Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद राजनीतिक हरियाणा

बदलाव की शुरुआत हो चुकी है, ये तो ट्रेलर है, पिक्टर बाकी है- भूपेंदर सिंह हुड्डा

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
फरीदाबाद: फरीदाबाद में आज ‘विपक्ष आपके समक्ष’ कार्यक्रम के पांचवें पड़ाव पर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने बीजेपी-जेजेपी सरकार के खिलाफ जोरदार हुंकार भरी। इस मौके पर भारी भीड़ से गदगद पूर्व मुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि ‘विपक्ष आपके समक्ष’ कार्यक्रम को जनता की हाजिरी ने रैली में तब्दील कर दिया है। क्योंकि आज फरीदाबाद समेत पूरे हरियाणा की जनता बिजली संकट से परेशान है। इसलिए यह कार्यक्रम भी बिजली संकट विरोधी रैली में बदल गया है। अपने संबोधन की शुरुआत में भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने सबसे पहले सभी को मजदूर दिवस की शुभकामनाएं दी और कहा कि श्रमिक और किसान दो ऐसे वर्ग हैं जिन्होंने देश का विकास किया है।

कोरोना काल में भी यही दोनों वर्ग अपने काम पर लगे रहे, नहीं तो देश ठप हो जाता। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि मजदूर और किसानों के लिए हमेशा आवाज उठाएं और उनकी समस्याओं के लिए के निदान की खातिर संघर्ष करें। साथ ही उन्होंने ईद की भी अग्रिम बधाई भी दी। हुड्डा ने चौधरी उदयभान को हरियाणा कांग्रेस का अध्यक्ष बनाने के लिए पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि हाईकमान ने एक कर्मठ , मेहनती और जमीन से जुड़े नेता को प्रदेश कांग्रेस की कमान सौंपी है। इस मौके पर हुड्डा ने प्रदेश की बीजेपी-जेजेपी गठबंधन सरकार को हर मोर्चे पर विफल करार दिया। उन्होंने कहा कि सरकार की अदूरदर्शिता के चलते आज हरियाणा की जनता को बिजली संकट का सामना करना पड़ रहा है। जबकि कांग्रेस कार्यकाल के दौरान उन्होंने प्रदेश में 4 पावर प्लांट और एक न्यूक्लियर प्लांट स्थापित किया था।

