Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद हरियाणा

हरियाणा में आज 72वां गणतंत्र दिवस बड़े ही हर्षोल्लास व उत्साह के साथ मनाया गया, जाने कौन से जिले में किसने फहराया झंडा 

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
चण्डीगढ़: हरियाणा में आज 72वां गणतंत्र दिवस बड़े ही हर्षोल्लास व उत्साह के साथ मनाया गया । हरियाणा के राज्यपाल  सत्यदेव नारायण आर्य ने चण्डीगढ़ स्थित राजभवन में राष्ट्रीय ध्वज फहराया, जबकि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पंचकूला में ध्वजारोहण किया और अपना शुभ संदेश दिया। इसी प्रकार, विभिन्न जिलों में मंत्रियों व राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने ध्वजारोहण किया ।
अंबाला
अंबाला में हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर ध्वजारोहण किया और परेड की सलामी ली। अम्बाला शहर स्थित पुलिस लाईन मैदान में यह राष्ट्रीय पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया गया। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री ने जिला वासियों ने नाम अपना शुभ संदेश भी दिया।  
अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा कि 1950 में आज ही के दिन हमारा संविधान लागू हुआ था। संविधान सभा के सदस्यों ने लगभग 3 वर्षों की कड़ी मेहनत के बाद यह संविधान तैयार किया। इसी संविधान की बदौलत छोटे-बड़े, अमीर-गरीब, सभी को न्याय, स्वतंत्रता और समानता का अधिकार मिला। उन्होंने कहा कि जैसा कि हम सब जानते हैं, कोविड-19 महामारी ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया है और एक दौर तो ऐसा भी आया जब अपने-आपको महाशक्ति बताने वाले देश भी इसके सामने लाचार नजर आए। लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ऊर्जावान व गतिशील नेतृत्व में भारत ने धैर्य और संयम से काम लिया और इस महामारी का डटकर मुकाबला किया। यही कारण है कि भारत में इसके संक्रमितों की मृत्यु-दर पश्चिमी देशों के मुकाबले बेहद कम रही। देश के असंख्य डॉक्टरों, नर्सों, पैरा-मेडिकल स्टाफ, पुलिस कर्मचारियों, सफाई कर्मचारियों, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं आदि ने कोरोना योद्धा के रूप में मानवता की महान सेवा की है। अब चूँकि कोरोना की वैक्सीन आ गई है, इसलिए उम्मीद है कि जल्द ही हम इस महामारी को हराने में कामयाब होंगे। उन्होंने कहा कि हम अपने शहीदों के बलिदानों का कर्ज तो नहीं चुका सकते, लेकिन उनके परिजनों को कुछ सुविधाएं देकर उनके प्रति अपनी कृतज्ञता अवश्य जता सकते हैं। प्रदेश में स्वतंत्रता सेनानियों व उनकी विधवाओं को 25 हजार रुपये मासिक पेंशन दी जाती है। वीरगति को प्राप्त होने वाले सैनिकों के परिवारों को दी जाने वाली एक्सग्रेेसिया ग्रांट 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये की गई है। भूतपूर्व सैनिकों और उनकी विधवाओं को दी जाने वाली विभिन्न प्रकार की पेंशनों में बढ़ोतरी की गई है।

