Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली

दिल्ली की सड़कों पर उतारी 150 इलेक्ट्रिक बसें, सीएम अरविंद केजरीवाल ने हरी झंडी दिखा कर किया रवाना।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली:केजरीवाल सरकार ने प्रदूषण के खिलाफ जंग में ऐतिहासिक कदम उठाते हुए आज दिल्ली की सड़कों पर 150 इलेक्ट्रिक बसें उतारी हैं। सीएम श्री अरविंद केजरीवाल ने आईपी डिपो से इन बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। साथ ही, सीएम अरविंद केजरीवाल, परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत समेत वरिष्ठ अधिकारियों ने आईपी डिपो से राजघाट डिपो तक इलेक्ट्रिक बस में सफर भी किया। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 26 मई तक सभी के लिए इलेक्ट्रिक बसों में सफर फ्री है। एक महीने बाद 150 इलेक्ट्रिक बसें और आ रही हैं और एक साल में दो हजार इलेक्ट्रिक बसें सड़कों पर होंगी। इसके अलावा, 600 से 700 सीएनजी बसें भी आएंगी।

उन्होंने कहा कि प्रदूषण के खिलाफ जंग में यह बहुत बड़ी शुरुआत है। जैसे-जैसे इलेक्ट्रिक बसें आती जाएंगी, तो प्रदूषण भी कम होगा। इन बसों के लिए तीन इलेक्ट्रिक चार्जिंग डिपो का भी उद्घाटन किया गया। अब दिल्ली के बेडे 7200 बसें हो गई हैं, जो दिल्ली के इतिहास में सबसे बड़ी वृद्धि हैं। हमारा मकसद आने वाले दिनों में दिल्ली के सारे बस बेड़े को इलेक्ट्रिक में बदलना है। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने इलेक्ट्रिक बस के साथ सेल्फी लेकर सेल्फी प्रतियोगिता की शुरुआत की और दिल्ली के लोगों से अपील करते हुए कहा कि जब भी आप इन बसों में सफर करें, तो एक सेल्फी लेकर उसको #IrideEbus पर अवश्य पोस्ट कर दें।

दिल्ली की सड़कों पर एक साथ 150 इलेक्ट्रिक बसों को उतारने को लेकर डीटीसी मुख्यालय के पास इंद्रप्रस्थ डिपो परिसर में आयोजित किया गया। समारोह के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री केजरीवाल दोपहर करीब 12 बजे कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे। मुख्यमंत्री के साथ परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत और मुख्य सचिव समेत वरिष्ठ अधिकारी भी थे। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल, परिवहन मंत्री और मुख्य सचिव ने इलेक्ट्रिक बसों के लिए समर्पित मुंडेलाकलां, राजघाट और रोहिणी सेक्टर-37 में बने इलेक्ट्रिक चार्जिंग डिपो का अनावरण व उद्घाटन किया।

इसके उपरांत सीएम अरविंद केजरीवाल ने 150 इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इन इलेक्ट्रिक बसों से दिल्ली में वायु प्रदूषण में भी कमी आएगी।  10 साल में 150 सीएनजी बसों से 0.16 मिलियन टन पीएम -2.5 और 0.17 मिलियन टन पीएम-10 में कार्बन डाई ऑक्साइड का उत्सर्जन होता। इलेक्ट्रिक बसों की वजह से दिल्ली को इस वायु प्रदूषण से मुक्ति मिलेगी।आईपी डिपो से राजघाट डिपो तक इलेक्ट्रिक बस में सफर करने के उपरांत सीएम अरविंद केजरीवाल ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि इलेक्ट्रिक बसों के सड़क पर उतरने से मैं भी खुश हूं और मुझे उम्मीद है कि दिल्ली की जनता भी खुश हैं। दिल्ली के लिए आज ऐतिहासिक दिन भी है। लगभग 150 इलेक्ट्रिक बसें सड़कों पर उतरी हैं। मैंने बस में बैठ कर सफर भी किया। इलेक्ट्रिक बसें, बहुत ही शानदार, खूबसूरत और आरामदायक हैं।