हरियाणा में बिजली की उपलब्धता को उन्होंने 4 हजार से 11 हजार मेगावाट तक पहुंचाया था। आज भी हरियाणा को अधिकतम 8000-8500 मेगावाट बिजली की ही आवश्यकता है। लेकिन मौजूदा सरकार 8 साल बाद भी प्रदेशवासियों को बिजली मुहैया नहीं करवा पा रही। ऐसा इसलिए क्योंकि दूरदर्शिता के अभाव में सरकार ने हरियाणा के हिस्से की झाड़ली प्लांट से मिलने वाली 750 मेगावाट बिजली दिल्ली को दे दी। नये पावर प्लांट लगाना तो दूर पहले से स्थापित पावर प्लांट से भी उत्पादन करना बंद कर दिया। सरकार को बिजली की समस्या पर श्वेत पत्र जारी करना चाहिए, ताकि लोगों को सच पता चल सके। सरकार बिजली संकट का समाधान करे, नहीं तो कांग्रेस सड़कों पर उतरकर उसका विरोध करेगी।  पूर्व मुख्यमंत्री ने याद दिलाया कि 2005 से पहले हरियाणा में स्थिति ऐसी थी कि प्रदेश के विद्यार्थियों को पढ़ने और प्रोफेशनल कोर्स करने के लिए अन्य प्रदेशों में जाना पड़ता था। हमने हरियाणा को शिक्षा का हब बनाने की ठानी और देश व दुनिया के बेहतरीन विश्वविद्यालय, कॉलेज और उच्च शिक्षण संस्थानों को हरियाणा में स्थापित किया। मुख्यमंत्री रहते हुए उन्होंने अनुभव किया था कि जिस देश के खिलाड़ी अच्छे होते हैं, वो देश तरक्की करते हैं। इसलिए उन्होंने हरियाणा को खेलों का हब बनाने के लिए नीति बनाई, जो सफल साबित हुई। ओलंपिक व अन्य खेल प्रतियोगिताओं में हरियाणा के खिलाड़ियों की उपलब्धियां इसका प्रमाण है। उनके कार्यकाल में हरियाणा विकास के हर पैमाने पर अव्वल था। लेकिन बीजेपी और जेजेपी ने 8 साल में प्रदेश की ऐसी स्थिति बना दी है कि आज स्कूलों में टीचर, अस्पतालों मे डॉक्टर, सरकारी दफ्तरों में कर्मचारी और विकास के लिए खजाने में पैसे तक नहीं हैं। मौजूदा सरकार ने प्रदेश को करीब 3 लाख करोड़ के कर्ज तले दबा दिया है। क्योंकि यह सरकार चार्वाक की नीति पर चल रही है, जो कहती है ‘कर्ज लो, घी पियो’। लेकिन अब हरियाणा की जनता यह सब बर्दाश नहीं करेगी। जनसभा में मौजूद लोगों की भावना और उनके चेहरे के उत्साह को देखकर उनका दावा है कि हरियाणा में बदलाव की शुरुआत हो चुकी है, हरियाणा करवट ले चुका है। यह तो सिर्फ ट्रेलर है, आने वाले दिनों में हरियाणा पूरी फिल्म देखेगा।  नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष चौधरी उदयभान ने कार्यक्रम के मंच से नयी जिम्मेदारी मिलने पर कांग्रेस हाईकमान और भूपेंद्र सिंह हुड्डा का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि यहां से बदलाव की जो हवा चली है, वह तीन चौथाई बहुमत के साथ प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाकर ही रुकेगी। प्रदेश के बिजली संकट के लिए उन्होंने बीजेपी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि सरकार ने झाड़ली प्लांट से हरियाणा को मिलने वाली 750 मेगावाट बिजली को सरेंडर कर दी। अडानी ग्रुप के साथ 2.94 रुपये प्रति यूनिट में 1424 मेगावाट बिजली लेने का जो समझौता हुआ था, वह बिजली लेने में भी सरकार नाकाम रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि हरियाणा की गठबंधन सरकार ने हरियाणा की बिजली मुफ्त में गुजरात को दे दी। सरकार को समझना चाहिए कि बिजली संकट सिर्फ बिजली तक सीमित नहीं है, इसकी वजह से पानी का संकट भी खड़ा हो गया है। आज पानी के लिए भी हरियाणा में हाहाकार मचा हुआ है। उन्होंने सरकार को चेतावनी दी कि वह वक्त रहते सुधर जाए और अपनी नीतियों को बदले। निजीकरण की नीति पर चल रही सरकार गरीब, वंचित, पीड़ित , शोषित , दलित और पिछड़ों के आरक्षण को निगल रही है। भूपेंद्र सिंह हुड्डा के नेतृत्व में कांग्रेस इस सरकार को उखाड़ फेंकने का काम करेगी। राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने भी बिजली संकट पर बोलते हुए कहा कि समझ नहीं आ रहा आज बिजली में कट है या कट में बिजली है। बिजली और सड़क जैसी आधारभूत सुविधाओं के लिए भी लोग तरस रहे हैं। फरीदाबाद में सड़कों को इस कदर उधेड़ रखा है कि बस तो क्या बाइक निकालना भी मुश्किल है। बीजेपी ने फरीदाबाद नगर निगम को ‘नरक निगम’ बना दिया है। जहां-तहां कूड़े के ढेर लगे हुए हैं और लोगों को पानी तक खरीदकर पीना पड़ रहा है। इन सब के बीच नगर निगम में 200 करोड़ रुपए के घोटाले को अंजाम दे दिया गया। दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि बीजेपी ने फरीदाबाद को फकीराबाद बनाने का काम किया है। इस सरकार ने पूरे प्रदेश को विकास की पटरी से उतार दिया। हुड्डा सरकार के दौरान फरीदाबाद में 700 करोड़ रुपए की लागत से ईएसआई मेडिकल कॉलेज बनाया गया, इसी दौरान बदरपुर फ्लाईओवर का निर्माण हुआ, मेट्रो आई, फोरलेन सड़क बनी , आईएमटी पृथला की स्थापना की गई। लेकिन पिछले 8 साल में बीजेपी ने फरीदाबाद में कूड़े के ढेर और सड़कों में गड्ढे करने के अलावा कुछ नहीं किया। सांसद दीपेंद्र ने कहा कि हुड्डा सरकार के दौरान जो हरियाणा विकास, खुशहाली, प्रति व्यक्ति आय, निवेश, खेल-खिलाड़ी और बुजुर्गों के मान-सम्मान में पहले नंबर पर था, उस हरियाणा को बीजेपी ने बेरोजगारी, महंगाई, अपराध, बिजली कट और भ्रष्टाचार में पहले नंबर पर पहुंचा दिया। शराब घोटाले से लेकर भर्ती और खनन घोटाले तक, ग्वाल पहाड़ी से लेकर नगर निगम तक, एक के बाद एक घोटालों को अंजाम दिया जा रहा है। पूर्व मंत्री चौधरी महेंद्र प्रताप ने अपने संबोधन में चौधरी उदयभान को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने के लिए कांग्रेस हाईकमान का आभार जताया। बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि 8 साल में इस सरकार ने जुमलों को इवेंट बनाने के सिवाय कोई कार्य नहीं किया। नोटबंदी से लेकर किसानों के मुद्दों तक, हर नीति में यह सरकार विफल नजर आई। उन्होंने हुड्डा सरकार के कार्यकाल को याद करते हुए बताया कि फरीदाबाद में एलिवेटेड रोड, कॉलेज, यूनिवर्सिटी से लेकर विकास के सारे कार्य हुड्डा सरकार के दौरान ही हुए। 

Related posts

फरीदाबाद में कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत की संख्या तेजी से बढ़ रहीं हैं,7 नए मौत,100 नए मरीजों के साथ अब 1210 हो गई हैं।

Ajit Sinha

फरीदाबाद :सेक्टर -37 के एक प्रॉपर्टी डीलर के कार्यालय में बदमाशों ने की ताबड़ तोड़ फायरिंग, 25 -30 राउंड गोलियां चली,लगी गोली।

Ajit Sinha

फरीदाबाद:स्कूल जा रही 7 वर्षीय मासूम बच्ची के साथ रेप का प्रयास, चिल्लाने पर गला घोंटकर और ब्लेड से काट कर हत्या।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//gretsaitheed.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x