उन्होंने कहा कि पूर्व उप-प्रधानमंत्री और लोकप्रिय नेता चौधरी देवीलाल जी का ‘लोकराज लोकलाज से चलता है‘ सिद्धांत भी सुशासन पर ही आधारित था। उनकी सोच दूरगामी और जमीन से जुड़ी थी। उन्होंने अपने शासनकाल में आम आदमी के हित में कई ऐसे दूरगामी निर्णय लिए, जिनका आज भी अनुसरण हो रहा है। उन्होंने घुमन्तु जातियों के स्कूल जाने वाले बच्चों के लिए एक रुपया प्रतिदिन उपस्थिति पुरस्कार के रूप में देने का अनूठा निर्णय लिया। इसी तरह, आज हमारे बुजुर्गों को जो बुढ़ापा पेंशन मिल रही है वह भी चौधरी देवीलाल जी की ही देन है । सरकार का मानना है कि सिस्टम में पारदर्शिता का अभाव भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा कारण है। सरकार ने ई-गवर्नेंस का रास्ता अपनाया है। यही कारण है कि आज प्रदेश में 41 विभागों की लगभग 550 सेवाएं और योजनाएं अंत्योदय सरल पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन उपलब्ध करवाई जा रही हैं। इससे सरकारी कामकाज में पारदर्शिता आई है, भ्रष्टाचार पर अंकुश लगा है और लोगों को अनेक सरकारी सेवाओं का लाभ घर बैठे मिलने लगा है। राज्य सरकार सूचना प्रौद्योगिकी के माध्यम से ’ईज ऑफ लीविंग’ की दिशा में काम कर रही है। वर्ष 2020 को ’सुशासन संकल्प वर्ष’ के तौर पर मनाया गया। इस साल को ’सुशासन परिणाम वर्ष’ के रूप में मनाया जा रहा है। सरकारी सेवाओं और योजनाओं का लाभ उसके सही हकदार को मिले और किसी भी लाभार्थी को दफ्तरों के चक्कर न काटने पड़ें, इसके लिए ‘मेरा परिवार-मेरी पहचान’ के नाम से एक अनूठा कार्यक्रम शुरू किया गया है। सभी तहसीलों में पारदर्शी सेवाएं सुनिश्चित करने के उद्देश्य से ई-रजिस्ट्रेशन और ई-स्टाम्प प्रणाली शुरू की गई है। भू-रिकॉर्ड को डिजिटलाइज करने के लिए तहसीलों में समेकित भू-रिकॉर्ड सूचना प्रणाली वैब हैलरिस लागू की गई है। अब भू-स्वामी किसी भी समय और कहीं पर भी अपनी सम्पत्तियों और भू-रिकॉर्ड का ब्यौरा ऑनलाइन प्राप्त कर सकेंगे। गांवों की सम्पत्ति को विषेष पहचान देने और भूमि मालिकों को मालिकाना हक देने के मकसद से गांवों को लाल डोरा मुक्त करने की योजना ’स्वामित्व’ शुरू की गई है। इस योजना के तहत प्रदेश में अब तक 411 गांवों के अलावा तीन शहरों- करनाल, जीन्द और सोहना को भी लाल डोरा-मुक्त किया जा चुका है। वर्तमान सरकार ने न केवल शहीदों, स्वतंत्रता सेनानियों और देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले वीर जवानों का मान बढ़ाया है बल्कि खेत में दिन-रात पसीना बहाकर पूरे देश का पेट भरने वाले अन्नदाता किसान की मेहनत का भी पूरा सम्मान किया है। मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के तहत 1.80 लाख रुपये वार्षिक आय या 5 एकड़ तक भूमि वाले परिवारों को 6 हजार रुपये की वार्षिक वित्तीय सहायता दी जा रही है।

कुरुक्षेत्र
हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने गणतंत्र दिवस के पावन पर्व पर प्रदेश वासियों को संदेश देते हुए कहा कि गणतंत्र दिवस के साथ देशभक्तों के त्याग, तप और बलिदान की एक लम्बी गौरव गाथा जुड़ी है। इस देश के वीरों, स्वतंत्रता सेनानियों और क्रांतिकारियों के बलिदान के कारण ही आज सभी भारतवासी खुली हवा में सांस ले रहे हैं, इन शूरवीरों के बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। इन शूरवीरों के सपनों को साकार करने के लिए हमें देश और प्रदेश की तरक्की में योगदान देना होगा। विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता मंगलवार को जिला प्रशासन द्वारा कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के प्रांगण में आयोजित जिलास्तरीय भव्य गणतंत्र दिवस समारोह में बोल रहे थे।
विधानसभा अध्यक्ष ने प्रदेश वासियों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि गणतंत्र दिवस के इस पावन पर्व पर भारत ने दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र होने का गौरव प्राप्त किया। आज से 70 वर्ष पहले 26 जनवरी 1950 को भारत ने दुनिया का सबसे बड़ा और विशेष संविधान अपनाया। विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि अमर शहीदों और क्रांतिकारियों का उद्देश्य केवल राजनीतिक स्वतंत्रता प्राप्त करना ही नहीं था बल्कि उन्होंने एक ऐसे भारत का सपना देखा था जहां गरीबी, भुखमरी, आर्थिक विषमता और अशिक्षा के लिए कोई स्थान न हो। गणतंत्र दिवस का यह पावन पर्व खुशियां मनाने के साथ-साथ आत्म-विश्लेषण करने का भी दिन है। अध्यक्ष ने केन्द्र और राज्य सरकार की तमाम योजनाओं और उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल के ओजस्वी नेतृत्व में मौजूदा सरकार सुशासन से सेवा का संकल्प लेकर आई है। राज्य सरकार ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय के दर्शन के अनुरूप सबका साथ-सबका विकास और हरियाणा एक-हरियाणवी एक के मूलमंत्र पर चलते हुए पूरे हरियाणा और प्रत्येक हरियाणवी के विकास का बीड़ा उठाया है। पिछले सवा छह सालों में जातिवाद, क्षेत्रवाद और भाई-भतीजावाद से ऊपर उठकर काम किया है। भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाते हुए पारदर्शी शासन दिया है।

