Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली राजनीतिक राष्ट्रीय

सिक्किम और उत्तराखंड में मोदी सरकार के सुशासन मॉडल को देखने के लिए भाजयुमो की सुशासन यात्रा का एक और अध्याय

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या के नेतृत्व में हमारे आने वाले युवा नेताओं को एनडीए शासित राज्यों की शासन प्रणाली को समझने का अवसर प्रदान करने के लिए भारतीय जनता युवा मोर्चा द्वारा ‘सुशासन यात्रा’ का आयोजन किया गया था। 12 राज्यों का प्रतिनिधित्व करने वाले चयनित बीस युवाओं की एक टीम को चार दिवसीय यात्रा के लिए सिक्किम जाने का अवसर दिया गया जिसका नेतृत्व दार्जिलिंग सांसद और भाजयुमो राष्ट्रीय महासचिव राजू बिस्ता ने किया। एक अन्य दल उत्तराखंड भेजा गया जिसका नेतृत्व भाजयुमो की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रीमती नेहा जोशी कर रही थीं।

सिक्किम दौरे के पहले दिन की शुरुआत टीम के सभी सदस्यों के बीच एक संवाद सत्र के साथ हुई तत्पश्चात एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें स्थानीय नृत्य रूपों और अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों को बहुत सुंदरता से दर्शाया गया। अगले दिन टीम लगभग 14,000 फीट की ऊंचाई पर भारत-चीन सीमा पर स्थित ‘नाथुला दर्रा’ की यात्रा के लिए गई जिसमें टीम को भारतीय सेना के अधिकारियों के साथ बातचीत करने और रक्षा मोर्चे पर चीन के साथ भारत के संबंधों को समझने का मौका मिला। टीम ने दोनों देशों के बीच संबंधों को बेहतर बनाने के लिए साल में लगभग सात बार सीमाओं पर आयोजित की जाने वाली विभिन्न पहलों के बारे में भी जाना। टीम को सिक्किम के राज्यपाल के साथ बातचीत करने का भी अवसर मिला जिन्होंने अपने युवा दिनों के विभिन्न अनुभवों को साझा किया और टीम को जीवन में सफलतापूर्वक आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया।

तीसरे दिन, टीम सिक्किम के दक्षिणी जिले में स्थित सबसे बड़े चाय बागान –टिम्मी टी एस्टेट के लिए रवाना हुई। सिक्किम में एनडीए सरकार बनने के बाद मजदूरों के दैनिक वेतन में लगभग 100-120 रुपये प्रति दिन की वृद्धि हुई, जो जाहिर तौर पर सभी श्रमिकों और उनके परिवारों के लिए एक बड़ी राहत है। दूसरी यात्रा 510 मेगावाट के जलविद्युत संयंत्र की थी, जो पूर्वोत्तर भारत के एक बड़े हिस्से को बिजली प्रदान करता है।तीसरी यात्रा एक प्रमुख दवा कंपनी ग्लेनमार्क की थी।अंत में सकारात्मक चर्चा के एक सत्र के बाद सुशासन यात्रा समाप्त हुई। उत्तराखंड टीम ने नेहरू पर्वतारोहण संस्थान – उत्तरकाशी का दौरा किया, जिसने 35000 से अधिक पर्वतारोहियों को प्रशिक्षित किया है, जिनमें से बछेंद्री पाल सहित सैकड़ों ने माउंट एवरेस्ट और दुनिया भर की अन्य चोटियों को फतह किया है।

अगले दिन टीम ने हरिद्वार में पतंजलि फूड पार्क का दौरा किया, जो मेक इन इंडिया और आत्मानिर्भर भारत का एक उत्कृष्ट उदाहरण है। अगले दिन टीम को दुनिया की चौथी सबसे बड़ी पनबिजली परियोजनाओं, टिहरी हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट का दौरा करने का मौका मिला, जो 9 राज्यों को बिजली और 3 राज्यों को पानी की आपूर्ति करती है। राष्ट्रीय अध्यक्ष भाजयुमो तेजस्वी सूर्या ने कहा-“केंद्र और राज्य में सुशासन की डबल इंजन सरकारों की शक्ति से राज्य विकास के नए रिकॉर्ड स्थापित कर सकते हैं। यह सिक्किम और उत्तराखंड की प्रगति में परिलक्षित होता है। यह अंतर उन राज्यों में विकास कार्यों की स्थिति और विकास कार्यों की स्थिति से भी स्पष्ट है जहां डबल इंजन सरकार नहीं है। सुशासन यात्रा के माध्यम से भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं को इन राज्यों की संस्कृति, सभ्यता और आर्थिक प्रगति को समझने का अवसर मिला। साथ ही बुनियादी ढांचे, शिक्षा, औद्योगिक विकास और गरीब से गरीब व्यक्ति की स्थिति को बेहतर करने के मामले में वे जो चमत्कार कर रहे हैं उसे साक्षात अनुभव किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बहुत जल्द ही कई अन्य राज्यों में भी डबल इंजन सरकारें बनेंगी और इस सुशासन यात्रा में शामिल हो सकेंगी।

Related posts

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के दौरे को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कार्यक्रम स्थलों का किया दौरा।

Ajit Sinha

पत्नी की किसी और शख्स से अवैध संबंध होने का शक था, इस लिए उसे पीछा कर सरेआम गोली मार दी,पति अरेस्ट

Ajit Sinha

चंडीगढ़ ब्रेकिंग: दोगली राजनीति करने वाले भूपेंद्र हुड्डा को जनता देगी करारा जवाब – दुष्यंत चौटाला

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//atampharosom.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x