Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद हरियाणा

चंडीगढ़ ब्रेकिंग: हरियाणा के इतिहास में पहली बार बाढ़ घोषित, सभी प्रभावितों के नुकसान की करेंगे भरपाई- दुष्यंत चौटाला

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
चंडीगढ़: हरियाणा सरकार ने राज्य के इतिहास में पहली बार बाढ़ घोषित की है। बुधवार शाम जारी एक पत्र के अनुसार राज्य के 12 जिलों में कुल 13 54 स्थानों पर बाढ़ आई है। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, जिनके पास राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग है, ने बताया कि इन सभी स्थानों पर बाढ़ नियंत्रण, राहत एवं बचाव, पुनर्वास और नुकसान की भरपाई संबंधी कार्य किए जा रहे हैं। डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने बताया कि राज्य के 12  जिले अंबाला, पंचकुला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, सिरसा, फतेहाबाद, कैथल, करनाल, पानीपत,सोनीपत, पलवल और फरीदाबाद में बाढ़ आई है। इन सभी जिलों में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की सूची जारी कर दी गई है जिसके अनुसार सबसे ज्यादा 315 जगहों पर अंबाला में, 298 जगहों पर कुरुक्षेत्र में और 221 जगहों पर यमुनानगर में बाढ़ आई है।

इनके अलावा कैथल जिले में 128 जगहों पर, फतेहाबाद में 94 जगहों पर और पंचकुला में 84 जगहों पर बाढ़ ने नुकसान पहुंचाया है। करनाल जिले में 66,फरीदाबाद में 54, पलवल में 32, सोनीपत में 25, सिरसा में 23 और पानीपत में 14 स्थान बाढ़ से प्रभावित घोषित किए गए हैं। राज्य सरकार ने पूरे अंबाला शहर, अंबाला शहर और अंबाला छावनी नगर परिषद क्षेत्र, बराड़ा नगरपालिका क्षेत्र, मोरनी क्षेत्र के सभी 14 राजस्व क्षेत्रों को बाढ़ प्रभावित घोषित किया है। डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जिला स्तर से प्राप्त सूचना के आधार पर राज्य सरकार ने अहम निर्णय लेते हुए प्रदेश के इतिहास में पहली बार औपचारिक रूप से बाढ़ घोषित की है। उन्होंने कहा कि 8 से 12 जुलाई तक हुई तेज बारिश और हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड ,पंजाब से आए बरसात के अत्यधिक पानी की वजह से प्रदेश में व्यापक स्तर पर सरकारी और निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचा है। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग बाढ़ से टूटी सड़कों की जल्द से जल्द मरम्मत में जुट गया है और लगभग 150 जगहों पर टूटी सड़कों की मरम्मत पर 230 करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च होंगे। बाढ़ में खराब हुई अन्य विभागों की सड़कों, नहरों, ड्रेन और भवनों की मरम्मत का भी युद्ध स्तर पर किया जाएगा। इनके अलावा पूरी तरह खराब हुई फसलों के लिए 15 हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा किसानों के खातों में जल्द भेजा जाएगा। साथ ही पशु पालकों के नुकसान की भरपाई होगी और जिन लोगों के मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं, उन्हें भी नियमानुसार उचित मुआवजा दिया जाएगा। उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बताया कि बीते सप्ताह में उन्होंने खुद बाढ़ से प्रभावित पंचकुला, अंबाला, कुरुक्षेत्र, करनाल , पानीपत, सोनीपत ,पलवल और फरीदाबाद जिलों के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों का दौरा किया था। उन्होंने कहा कि बाढ़ के पानी से आम लोगों का जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है और बहुत से लोगों के लिए आजीविका, आवागमन, खाने-पीने की दिक्कत पैदा हुई है। राज्य सरकार ने सभी जगह ज़िला उपायुक्तों और अन्य अधिकारियों की ड्यूटी लगाई है कि राहत और पुनर्वास का काम तेज़ी से करें।

Related posts

पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हुड्डा के “घर“ किलोई में कांग्रेस को कहा झूठ बेचने वाली पार्टी

Ajit Sinha

फरीदाबाद: ग्रीन फील्ड में 80 परिवार के लोगों ने 16 लाख एकत्रित कर, 15 नंबर गेट की अंदर की सड़कें बनाने का कार्य किया शुरू।

Ajit Sinha

फरीदाबाद: सरपंच पद के लिए 53, पंच पद के लिए 31 फार्म हुए जमा: जिला निर्वाचन अधिकारी

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//sauptowhy.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x