Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद हरियाणा

386 मामले दर्ज करके 483 लोगों को किया गिरफ्तार, 1204 किलोग्राम से अधिक मादक पदार्थ किया बरामद:डीजीपी 

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
चंडीगढ़: हरियाणा पुलिस द्वारा चुनाव से पहले मादक पदार्थ तस्करों व अन्य अपराधियों को काबू करने के लिए बनाई गई रणनीतियां कारगर रही हैं। पुलिस ने राज्य भर में एक महीने चले एक विशेष एंटी-ड्रग अभियान के तहत 386 मामले दर्ज कर 483 लोगों को गिरफ्तार किया। इस दौरान 1204 किलोग्राम से अधिक मादक पदार्थ भी जब्त किया गया है।
पुलिस महानिदेशक, मनोज यादव ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले मादक पदार्थों की आपूर्ति के नेटवर्क का तोडने व इस में संलिप्त नशा कारोबारियों को काबू करने के लिए पुलिस द्वारा 20 अगस्त से 20 सितंबर, 2019 तक एक विशेष अभियान चलाया गया था। इस अवधि के दौरान, सभी पुलिस आयुक्तों और जिला पुलिस अधीक्षकों को अपने-अपने क्षेत्रों में मादक पदार्थ की तस्करी व इसके वितरण नेटवर्क को पूरी तरह से कुचलने के लिए निर्देश दिये गए थे।
डीजीपी ने कहा कि इस दौरान पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से 559 किलो 719 ग्राम गांजा, 1 किलो 826 ग्राम से अधिक हेरोइन, 630 किलोग्राम 618 ग्राम चूरा पोस्त, 5 किलो 648 ग्राम अफीम, 3 किलो 531 ग्राम चरस, 2 किलो 710 ग्राम से अधिक स्मैक और 458 ग्राम 750 मिलिग्राम सुल्फा जब्त किया गया है। इसके अतिरिक्त, पुलिस टीमों द्वारा 1,43,483 टैबलेट, 196 बोतल सिरप, 15,469 कैप्सूल और 827 इंजेक्शन सहित प्रतिबंधित दवाएं भी जब्त की गई हैं।


       
दर्ज मामलों का विवरण देते हुए, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, (कानून एवं व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क ने कहा कि इस अभियान के तहत जिला सिरसा में एनडीपीएस अधिनियम के तहत सर्वाधिक 129 मामले दर्ज कर 178 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। इसके बाद, जिला फतेहाबाद में 85 आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ 60 मामले दर्ज किए गए। इसी प्रकार, अंबाला और पानीपत में 23-23, गुरुग्राम में 20, रोहतक में 18, कुरुक्षेत्र में 16, करनाल में 13 और यमुनानगर में 10 मामले दर्ज कर भारी मात्रा हेरोइन, चुरा पोस्त, गांजा और अफीम आदि बरामद की गई। उन्होंने कहा कि विशेष अभियान के दौरान, सभी जिलों में दैनिक आधार पर नियमित छापे मारे गए। नशे के कारोबारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के अलावा, पुलिस ने आम लोगों को नशे के दुष्प्रभावों के बारे में भी जागरूक किया। विर्क ने कहा कि पुलिस विभाग द्वारा डीजीपी मनोज यादव के कुशल मार्गदर्शन में राज्य में स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान सुनिश्चित करने के लिए चुनाव पूर्व विशेष रणनीति के तहत विस्तृत सुरक्षा व्यवस्था की गई है।

Related posts

अमृत-2.0 के तहत 1727.36 करोड़ के 57 प्रोजैक्ट पर जल्द कार्य – संजीव कौशल

Ajit Sinha

फरीदाबाद : सुनने में असहाय बच्चों के लिए वरदान- कोकलियर इम्पलान्ट से सम्पन्न कान, डीसी अतुल

Ajit Sinha

फरीदाबाद: जब निगमायुक्त ए मोना श्रीनिवास निकली सड़कों पर, तो मिली समस्याओं का अंबार-दिए आदेश

Ajit Sinha
//shooltuca.net/4/2220576
error: Content is protected !!