Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद

फरीदाबाद : निगम के संयुक्त तत्वावधान में आज सैक्टर-12 के हुडा कन्वैंशन सैन्टर के सभागार में जागृति अभियान कार्यक्रम आयोजित किया गया।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
फरीदाबाद: फरीदाबाद को देश का भावी स्मार्ट सिटी बनाने व  स्वच्छता अभियान में सहयोग देने के अन्तर्गत किचन वेस्ट से बायोगैस का उत्पादन फरीदाबाद नगर निगम के सहयोग से करने की कड़ी में इण्डियन आॅयल कारपोरेशन लिमिटिड (अनुसंधान एवं विकास केन्द्र, फरीदाबाद) द्वारा निगम के संयुक्त तत्वावधान में आज यहां स्थानीय सैक्टर-12 स्थित हुडा कन्वैंशन सैन्टर के सभागार में जागृति अभियान कार्यक्रम आयोजित किया गया। संस्थान के निदेशक (आर एण्ड डी) डा. एसएसवी रामाकुमार इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित हुए। नगर निगम की महापौर सुमन बाला ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। वरिष्ठ उपमहापौर देवेन्द्र चैधरी, उपमहापौर मनमोहन गर्ग व भाजपा के जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे।
डा. रामाकुमार ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि उनका संस्थान उपायुक्त समीरपाल सरो के साथ जिला प्रशासन के सभी प्रकार के अभियानों को सफल बनाने के लिए भरपूर सहयोग करने के लिए कंधे से कंधा मिलाकर कार्य करने को तत्पर है। इसी कड़ी में रसोई के जैविक अपशिष्ट का ऊर्जा में रूपान्तरण करने के लिए संस्थान की ओर से अनूठी बायो-मिथेनेशन तकनीक इजाद की गई है। भारत की आर्थिक वृद्धि के कारण जैविक कचरे के उत्पादन में बढ़ोत्तरी हो रही है। सुरक्षित पर्यावरण की दृष्टि से इतनी बड़ी मात्रा में कचरे का निपटान या उपयोग भारत सरकार द्वारा शुरू किए गए स्वच्छ भारत-स्वस्थ भारत अभियान के उद्देश्य को पूरा करने के लिए जरूरी है। एक कुशल बायो प्रोसैस के जरिए इसे उपयोगी ऊर्जा में परिवर्तित करना आज के समय की मांग है।
उन्होंने कहा कि औद्योगिक और घरेलू कचरे, फसल अपशिष्ट, नगर निगम अवशेष और रसोई का कचरा आदि बायो-मिथेनेशनल तकनीक के माध्यम में ऊर्जा के उत्पादन के स्रोत हैं। इसमें न केवल अवांच्छनीय हानिकारक अपशिष्टों का उन्मूलन किया जा सकता है बल्कि यह जैव मिथेन के उत्पादन के लिए एक अच्छा स्रोत हो सकता है जिसका प्रयोग रसोई गैस के रूप में या बिजली उत्पादन के लिए किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि उनके संस्थान के द्वारा फरीदाबाद नगर निगम के सहयोग से यहां पर लगाए जाने वाला इस प्रकार का देश में यह पहला संयंत्र होगा। डा. कुमार ने इस सम्बन्ध में जिला प्रशासन व नगर निगम प्रशासन को भरपूर सहयोग देने का आश्वासन दिया।
महापौर सुमन बाला ने कहा कि संस्थान द्वारा इस प्रकार का सहयोग देने के फलस्वरूप हमारे परम्परागत ऊर्जा संसाधन काफी लम्बे समय तक सुरक्षित रह सकेंगे। घरों के अलावा होटल, रैस्टोरेंट व अस्पतालों आदि के वेस्ट से इस प्रकार का प्लांट लगाने से ड्रेनेज व सीवरेज के जाम की समस्या पर भी रोक लगेगी और प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान को सफल बनाने में भी आसानी होगी। वरिष्ठ उपमहापौर देवेन्द्र चैधरी ने कहा कि आईओसी द्वारा उठाया गया यह एक सराहनीय कदम है और अच्छी पहल है। इससे फरीदाबाद स्मार्ट सिटी की मुहिम को तेजी से आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार भी मुख्यमंत्री मनोहर लाल के कुशल मार्गदर्शन में कचरा प्रबन्धन बारे योजनाबद्ध तरीके से कार्य कर रही है। जिसके फलस्वरूप बंधवाड़ी कचरा प्रबन्धन प्लांट से निकट भविष्य में ही अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे।

Related posts

फरीदाबाद: 12 वर्षीय लड़के को अपहरण कर ₹50000 की फिरौती मांगने वाले एक महिला सहित तीन आरोपी अरेस्ट 

Ajit Sinha

फरीदाबाद पुलिस प्रशासन द्वारा सूरजकुंड हस्तशिल्प मेले में डिजास्टर मनेजमेंट व बेसिक लाइव स्पोर्ट वर्कशॉप का आयोजन किया गया।

Ajit Sinha

चंडीगढ़: नागरिक अस्पतालों में मरीजों को मिलेगी लम्बी लाइनों से निजात, “स्वस्थ हरियाणा”ऐप किया लांच – अनिल विज

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//whazunsa.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x