Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली

क्रिसमस और नववर्ष के जश्न में पूरा दिल्ली विधानसभा परिसर पारंपरिक कोंकणी क्रिसमस कैरोल गाने से गूंज उठा

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली:दिल्ली विधानसभा परिसर में आज क्रिसमस और नववर्ष समारोह भव्य तरीके से मनाया गया। इस दौरान क्रिसमस और नववर्ष के जश्न में पूरा दिल्ली विधानसभा परिसर पारंपरिक कोंकणी क्रिसमस कैरोल गाने से गूंज उठा। इस दौरान मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पूरे देशवासियों को क्रिसमस व नववर्ष की बधाई देते हुए कहा कि भारत सभी धर्मों और संस्कृतियों का एक गुलदस्ता है। हमने सभी धर्मों के त्योहार मना कर भारत की विशिष्ट पहचान को बनाए रखने का निर्णय लिया है। मेरी प्रार्थना है कि नया साल हम सभी के लिए भरपूर समृद्धि लेकर आए। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार ओमिक्रॉन वेरिएंट से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। अगर लहर आती है, तो हमें चिंता न करने की जरूरत नहीं है। सीरो सर्वे में दिल्ली के 96 फीसद लोगों में कोरोना के प्रति एंटीबॉडी पाई गई है और हमने वैक्सीनेशन भी खूब कर लिया है, तो हो सकता है कि लहर न आए। इस दौरान ईसाई धर्मगुरुओं और समुदाय के सदस्यों ने केजरीवाल सरकार की नीतियों और शासन मॉडल की जमकर प्रशंसा की। उल्लेखनीय है कि दिल्ली सरकार के ‘मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना’ के तहत 7 जनवरी, 2022 को दिल्ली के बुजुर्ग तीर्थयात्रा पर वेलंकन्नी के लिए रवाना होंगे।