यमुनानगर
यमुनानगर में 72वें गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में पुलिस लाईन, अम्बाला रोड, जगाधरी में जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह बड़ी धूमधाम व हर्षोल्लास से मनाया गया जिसमें हरियाणा के विद्युत एवं जेल मंत्री चै. रणजीत सिंह ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा परेड की सलामी ली। जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह में उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए हरियाणा के विद्युत एवं जेल मंत्री चौधरी रणजीत सिंह ने गणतंत्र दिवस की मुबारकबाद और शुभकामनाएं दी व देश की आजादी के लिए अपने प्राणों को न्योछावर करने वाले सभी ज्ञात व अज्ञात शहीदों को नमन किया। उन्होंने सभी की सुख-समृद्धि की मंगल कामना की। उन्होंने कहा कि आज के दिन बिजली सबसे बड़ी जरूरत है। राज्य सरकार सबको 24 घंटे बिजली मुहैया करवाने और ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति में सुधार के लिए प्रतिबद्ध है। मौजूदा सरकार के कार्यकाल में वितरण नेटवर्क को मजबूत करने के लिए लगभग 6772 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। म्हारा गांव-जगमग गांव्य योजना के तहत प्रदेश के 5080 से अधिक गाँवों में 24 घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है।बिजली मंत्री ने कहा कि प्रदेश में नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा को बड़े पैमाने पर बढ़ावा दिया जा रहा है। मनोहर ज्योति योजना के तहत घरों में सोलर सिस्टम लगवाने के लिए 15 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जा रही है। इसी प्रकार, ‘उजाला योजना’ के तहत 2.15 करोड़ एलईडी बल्ब बांटने का लक्ष्य निर्धारित किया गया। इसके तहत अब तक लगभग एक करोड़ 55 लाख एलईडी बल्ब, 2 लाख 13 हजार एलईडी ट्यूब तथा 60 हजार 692 पंखे वितरित किये जा चुके है, जिनसे 411 मैगावाट उर्जा की वार्षिक बचत हुई है।

गुरुग्राम
गुरुग्राम में गणतंत्र दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। प्रदेश के शिक्षा तथा वनमंत्री श्री कंवर पाल मुख्य अतिथि थे। सैक्टर 38 स्थित ताऊ देवीलाल स्टेडियम में आयोजित जिला स्तरीय समारोह में शिक्षा तथा वनमंत्री ने वन विभाग की एक नई योजना की शुरूआत भी की जिसके अंतर्गत पौधारोपण, जल संरक्षण तथा पर्यावरण विषय पर रागनी, गीत, कविता या नाटक प्रस्तुत करने वाले बच्चों को सरकार पुरस्कृत करेगी। वनमंत्री कंवर पाल ने आज के कार्यक्रम में राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय जैकमपुरा की छात्राओं द्वारा पौधारोपण तथा जल संरक्षण विषय पर प्रस्तुत की गई रागनी से प्रसन्न होकर उन छात्राओं के लिए 51 हजार रूपए की राशि के ईनाम की घोषणा करके प्रदेश में वन विभाग की नई स्कीम की विधिवत् शुरूआत की।  
देश के स्वतंत्रता सेनानियों तथा शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद दिए गए अपने संदेश में शिक्षा तथा वनमंत्री कंवर पाल ने राज्य व केंद्र सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार सूचना प्रौद्योगिकी के माध्यम से ईज ऑफ लिविंग की दिशा में काम कर रही है। इस वर्ष को सुशासन परिणाम वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में वर्तमान राज्य सरकार द्वारा किए गए कार्यों का उल्लेख करते हुए बताया कि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में 67 नए कॉलेज खोले गए हैं जिनमें से 42 कॉलेज केवल लड़कियों के लिए हैं। यही नहीं, प्रदेश में 11 नए कॉलेज खोलने की घोषणा भी पिछले रक्षाबंधन पर की गई। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 15 किलोमीटर के दायरे में एक कॉलेज होगा और शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए बड़े पैमाने पर संस्कृति मॉडल स्कूल खोले जा रहे हैं। श्री कंवर पाल ने यह भी कहा कि पैसे के अभाव में प्रतिभा दबी ना रहे इसलिए सरकार ने होनहार विद्यार्थियों को सरकारी खर्च पर कोचिंग दिलाने का बीड़ा उठाया है। विशेष रूप से सरकारी स्कूलों के होनहार विद्यार्थियों के लिए सुपर-100 कार्यक्रम शुरू किया गया है।
उन्होंने कहा कि दोहरी प्रशिक्षण प्रणाली की तर्ज पर गुरूग्राम जिला की आईटीआई ऊंचा माजरा के भवन में जापान-भारत विनिर्माण संस्थान स्थापित करने के लिए मारूति सुजुकि इंडिया लिमिटिड के साथ समझौता किया गया है। शिक्षामंत्री ने यह भी बताया कि आईटीआई पास करने वाले विद्यार्थियों को हिंदी व अंग्रेजी विषय की परीक्षा पास करने के बाद 10वीं व 12वीं की समक्षता प्रदान की जा रही है। उन्होंने प्रदेश में खेलों को प्रोत्साहन देने के लिए बढाई गई मानदेय राशि का भी अपने संबोधन में उल्लेख किया। प्रदेश में औद्योगिकिकरण की नीतियों पर बोलते हुए श्री कंवर पाल ने कहा कि उद्यमियों को एक ही छत के नीचे स्वीकृतियां प्रदान करने के लिए हरियाणा उद्यम प्रोत्साहन केंद्र की स्थापना की गई है और सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को बढावा देने के लिए अलग से एमएसएमई विभाग बनाया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि व्यापारियों के लिए मुख्यमंत्री व्यापारी सामुहिक निजी दुर्घटना बीमा योजना और मुख्यमंत्री व्यापारी क्षतिपूर्ति बीमा योजना के नाम से दो नई बीमा योजनाएं भी शुरू की गई हैं।

