Athrav – Online News Portal
अपराध फरीदाबाद

फरीदाबाद क्राइम ब्रांच, सेक्टर -30 ने एनआईटी के एक मकान में छापा कर अवैध रूप से कैसिनों खेलते हुए छह लोगों को किया अरेस्ट

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच, सेक्टर- 30 ने आज एनआईटी के एक मकान में अवैध रूप से चलाए जा रहे कैसिनों का भंडाफोड़ किया हैं।पुलिस टीम ने मौके से खुलेआम कैसिनों खेल रहे छह लोगों को धर दबोचा। इनके कब्जे से पुलिस ने 48000 रूपए कीमत की 240 कैसिनों कॉइन, 15380 कैश व 104 प्लेइंग कार्ड बरामद किए हैं। गिरफ्तार किए गए 6 आरोपित के नाम गुलशन, राजेश, दिविक उर्फ बिट्टू, करण, पारस, वरुण हैं यह सभी एनआईटी इलाके के रहने वाले हैं। यह जानकारी एसीपी श्रीमती धारणा यादव ने दी हैं। 

एसीपी श्रीमती धारणा यादव ने पत्रकारों को बताया कि क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 प्रभारी इंस्पेक्टर विमल राय को सूचना मिली थी कि एनआईटी नंबर- 5 में एक घर में टोकन के आधार पर जुआ खेला जा रहा है। इस सूचना को गंभीरता से लेते हुए क्राइम ब्रांच प्रभारी विमल राय ने तुरंत एक विशेष टीम गठित की और उस टीम को मुखबिर द्वारा बताए गए एनआईटी -5 के उस मकान मैं छापा मारा और मौके से उनकी टीम ने धर दबोचा। उनका कहना हैं कि छापेमारी के दौरान पकडे गए सभी छह लोग जुआ खेल रहे थे। उनका कहना हैं कि छापे मार टीम ने मौके से इनके कब्जे से ₹48000 रुपए कीमत की 240 कैसीनो कॉइन, 15380 रुपए कैश, 104 प्लेइंग कार्ड बरामद किए हैं। गिरफ्तार आरोपित राजेश मुख्य आरोपित है, जोकि अपने घर में जुआ खिलाने का काम करता है।

पूछताछ में मुख्य आरोपित राजेश ने बतलाया कि वह  अपने मकान एनआईटी -5 में अवैध रूप से कसीनो चला रहा था जो मै खेलने वाले फन्टर (खिलाड़ी) को दिन में ही कोइंस बेच देता था, जिनकी कीमत 100 रूपए से 2000 रूपए तक होती है। रात को खेलते समय सभी खिलाड़ी अपने-अपने कोइंस को लेकर मेरे घर में इकठा हो जाते थे और जो नहीं आ पाते थे। वह व्हाट्स एप व मोबाइल काल के जरिये खेल की ऑनलाइन बोली लगाते थे।
आरोपित  ने बताया कि टोकन हार जाने या जीत जाने पर अगले दिन ही हिसाब कर देता था। इस दौरान कई बार फ़ार्म हाउस,होटल का कमरा इत्यादि बुक करवाया जाता था, ताकि पुलिस को इस काम की भनक ना लगे। इसके लिए हर सप्ताह अलग- अलग जगह का चुनाव किया जाता था जिसकी लोकेशन खिलाडियों के पास व्हाट्स एप ग्रुप पर भेज दी जाती थी। सभी आरोपितों के खिलाफ थाना एनआईटी में जुआ अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया हैं। 

Related posts

प्राइवेट अस्पतालों में कुछ प्रतिशत बैड कोविड-19 पाजीटिव सीरियस केसों के लिए रिजर्व रखें: डीसी

Ajit Sinha

फरीदाबाद: हरियाणा की पुनर्वास की पॉलिसी को लेकर पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट में कल सुनवाई होगी

Ajit Sinha

लुटेरों के गैंग का पर्दाफ़ाश, चार शातिर लुटेरे गिरफ्तार, लूट के 27 मोबाइल और चोरी एक स्कूटी और मोटर साइकिल बरामद

Ajit Sinha
//grunoaph.net/4/2220576
error: Content is protected !!