दिल्ली विधानसभा परिसर में आज क्रिसमस और नववर्ष समारोह का भव्य आयोजन किया गया। यह समारोह दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष राम निवास गोयल की तरफ से आयोजित किया गया। इस समारोह के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल रहे। इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के अलावा, दिल्ली सरकार के मंत्री और विधायक समेत अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम के दौरान सेंटेनरी मेथोडिस्ट चर्च चोइर और डेविड्स हार्प चोइर द्वारा क्रिसमस कैरल गीत प्रस्तुत किया गया। दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने मुख्य अतिथि, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को गुलदस्ता भेंट कर स्वागत किया गया। विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने आर्कबिशप, अनिल जोसफ टी. कूटो, कुरियाकोस भरणीकुलंगारा व अन्य गणमान्यों को गुलदस्ता भेंट कर सम्मानित किया। दिल्ली विधानसभा परिसर में आयोजित इस समारोह में बड़ी तादात में दिल्ली- एनसीआर में रहने वाले ईसाई समुदाय के लोग शामिल हुए और समारोह का आनंद लिया। ईसाई समुदाय के लोगों ने दिल्ली सरकार की तरफ से क्रिसमस समारोह का आयोजन करने के लिए खुशी व्यक्त की और इसके लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को धन्यवाद दिया। इस दौरान मुख्य अतिथि, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल समेत अन्य गणमान्य लोगों ने संयुक्त रूप से क्रिसमस केक काट कर समारोह की शुरुआत की। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली और देशवासियों को क्रिसमस और नववर्ष की बधाई देते हुए कहा कि यह सातवां साल है, जब दिल्ली विधानसभा के परिसर में क्रिसमस का त्योहार मनाया जा रहा है। जब 2015 में हमारी सरकार आई थी, तब हम सब लोगों ने यह निर्णय लिया था कि हमारा भारत देश सभी धर्मों और जातियों का एक गुलदस्ता है और यही हमारे देश की खूबसूरती है। इतने सारे धर्म और जातियों के लोग, इतनी सारी संस्कृति और भाषाएं, यह हमारी खूबसूरती है और यह हमारे भारत की ताकत है। हम इसे सेलिब्रेट करेंगे। इसलिए विधानसभा के परिसर में हमने सभी धर्मों के त्योहार मनाने शुरू किए और उसी कड़ी में सातवें साल क्रिसमस का त्योहार मनाया जा रहा है। पिछले साल हम कोरोना की वजह से यह त्योहार नहीं मना पाए थे, लेकिन मुझे खुशी है कि इस साल हम इस त्योहार को मना रहे हैं। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछले करीब दो साल से पूरी मानव जाति कोरोना महामारी से पीड़ित है। हम सब दिल्लीवासियों ने मिलकर कोरोना से पार पाया, कोरोना से हम लोगों ने निपटा। देश में कोरोना की दो लहर आई थी, लेकिन दिल्ली में चार लहर आई थी। बीते अप्रैल के महीने में आई लहर बहुत ही खतरनाक थी। कई लोगों की मौत हो गई। शायद ही कोई परिवार हो, जिसमें किसी को कोरोना नहीं हुआ हो। हर परिवार में किसी न किसी को कोरोना हुआ। अप्रैल के महीने में कुछ रातें तो ऐसी थीं कि जब पूरी-पूरी रात मैं अपना फोन लेकर बैठा रहता था, जागता रहता था। अस्पताल में ऑक्सीजन और बेड नहीं मिल रहे आदि को लेकर उस समय इतने फोन आ रहे थे। जितना हमसे बन पड़ा, हम पूरी की पूरी रात बैठ कर इंतजाम कर रहे थे। लेकिन उसकी खूबसूरती यह थी कि सब लोगों ने मिलकर कोरोना का सामना किया। सरकार अकेले कुछ नहीं कर सकती थी। हम बहुत छोटे पड़ गए थे। केवल दिल्ली के दो करोड़ लोग ही नहीं मिले, बल्कि हमने इधर-उधर हाथ पैर मारकर जो हमें मिला, हमने सबसे मदद मांगी। यहां तक कि विदेशों से भी हमने मदद मांगी और हमें खूब मदद मिली। उसी वजह से हम लोग अप्रैल में आई लहर पर काबू पा पाए थे। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब ओमिक्रॉन वेरिएंट के बारे में सुन रहे हैं कि ओमिक्रॉन बड़ी तेजी से फैलने वाला वायरस है और भारत में भी आ चुका है। हर शहर के अंदर कुछ न कुछ केस पाए जा रहे हैं। यूरोप से जो स्टोरी सुनने को मिल रही हैं कि जितनी तेजी से यह फैलता है, उससे मन के अंदर यह है कि इतनी तेजी से फैला तो कैसे होगा? लेकिन आप सब लोगों को मैं भरोसा दिलाना चाहता हूं कि पिछले दिनों से मैं खूब बैठकें ले रहा हूं और हमारी सरकार इससे निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। सुन रहे हैं कि ओमिक्रॉन उतना खतरनाक नहीं है। यह फैलता बड़ी तेजी से है, लेकिन इसके लक्षण हल्के हैं। इसलिए हमें डरने की जरूरत नहीं है। जो भी जरूरत पड़ेगी, हम सब मिलकर करेंगे। अगर हमने अप्रैल की लहर पर पार पा लिया, तो उपर वाले की कृपा से इसको भी हम मिलकर काबू कर लेंगे। आज भगवान से प्रार्थना करते हैं कि यह लहर दिल्ली में न आए। यह हो सकता है, क्योंकि हमने दिल्ली में वैक्सीनेशन भी खूब कर लिया है। दिल्ली के अंदर अभी हमने सिरो सर्वे करवाया था। उसमें 96 फीसद लोगों में एंटीबॉडीज पाई गई है। यानि कि पता भी नहीं चला और काफी लोगों को कोरोना हो गया। किसी में एंटीबॉडीज अगर हो जाए, तो उसे कोरोना के दोबारा होने की संभावना कम हो जाती है। इसलिए हो सकता है कि लहर न आए। लेकिन अगर आती है, तो हम सब तैयार हैं। अप्रैल के महीने में जो लहर आई थी, उससे हमने जो सबक सीखा है, उसके मुताबिक जो-जो कमियां थी, उसको भी हमने दूर कर लिया है और हम मिलकर इससे निपटने के लिए तैयार हैं।मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा कि क्रिसमस समारोह के मौके पर मैं प्रभु से यही प्रार्थना करता हूं कि आप सभी के जीवन में, सभी देशवासियों के जीवन में खूब खुशियां दें, सबको स्वस्थ्य रखें, पूरे देश में खूब शांति और भाईचारा दें। हमारा तो उद्देश्य ही यही है कि इंसान का इंसान से हो भाईचारा, यही पैगाम हमारा। विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने दिल्ली विधानसभा परिसर में आयोजित समारोह में शामिल सभी लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि पिछले साल कोरोना के कारण क्रिसमस समारोह का आयोजन नहीं कर पाए थे। इस बार भगवान ने समारोह का आयोजन करने का मौका दिया है और एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। भगवान यीशु का जन्मदिन 25 दिसंबर को पूरे विश्व में मनाया जाता है। भगवान यीशु ने हमको शांति और मानव सेवा दिया है। उसके लिए वे हमेशा याद किए जाते रहेंगे, जब तक यह दुनिया रहेगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली सरकार भी भगवान यीशु के बताए हुए मार्ग पर चल रही है। सीएम अरविंद केजरीवाल दिन रात देश और विश्व में शांति हो, कोई मानव भूखा और परेशान न रहे, उसके लिए निरंतर प्रयासरत हैं। उन्हीं की प्रेरणा से दिल्ली में विधानसभा में हमने यह कार्यक्रम आयोजित किया। मैं समझता हूं कि इस बार यह छठां कार्यक्रम हमने मनाया है। इस अवसर पर आर्कबिशप अनिल जोसेफ टी. कूटो ने कहा कि मैं सभी धर्मों का सम्मान करने और त्योहारों को इतने भव्य तरीके से मनाने के लिए सीएम अरविंद केजरीवाल को तहे दिल से धन्यवाद देता हूं। क्रिसमस के इस जश्न ने ईसाई समुदाय में काफी खुशी की लहर है। जीसस क्राइस्ट से प्रार्थना है कि जिस तरह से वे वंचितों के उत्थान के लिए काम कर रहे हैं, उसके लिए दिल्ली सरकार को तहे दिल से आशीर्वाद दें।मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर वेलंकन्नी तीर्थ को मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना में शामिल किया गया है। दिल्ली से वेलंकन्नी जाने वाले यात्रियों को दिल्ली सरकार द्वारा एसी थ्री टियर ट्रेन में सीट उपलब्ध कराई जाएगी। यात्रियों को दिल्ली से वेलंकन्नी ले जाने वाली पहली ट्रेन 07 जनवरी 2022 को रवाना होगी।

Related posts

कांग्रेस और क्षेत्रीय दलों ने ओबीसी समाज की ठेकेदारी की लेकिन उत्थान के लिए कभी कुछ नही किया- डा. के लक्ष्म

Ajit Sinha

कोबरा को रस्सी की तरह पकड़ा और घसीटते हुए घर से बाहर लाकर दादी ने किया ऐसा. देखें वायरल वीडियो

Ajit Sinha

राहुल गांधी से कहा, आप चुनाव हार जाओ तो इससे प्रजातंत्र खत्म नहीं होता-जे पी नड्डा, लाइव वीडियो सुने

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//mordoops.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x