करनाल
करनाल में आज 72वां गणतंत्र दिवस स्थानीय एन.डी.आर.आई. के मैदान में बड़े उत्साह के साथ मनाया गया। इस अवसर पर आयोजित समारोह में प्रदेश के सहकारिता मंत्री डॉ. बनवारी लाल ने मुख्यतिथि के रूप में ध्वज फहराया और परेड की सलामी ली और निरीक्षण किया। गणतंत्र दिवस समारोह के मौके पर जिला वासियों के नाम अपने संदेश में डॉ. बनवारी लाल ने बोलते हुए कहा कि 26 जनवरी 1950 में भारतीय संविधान लागू हुआ था। संविधान की बदोलत छोटे-बड़े, अमीर-गरीब सभी को न्याय, स्वतंत्रता और समानता का अधिकार मिला। इसके लिए उन्होंने बाबा साहेब डॉ. भीम राव अम्बेडकर सहित, संविधान सभा के तमाम सदस्यों को नमन किया। उन्होंने कहा कि गणतंत्र दिवस के पावन पर्व के साथ देश भक्तों के त्याग, तप और बलिदान की लम्बी गौरव गाथा जुड़ी हुई है। आजादी और उसके बाद देश की एकता-अखण्ड़ता के लिए अपने प्राणों की बाजी लगाने वाले वीर सैनिकों को सलाम करते कहा कि हरियाणा के लोग सेना में भर्ती होना अपनी शान समझते हैं, यही कारण है कि आज भारतीय सेना का हर दसवां जवान हरियाणा से है।
मुख्यतिथि डॉ. बनवारी लाल ने आगे कहा कि गणतंत्र दिवस का पावन पर्व खुशिया मनाने के साथ-साथ आत्म विश्लेषण करने का दिन भी है। हालांकि राष्ट्र ने चौतरफा प्रगति की है, लेकिन अभी वह मुकाम हासिल करना बाकी है, जिसका सपना हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने देखा था। उन्होंने भाषण में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में विगत लगभग पौने 7 सालों में लिए गए ऐतिहासिक फैसलों का जिक्र कर कहा कि जम्मू एवं कश्मीर से अनुछेद 370 व धारा-35 (ए) को हटाकर महापुरूषों के अखण्ड भारत के सपने को पूरा किया। उन्होंने आगे कहा कि सरकार ने ई-गवर्नेंस का रास्ता अपनाकर प्रदेश में 41 विभागों की लगभग 550 सेवाएं और योजनाएं अंत्योदय सरल पोर्टल के माध्यम से ऑनलाईन उपलब्ध करवाई हैं। सूचना प्रोद्योगिकी के माध्यम से ईज ऑफ लिविंग की दिशा में काम किया जा रहा है। वर्ष 2020 सुशासन संकल्प वर्ष और वर्ष 2021 को सुशासन परिणाम वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है। युवाओं में उद्यमशीलता के गुणो को निखारने के लिए ग्रामीण क्षेत्रो में 1500 और शहरी क्षेत्रो में 500 रिटेल आउटलेट खोलने का निर्णय लिया है। अनुसूचित जाति के छात्रो को लाभ पहुंचाने के लिए अगले 5 वर्षो में 4 करोड़ से अधिक छात्रों को मैट्रिकोत्तर छात्रवृत्ति की केन्द्र प्रायोजित स्कीम बड़े और रूपांतरात्मक परिवर्तनो के साथ अनुमोदित की गई है। इस योजना के तहत केन्द्रीय मंत्रिमण्डल ने 59 हजार करोड़ रूपये के बजट का प्रावधान किया है।

