Athrav – Online News Portal
अपराध दिल्ली नई दिल्ली

स्नातक अंतिम वर्ष का छात्र को इंस्टाग्राम पर सस्ता ‘आई फोन’ दिलाने के नाम पर ठगी करने के आरोप में किया अरेस्ट।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की साइबर पुलिस थाना/उत्तर-पूर्व जिला सोशल मीडिया पर सस्ते ‘आई फोन’ का वादा करने वाले ऑनलाइन जालसाज को गिरफ्तार किया हैं। पुलिस ने आरोपित को इस एफआईआर नंबर 630/2021 दिनांक 25.10.2021, भारतीय  दंड संहिता की धारा   420 आईपीसी पीएस ज्योति नगर, दिल्ली में गिरफ्तार किया गया हैं। इस आरोपित की कब्जे से एक एप्पल आई-फोन 12 बरामद किया गया हैं। 

पुलिस  की मुताबिक  जितिन निवासी ऋषि कर्दमपुरी एक्सटेंशन से इंस्टाग्राम पर सस्ते में ‘आई फोन’ बेचने के नाम पर ऑनलाइन धोखाधड़ी की शिकायत प्राप्त हुई थी। जिसके द्वारा शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि “कस्टम__हब” नामक एक नकली इंस्टाग्राम अकाउंट सस्ते आई फोन बेच रहा था, सौदे को रुपये के लिए अंतिम रूप दिया गया था। 48000/- रुपये सस्ता आईफोन देने के बहाने उक्त इंस्टाग्राम अकाउंट के यूजर ने उसके साथ रु. 48000/- गूगल पे के माध्यम से। तदनुसार, एक मामला प्राथमिकी संख्या 630/2021, दिनांक 25/10/2021, भारतीय दंड संहिता की धारा 420 आईपीसी पीएस ज्योति नगर, दिल्ली दर्ज की गई और जांच शुरू की गई। इंस्पेक्टर की देखरेख में एसआई नरेश दीवान, एसआई मोहित, एसआई संजय यादव और एचसी अनिल कौशिक की पुलिस टीम। विकास बुलडक, एसएचओ/साइबर पुलिस स्टेशन/उत्तर पूर्व जिले के घोटाले का पता लगाने और आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का काम सौंपा गया था। जांच के दौरान शिकायतकर्ता का बैंक खाता विवरण प्राप्त किया गया जिससे उक्त राशि की कटौती की गई। इंस्टाग्राम अकाउंट “कस्टम हब” का विवरण। और जिस ईमेल पते के माध्यम से इसे सत्यापित किया गया था वह इंस्टाग्राम मुख्यालय से प्राप्त किया गया था।  उपरोक्त ईमेल पते का विवरण प्रदान करने के लिए Instagram से प्राप्त ई-मेल पता Google को भेजा गया था। अपने जवाब में गूगल ने उन मोबाइल नंबरों का विवरण दिया जिनके माध्यम से उक्त ई-मेल संचालित किए जा रहे थे, कुछ आईपी पते भी प्रदान किए गए थे। आगे की जांच के दौरान, इंस्टाग्राम के जवाब से, सबसे अधिक इस्तेमाल किए गए 03 आईपी पते चुने गए और वहां आईएसपी (इंटरनेट सेवा प्रदाता) से आईपीडीआर प्राप्त किए गए। पुलिस टीम ने तीन आईपी एड्रेस के आईपीडीआर की जांच से इंस्टाग्राम अकाउंट होल्डर विशाल कुमार सेखसरिया निवासी जीटी रोड, बल्ली, हावड़ा, कोलकाता, पश्चिम बंगाल के यूजर का पता लगाया. दूसरी ओर, गूगल पे से अनुरोध किया गया था कि वह उक्त ठगी गई राशि के लाभार्थी का पूरा विवरण प्रदान करे। Google द्वारा उपलब्ध कराए गए विवरण के अनुसार 5,000, 5,000, 13,000, 7,500, 7,500 रुपये की किस्तों में ठगी गई राशि का भुगतान करें यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के लाभार्थी बैंक खाते के विवरण के विवरण का अनुरोध किया गया था जिसके द्वारा यूबीआई ने खुलासा किया कि उक्त राशि को उसी बैंक के दूसरे बैंक खाते में एमजी रोड, कोलकाता, पश्चिम बंगाल में अपनी शाखा में स्थानांतरित कर दिया गया था, जिसका संचालन किया जा रहा था। श्रीवल्लभ रतेरिया, उत्कलमणि, गोपबंधु सारणी, कोलकाता, पश्चिम बंगाल का नाम। गत 15.12.21 को पश्चिम बंगाल पुलिस के समन्वय में एक छापेमारी की गई और इंस्टाग्राम अकाउंट के मालिक विशाल कुमार सेखसरिया को पश्चिम बंगाल के बल्ली जगाचा हरोआ स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया गया। उचित प्रक्रिया के बाद उन्हें दिल्ली लाया गया और पूछताछ की गई। उसने अपना अपराध कबूल कर लिया और खुलासा किया कि वह स्नातक अंतिम वर्ष का छात्र है और टीवी शो बूगी-वूगी और रोडीज़ के लिए इवेंट मैनेजमेंट टीम के सदस्य के रूप में काम कर रहा था। सस्ते ‘आई फोन’ के नाम पर वह अपने सहयोगी के साथ ऑनलाइन लोगों को ठगता था। उसके फरार साथी को पकड़ने के लिए गंभीर प्रयास किए जा रहे हैं।

गिरफ्तार व्यक्ति
विशाल कुमार सेखसरिया निवासी, जीटी रोड, बल्ली, हावड़ा, कोलकाता, पश्चिम बंगाल, आयु-23 वर्ष। 

Related posts

पूर्व सीएम कमलनाथ के चचेरे भाई और भाभी की हत्या से मचा हड़कंप, पार्टी के बाद हत्या को दिया अंजाम-देखें पूरा वीडियो।

Ajit Sinha

कोरोना की बीमारी से निपटने के लिए सरकारी व गैर-सरकारी संस्थाओं, सामाजिक व धार्मिक संगठनों का भरपूर सहयोग लें: राष्टपति

Ajit Sinha

फरीदाबाद:सभी डीसीपी,एसीपी, थाना प्रबंधक, चौकी इंचार्ज ने 5 किलोमीटर पैदल गश्त कर मनाया पुलिस फ्लैग दिवस।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//beewoupaule.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x