Athrav – Online News Portal
अपराध गुडगाँव

तकनीकी सहायता देने के नाम पर विदेशी मूल के लोगों से ठगी करने वाले कॉल सेंटर का पर्दाफाश, 10 अरेस्ट।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
गुरुग्रामः तकनीकी सहायता देने के नाम पर विदेशी मूल के नागरिकों से ठगी करने वाले एक फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश किया हैं। पुलिस ने छापेमारी के दौरान मौके से एक महिला समेत 10 लोगों को गिरफ्तार किया हैं। पुलिस ने इनके पास से कब्जा से 03 मोबाइल फोन, 10 लैपटॉप, 01 मॉडम व 10 लाख रुपयों की नगदी बरामद किए हैं। एसीपी क्राइम वरुण दहिया ने जानकारी देते हुए बताया कि गत 16/17 अगस्त 2023 की रात को थाना साइबर पूर्व के प्रभारी जसवीर की टीम को अपने विश्वसनीय सूत्रों के माध्यम से एक सूचना मिली की मकान नंबर -1183, सेक्टर-43, गुरुग्राम में अवैध/फर्जी तरीके से कॉल सेंटर चलाकर विदेशी नागरिकों को कस्टमर सर्विस देने के नाम पर धोखाधड़ी करते हुए ठगी करने के सम्बन्ध में प्राप्त हुई। प्राप्त सूचना के आधार पर एसीपी साइबर अपराध विपिन अहलावत के निर्देशन में एक रेडिंग पुलिस टीम गठित की गई और उपरोक्त सूचना में बताए गए स्थान पर चलाए जा रहे कॉल सेंटर पर रेड़ की गई।

रेड़ के दौरान उक्त स्थान पर फर्जी/अवैध तरीके से कॉल सैन्टर संचालित होना पाया गया और कॉल सैन्टर के संचालक/मालिक द्वारा अपने साथियों के साथ मिलकर विदेशी नागरिकों को तकनीकी सहायता देने के नाम पर धोखाधड़ी करके ठगी करने पर कॉल सैन्टर से 1 महिला सहित कुल 10 आरोपितों को कॉल सेंटर से काबू किया गया। आरोपितों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 204, 120B IPC व 66, 66D, 75 IT Act. के तहत थाना साइबर अपराध पूर्व, गुरुग्राम में मुकदमा दर्ज कर आरोपितों को गिरफ्तार किया गया। उनका कहना हैं कि आरोपितों से पुलिस पूछताछ में ज्ञात हुआ कि कॉल सेंटर का मालिक अपने साथी/कर्मचारियों के साथ मिलकर इस कॉल सेंटर का संचालन करते है और इन्होनें कस्टमर सर्विस के लिए कर्मचारियों को सैलरी व कमीशन पर रखा हुआ है। कॉल सेंटर के मालिक/संचालक से पुलिस पूछताछ में यह भी बताया कि वह अगस्त -2022 से अपने साथी आरोपितों के साथ मिलकर वह काम कर रहा है व इसने विदेशी मूल के नागरिकों को Tech support की कस्टमर केयर सर्विस प्रदान देने के लिए उसने वर्चुवल Virtual TFN No. लिए हुए है, जिन नंबरों पर वह कॉल लैंड करवाता है तथा X-lite Dailer के माध्यम से आने वाली कॉल को इसके साथी कर्मचारी सुनते है, जिस ग्राहक को Amazon, PayPal, Ebay से संबंधित कोई असुविधा होती है तो वो इनके TFN No. पर Virtual कॉल करते है, ये कॉलर से उनकी शिकायत पूछते है व अगर कॉलर/कस्टमर कोई असुविधा/समस्या बताता है,तो ये खुद को उस कंपनी का प्रतिनिधि बताकर पहले उन्हें अपने विश्वास में लेते है और उसकी समस्या को दूर करने के लिए Anydesk, Team_Viewer आदि एप्लिकेशन के माध्यम से उसके सिस्टम का रिमोट एक्सेस प्राप्त कर लेते है। ये ग्राहक/पीड़ित को वास्तविक बात ना बताकर उनसे अन्य समस्याओं के बारे में भी बात करते है और उन्हें उनकी निजी जानकारी का रिस्क, हैकर द्वारा अकाउंट हैक करना, डिवाइस असुरक्षित, फाइनेंशियल इनफार्मेशन लीक व चाइल्ड पोर्नोग्राफी इत्यादि के बारे में बताते है, फिर उस समस्या को दूर करने के नाम पर ये कॉलर से 100-500 डॉलर की ठगी करते है। इनके द्वारा ठगी हुई अमाउंट को ये Amazon, PayPal, Ebay की अलग-अलग आईडी में डलवा लेते है व बाद मे ब्लॉकर के माध्यम से कैश करवाकर अपना हिस्सा प्राप्त कर लेते है। कॉलर द्वारा कमाई गई ठगी की राशि के आधार पर उन्हें इंसेंटिव के तौर पर एक डॉलर पर 12 से 15 रुपए दिए जाते थे। पुलिस ने उपरोक्त आरोपितों द्वारा इस जालसाजी में प्रयोग किए जाने वाले 3 मोबाइल फोन, 10 लैपटॉप, 1 मॉडम व 10 लाख रुपये की नकदी आरोपितों के कब्जा से बरामद की गई है।

Related posts

चंडीगढ़ ब्रेकिंग: जनता के बीच सुरक्षा की भावना को मजबूत बनाने के उद्देश्य से मनाया गया ‘पुलिस उपस्थिति दिवस-चावला

Ajit Sinha

संघ लोक सेवा आयोग की 2 जून को होने वाली सिविल सर्विसिज प्रारंभिक परीक्षा के केन्द्र गुरूग्राम में बनाए गए है

Ajit Sinha

तबलीघी जमात मरकाज मामला: साकेत कोर्ट में 20 देशों के 82 विदेशी नागरिकों के खिलाफ 20 चार्जशीट दाखिल की, ब्लैकलिस्ट किया।    

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//vaikijie.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x