भिवानी
भिवानी के भीम खेल परिसर में 72 वां गणतंत्र दिवस समारोह बड़ी धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। प्रदेश के परिवहन तथा कौशल विकास मंत्री मूलचंद शर्मा मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। मुख्य अतिथि श्री शर्मा ने राष्ट्रगान की धुन के साथ राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इससे पहले उन्होंने भीम खेल परिसर में ही बनाए गए शहीद स्मारक पर पुष्प चक्र अर्पित कर देश की आजादी के लिए अपने प्राणों का न्यौछावर करने वाले अमर शहीदों को नमन किया।
अपने संबोधन में शर्मा ने कहा कि हरियाणा देश का पहला राज्य है, जहां बेरोजगार युवाओं को 100 घण्टे का काम देने के लिए ’सक्षम युवा’ योजना शुरू की गई है। युवाओं के कौशल विकास के लिये ‘हरियाणा कौशल विकास मिशन’ बनाया गया है। जिला पलवल के गांव दुधोला में श्री विश्वकर्मा कौशल विकास विश्वविद्यालय स्थापित किया जा रहा है। यह विश्वविद्यालय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ’कौशल भारत’ और ’आत्मनिर्भर भारत’ अभियान को आगे बढ़ाने में मील का पत्थर साबित होगा। प्रदेश में 172 सरकारी तथा 242 निजी आईटीआई द्वारा युवाओं के कौशल विकास का कार्य किया जा रहा है। खिलाडियों को श्रेणी-एक से चतुर्थ श्रेणी तक के पदों की सीधी भर्ती में आरक्षण दिया गया है। नए पुरस्कार शुरू किए हैं और पुरस्कार राशि में बढ़ोतरी की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए अलग से एम.एस.एम.ई. विभाग का गठन किया गया है। राज्य सरकार प्रदेश में सडक, रेल और मेट्रो के विस्तार पर विशेष बल दे रही है। मौजूदा सरकार के कार्यकाल में प्रदेश में 1070 किलोमीटर लंबे 17 राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित किए गए हैं। केन्द्रीय मंत्रिमंडल से 5617 करोड़ रुपये की लागत से 121 किलोमीटर लंबे हरियाणा ऑर्बिटल रेल कॉरिडोर प्रोजेक्ट को मंजूरी मिल चुकी है। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि हरियाणा रोडवेज की सेवाओं में प्रदेश के वरिष्ठ नागरिकों को राज्य की सीमा के अन्दर बस किराये में दी जा रही 50 प्रतिशत छूट को बढ़ाकर अन्य राज्यों के गन्तव्य स्थान तक कर दिया गया है। कैंसर पीडित के एक सहयोगी को भी मुफ्त यात्रा सुविधा दी जा रही है। यात्रियों की सुरक्षा के लिहाज से प्रदेश के सभी बस अड्डों और 450 बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। सडक हादसों को कम करने के  लिए राज्य सडक सुरक्षा परिषद् तथा जिला सडक सुरक्षा समितियों का पुनर्गठन किया गया है। हरियाणा रोडवेज द्वारा भी 22 चालक प्रशिक्षण स्कूल चलाए जा रहे हैं। चालक प्रशिक्षण संस्थानों में हर तीन वर्षों के बाद चालकों के लिए रिफ्रेशर पाठ्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं।

रेवाडी
रेवाड़ी के राव तुलाराम स्टेडियम में मंगलवार को 72वां गणतंत्रता दिवस समारोह बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर प्रदेश के कृषि मंत्री श्री जेपी दलाल ने राष्ट्रीय ध्वज फहराकर परेड की सलामी ली। कृषि मंत्री ने अपने संदेश में कहा कि इस पावन पर्व पर मैं सभी प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई देता हूँ और आप सभी के सुख-समृद्धि की मंगल कामना करता हूँ। उन्होंने कहा कि आज ऐतिहासिक नगर रेवाड़ी में अपना प्यारा तिरंगा फहराकर मुझे बेहद खुशी हो रही है और मैं स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करता हूँ।
 
कृषि मंत्री ने कहा कि देश की आजादी के आंदोलन में हरियाणावासियों ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया। हरियाणा के लोग आज भी सेना में भर्ती होना अपनी शान समझते हैं। आज भी रेवाड़ी के इलाके से 24 हजार से भी ज्यादा सैनिक हमारी सेनाओं में हैं। यही कारण है कि आज भारतीय सेना का हर दसवां जवान हरियाणा से है। सन् 1962 की रेजांगला शौर्य गाथा देश की रक्षा की अमर कहानी कहती है। अहीरवाल के इस इलाके के कण-कण में हमारे वीरों की कुर्बानियों के किस्से समाये हुए हैं।   उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के ओजस्वी नेतृत्व में मौजूदा सरकार ‘सुशासन से सेवा का संकल्प’ लेकर आई है। राज्य सरकार ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय के दर्शन के अनुरूप ‘सबका साथ-सबका विकास’ और ‘हरियाणा एक-हरियाणवी एक’ के मूलमंत्र पर चलते हुए पूरे हरियाणा और प्रत्येक हरियाणवी के विकास का बीड़ा उठाया है। राज्य सरकार सूचना प्रौद्योगिकी के माध्यम से ’ईज ऑफ लीविंग’ की दिशा में काम कर रही है। वर्ष 2020 को ’सुशासन संकल्प वर्ष’ के तौर पर मनाया गया। अब वर्ष 2021 को ’सुशासन परिणाम वर्ष’ के रूप में मनाया जा रहा है। सरकारी सेवाओं और योजनाओं का लाभ उसके सही हकदार को मिले और किसी भी लाभार्थी को दफ्तरों के चक्कर न काटने पड़ें, इसके लिए ‘मेरा परिवार-मेरी पहचान’ के नाम से एक अनूठा कार्यक्रम शुरू किया गया है। सभी तहसीलों में पारदर्शी सेवाएं सुनिश्चित करने के उद्देश्य से ई-रजिस्ट्रेशन और ई-स्टाम्प प्रणाली शुरू की गई है।
श्री जय प्रकाश दलाल ने कहा कि वर्तमान सरकार ने न केवल शहीदों, स्वतंत्रता सेनानियों और देश की सीमाओं की रक्षा करने वाले वीर जवानों का मान बढ़ाया है बल्कि खेत में दिन-रात पसीना बहाकर पूरे देश का पेट भरने वाले अन्नदाता किसान की मेहनत का भी पूरा सम्मान किया है। मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के तहत 1.80 लाख रुपये वार्षिक आय या 5 एकड़ तक भूमि वाले परिवारों को 6 हजार रुपये की वार्षिक वित्तीय सहायता दी जा रही है। ग्रामीण आंचल के हर घर में पानी पहुंचाने के लिए जल जीवन मिशन के तहत ’हर घर नल से जल’ योजना शुरू की गई है।

