती दौर में कुछ पैसे उन्हें जितवा कर उन्हें अपने जाल में फंसा लेते थे। उसके बाद मोटी रकम लेने के बाद ये लोग पीड़ित को ब्लॉक कर देते थे। प्रारंभिक जांच में पुलिस को चार अरब का सट्टे का ट्रांजेक्शन मिला है। डेढ़ करोड़ रुपये फ्रीज कराए गए है। 22 खातों में मिली डेढ़ करोड़ की रकम फ्रिज कराई गई है। पुलिस को 100 खातों की जानकारी मिली है जिसकी तफ्तीश की जा रही है, जिसमें हवाला और मनी लॉन्ड्रिंग के भी इनपुट मिलने के बाद इस मामले में एनआईए और ईडी को भी पत्र लिखा जाएगा ताकि वे इसकी अपने स्तर से जांच कर सके।

Related posts

फरीदाबाद: दुष्कर्म का आरोपित शख्स आज जिला अदालत की छठी मंजिल से कूद कर की आत्महत्या।

Ajit Sinha

दो अपराधी भाइयों के द्वारा स्कूल की जमीनों पर अवैध रूप से बनाई गई मकानों पर चला जिला प्रशासन का बुलडोजर।

Ajit Sinha

वेयरहाउस के बाहर लगे ट्रांसफार्मर में निकली चिंगारी से कंपनी में लगी भीषण आग-काबू

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//gleeglis.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x