नारनौल(महेन्द्रगढ़)
नारनौल में 72वां गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया गया। पुलिस लाईन मैदान मे आयोजित जिलास्तरीय समारोह में हरियाणा विधानसभा उपाध्यक्ष रणबीर गंगवा ने मुख्यातिथि के तौर पर तिरंगा फहराया तथा परेड का निरीक्षण किया व मार्च पास्ट की सलामी ली। गणतंत्र दिवस की बधाई देते हुए अपने शुभ संदेश में मुख्यातिथि श्री गंगवा ने कहा कि देश की आजादी के लिए अपने प्राणों को न्योछावर करने वाले सभी ज्ञात-अज्ञात शहीदों के साथ-साथ उन जांबाज सैनिकों को भी सलाम करता हूं जिन्होंने आजादी के बाद देश की एकता-अखंडता के लिए अपने प्राणों की बाजी लगा दी। उन्होंने कहा कि सन 1950 में आज ही के दिन हमारा संविधान लागू हुआ था। आज बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर समेत संविधान सभा के तमाम सदस्यों को नमन करने का दिन भी है। उपाध्यक्ष ने कहा कि गणतंत्र दिवस के इस पावन पर्व के साथ हमारे देशभक्तों के त्याग, तप और बलिदान की एक लंबी गौरवगाथा जुड़ी हुई है। शहीद भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव, चंद्रशेखर आजाद और उधम सिंह जैसे क्रांतिकारियों के बलिदानों के कारण ही आज हम आजादी की खुली हवा में सांस ले रहे हैं।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने पिछले लगभग पौने सात सालों में कई ऐतिहासिक फैसले लिए हैं, जिससे दुनियाभर में भारत का गौरव और प्रतिष्ठा बढ़ी है। केंद्र सरकार ने जम्मू एवं कश्मीर से अनुच्छेद-370 व धारा 35-ए को हटाकर कश्मीर से कन्याकुमारी तक अखंड भारत के हमारे महापुरुषों के सपने को पूरा करने का काम किया है। इसी तरह प्रधानमंत्री ने अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर की आधारशिला रखकर करोड़ों देशवासियों की आस्था को मजबूती देने का काम किया है। हरियाणा विधानसभा उपाध्यक्ष ने कहा कि कोविड-19 महामारी ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया है और एक दौर तो ऐसा भी आया जब अपने-आपको महाशक्ति बताने वाले देश भी इसके सामने लाचार नजर आए। लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ऊर्जावान व गतिशील नेतृत्व में भारत ने धैर्य और संयम से काम लिया और इस महामारी का डटकर मुकाबला किया। यही कारण है कि भारत में इसके संक्रमितों की मृत्यु-दर पश्चिमी देशों के मुकाबले बेहद कम रही। देश के असंख्य डॉक्टरों, नर्सों, पैरा-मेडिकल स्टाफ, पुलिस कर्मचारियों, सफाई कर्मचारियों, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं आदि ने कोरोना योद्धा के रूप में मानवता की महान सेवा की है। अब चूंकि कोरोना की वैक्सीन आ गई है, इसलिए उम्मीद है कि जल्द ही हम इस महामारी को हराने में कामयाब होंगे।

फरीदाबाद
हरियाणा के पुरातत्व एवं संग्रहालय राज्य मंत्री अनूप धानक ने कहा कि आज हम देश का 72वां गणतंत्र दिवस मना रहे हैं। आज के इस पावन अवसर पर इस बार मैं कोरोना योद्धाओं का सबसे बड़ा शुक्रगुजार हूं और हम सभी उन्हें नतमस्तक हैं। वह मंगलवार को सेक्टर-12 के हैलीपैड मैदान में जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह में ध्वजारोहण करे के उपरांत अपना संदेश दे रहे थे। इस दौरान उन्होंने परेड का निरीक्षण किया और मार्च पास्ट की सलामी भी ली। इससे पहले उन्होंने टाउन पार्क स्थित जिलास्तरीय युद्ध स्मारक पर जाकर शहीदों को श्रद्धांजलि भी अर्पित की।
उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया है। एक दौर तो ऐसा भी आया जब अपने-आपको महाशक्ति बताने वाले देश भी इसके सामने लाचार नजर आए लेकिन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ऊर्जावान व गतिशील नेतृत्व में भारत ने धैर्य और संयम से काम लिया और इस महामारी का डटकर मुकाबला किया।  देश के असंख्य डॉक्टरों, नर्सों, पैरा-मेडिकल स्टाफ, पुलिस कर्मचारियों, सफाई कर्मचारियों, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं आदि ने कोरोना योद्धा के रूप में मानवता की महान सेवा की है।  उन्होंने कहा कि आजादी की लड़ाई में हरियाणा का अहम योगदान रहा है। सन् 1857 की क्रांति सबसे पहले अंबाला छावनी से ही शुरू हुई थी। हरियाणा के लोग आज भी सेना में भर्ती होना अपनी शान समझते हैं। यही कारण है कि आज भारतीय सेना का हर दसवां जवान हरियाणा से है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के ओजस्वी नेतृत्व में मौजूदा सरकार ‘सुशासन से सेवा का संकल्प’ लेकर आई है।

झज्जर
झज्जर में आज 72वें गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन झज्जर के जहांआरा बाग स्टेडियम में देशभक्ति से सराबोर कार्यक्रम के साथ गरिमामयी ढंग से हुआ। समारोह में हरियाणा सरकार में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री ओमप्रकाश यादव ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया और परेड का निरीक्षण करते हुए मार्च पास्ट की सलामी ली।  
राष्ट्रीय ध्वज फहराने के साथ ही परेड का निरीक्षण कर मार्च पास्ट की सलामी लेने उपरांत मुख्यातिथि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ओमप्रकाश यादव ने झज्जरवासियों के नाम अपना संदेश रखा। उन्होंने कहा कि आज ऐतिहासिक नगर झज्जर में देश की आन-बान-शान का प्रतीक तिरंगा फहराकर वे गर्व एवं हर्ष का अनुभव कर रहे हैं। उन्होंने संदेश में कहा कि गणतंत्र दिवस के इस पावन पर्व के साथ देशभक्तों के त्याग, तप व बलिदान की लंबी गौरवगाथा जुड़ी हुई है। भारत के स्वाभिमान और स्वाधीनता के प्रतीक गणतन्त्र दिवस के इस पावन अवसर पर देश की आजादी एवं सुरक्षा के लिए अपने प्राणों को न्यौछावर करने वाले सभी ज्ञात व अज्ञात शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर के नेतृत्व में बनाये गए संविधान से भारत के प्रत्येक नागरिक को बराबरी का अधिकार प्राप्त हुआ है।
सामाजिक न्याय मंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी के दौर में देश में जिस सजगता के साथ कोरोना से बचाव के कदम उठाए हैं वह सराहनीय हैं। देश में राष्ट्रहित की सोच के साथ केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा जनहितकारी फैसलों को लागू करते हुए देश की एकता व अखंड़ता को बनाए रखने का संदेश निरंतर दिया जा रहा है। उन्होंने केंद्र सरकार के साथ ही प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की कुशल कार्यशैली की भी सराहना मुख्य मंच से की।

नूंह
नूंह के यासीन मेव डिग्री कालेज में आज गणतंत्र दिवस बडे ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर मुख्यातिथि महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री श्रीमती कमलेश ढांडा ने राष्ट्रीय ध्वज फहराकर परेड की सलामी ली व मार्च पास्ट का निरीक्षण किया। श्रीमति कमलेश ढांडा ने अपने संबोधन में कहा कि मेवात की इस पावन भूमि पर तिरंगा फहराकर मुझे बड़े गर्व एवं खुशी की अनुभुति हो रही है।उन्होंने कहा कि देश की आजादी के लिए अपने प्राणों को न्यौछावर करने वाले सभी ज्ञात व अज्ञात शहीदों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करती हूँ। उन बहादुर सैनिकों को भी नमन करती हूँ, जिन्होंने आजादी के बाद देश की एकता व अखण्डता को बनाए रखने और देश की सीमाओं की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्योछावर कर दिए।
 
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने समाज के पिछड़े और कमजोर तबकों के लोगों के सामाजिक-आर्थिक और शैक्षणिक उत्थान के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। ‘मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना’ के तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाली सभी वर्गों की बेटियों की शादी में 51 हजार रुपये तक का शगुन दिया जाता है। महिलाओं के सामाजिक, आर्थिक और शैक्षणिक विकास के लिए ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ‘, सुकन्या समृद्धि योजना, ’आपकी बेटी-हमारी बेटी’, ’महिला एवं किशोरी सम्मान योजना’, ’मुख्यमंत्री दूध उपहार योजना’ और ‘प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना’ जैसी कई योजनाएं शुरू की गई हैं। इसी तरह, 9वीं से 12वीं कक्षा तक की छात्राओं के लिए शिक्षा संस्थानों तक सुरक्षित आवागमन हेतु ’छात्रा सुरक्षित परिवहन’ योजना चलाई जा रही है।        

 पानीपत
हरियाणा के मुख्य सचिव श्री विजय वर्धन ने मंगलवार को स्थानीय शिवाजी स्टेडियम में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि ध्वजारोहण किया और मार्च पास्ट में भाग लेने वाली टुकडियों, उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली विभिन्न विभागों की झांकियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया। इस मौके पर उन्होंने विभिन्न समाज सेवी संस्थाओं, अच्छा कार्य करने वाले नागरिकों, खेल में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाडियों व अन्य क्षेत्रों में अच्छा प्रदर्शन करने वाले नागरिकों तथा गैलन्ट्री अवार्डियों को प्रशंसा प्रत्र देकर सम्मानित किया। मुख्य सचिव विजय वर्धन ने अपने सम्बोधन में जिला वासियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि गणतंत्र दिवस के इस पावन पर्व के साथ हमारे देशभक्तों के त्याग, तप और बलिदान की एक लम्बी गौरवगाथा जुड़ी हुई है। देश को आजादी दिलाने के लिए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, लाला लाजपत राय, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस, डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, पण्डित जवाहरलाल नेहरू, सरदार वल्लभभाई पटेल और डॉ. भीमराव अम्बेडकर जैसे अनेक महान स्वतंत्रता सेनानियों ने कड़ा संघर्ष किया। शहीद भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव, चंद्रशेखर आजाद और उधम सिंह जैसे क्रांतिकारियों के बलिदानों के कारण ही आज हम आजादी की खुली हवा में सांस ले रहे हैं।
उन्होंने कहा कि पानीपत सूफी-संतो की धरती है। जहां तीन ऐतिहासिक युद्ध लड़े गए और मराठों के बलिदान की धरती है। पानीपत की धरा बू-अलीशाह कलन्दर और महान उर्दू शायर अल्ताफ हुसैन हॉली की धरती है। उन्होंने कहा कि पानीपत हरियाणा के अग्रणी जिला में से एक है और उन्होंने इसे गंगा-यमुना तहजीब का संगम बताया। उन्होंने कहा कि जैसा कि आप सब जानते हैं, कोविड-19 महामारी ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया है और एक दौर तो ऐसा भी आया जब अपने-आपको महाशक्ति बताने वाले देश भी इसके सामने लाचार नजर आए। लेकिन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ऊर्जावान व गतिशील नेतृत्व में भारत ने धैर्य और संयम से काम लिया और इस महामारी का डटकर मुकाबला किया। यही कारण है कि भारत में इसके संक्रमितों की मृत्यु-दर पश्चिमी देशों के मुकाबले बेहद कम रही। देश के असंख्य डॉक्टरों, नर्सों, पैरा-मेडिकल स्टाफ, पुलिस कर्मचारियों, सफाई कर्मचारियों, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं आदि ने कोरोना योद्धा के रूप में मानवता की महान सेवा की है। अब चूँकि कोरोना की वैक्सीन आ गई है, इसलिए उम्मीद है कि जल्द ही हम इस महामारी को हराने में कामयाब होंगे।

अन्य जिला व उपमण्डल
इसके अलावा, रोहतक मण्डल के आयुक्त ने जिला सोनीपत में, हिसार मण्डल के आयुक्त ने जिला हिसार में और फरीदाबाद मण्डल के आयुक्त ने पलवल में राष्ट्रीय ध्वज फहराया और अपना शुभ संदेश दिया। वहीं, जिला फतेहाबाद, रोहतक, कैथल, जींद, चरखी-दादरी और सिरसा के उपायुक्तों ने अपने-अपने जिला में ध्वजारोहण किया और संदेश दिया। इसके अतिरिक्त, राज्य के अन्य स्थानों में भी गणतंत्र दिवस बड़े ही हर्षोल्लास व उत्साह के साथ आयोजित किया गया और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए।

Related posts

फरीदाबाद:मेवला महाराजपुर और सेहतपुर में गर्भपात करने वाली किट सहित दो आरोपितों को किया पुलिस के हवाले

Ajit Sinha

फरीदाबाद: पंकज सिंगला बने हरियाणा किसान मोर्चा भाजपा के प्रदेश आईटी प्रमुख

Ajit Sinha

फरीदाबाद: डिप्टी सीएम दुष्यंत की अध्यक्षा में आयोजित ग्रीवेश कमेटी में छाया रहा ग्रीन फिल्ड का मुद्दा,लिए गए महत्वपूर्ण फैसले।

Ajit Sinha
//ufiledsit.com/4/2220576
error: Content is protected !!