जिस बस में मैं बैठा था, उसमें काफी भीड़ थी। उसके बावजूद एसी बहुत अच्छा चल रहा था। पहले, जब मैं आंदोलन करता था, उस दौरान बसों में काफी सफर किया करता था। तो कई बार एसी बहुत धीमा होता था। कहने को तो एसी बसें होती थीं, लेकिन उसमें गर्मी बहुत होती थी। इन इलेक्ट्रिक बसों में एसी बहुत बेहतरीन है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जैसे घर में कोई नई चीज आती है, तो बड़ा शौक होता है। टीवी आता है, फ्रिज आता है, तो खूब देखते हैं। दिल्ली के लोगों की आज नई इलेक्ट्रिक बसें आई हैं। हमने सबके लिए अगले तीन दिनों के लिए इन बसों में सफर को फ्री कर दिया है। दिल्ली के लोगों से अपील करते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आप सभी लोग इन बसों में खूब सफर करें और आपकी ही बसें हैं, इसलिए संभाल कर रखें और बसों को खराब न करें। बसों के अंदर सीटें खराब न करें, लेकिन इसका खूब इस्तेमाल करें। आप सभी एक बार इन बसों में सफर करके जरूर देंखे। सीएम  अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मुझे लगता है कि प्रदूषण के खिलाफ जंग में दिल्ली में आज यह एक बहुत बड़ी शुरुआत हुई है। दिल्ली में प्रदूषण के कई कारण हैं। अब जैसे-जैसे इलेक्ट्रिक बसें आती जाएंगी, तो प्रदूषण भी कम होगा। उस दिशा में बहुत बड़ी शुरुआत हुई है। आज 150 बसें आई हैं। एक महीने बाद 150 और इलेक्ट्रिक बसें आ रही हैं। इस तरह दिल्ली में कुल 300 से अधिक इलेक्ट्रिक बसें हो जाएंगी। हमारा लक्ष्य है कि एक साल के अंदर लगभग दो हजार इलेक्ट्रिक बसें दिल्ली की सड़कों पर होंगी। उस दिशा में हम लोग तेजी से काम कर रहे हैं। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यह जो 300 इलेक्ट्रिक बसे हैं, इसमें दिल्ली सरकार अगले 10 साल में 1860 करोड़ रुपए खर्च कर रही है। जबकि इसमें 150 करोड़ रुपए हमें केंद्र सरकार से मिल रहा है। इसके लिए हम केंद्र सरकार का शुक्रिया अदा करना चाहते हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज तीन इलेक्ट्रिक चार्जिंग डिपो का भी उद्घाटन किया गया है। इन तीन इलेक्ट्रिक चार्जिंग डिपो को बनाने में लगभग 150 करोड़ रुपए खर्च आया है। इसके अलावा, अभी बहुत सारे इलेक्ट्रिक चार्जिंग डिपो बनाए जा रहे हैं, क्योंकि जब दो हजार तक बसें आएंगी, तो उनके लिए बहुत सारे डिपो की जरूरत पड़ेगी। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने सेल्फी प्रतियोगिता की शुरुआत की और दिल्ली वालों से अपील करते हुए कहा कि आप जब भी इलेक्ट्रिक बसों में सफर करें, तो बस के अंदर एक सेल्फी लेकर उसको #IrideEbus पर पोस्ट कर दें। कोई भी यह पोस्ट अगले 30 जून तक कर सकता है। इलेक्ट्रिक बसों में किराए को लेकर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इन बसों में वही किराया लिया जाएगा, जो बाकी एसी बसों में किराया लिया जाता है। इन इलेक्ट्रिक बसों में भी महिलाओं का सफर फ्री होगा। इलेक्ट्रिक बसों को लेकर श्रेय लेने की कोशिश कर रही भाजपा के सवाल पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सारा क्रेडिट उनको, दिल्ली में बस अच्छा काम होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने बताया कि दिल्ली की आबादी के अनुसार करीब 1100 बसों की आवश्यकता बताई जाती है। इन 150 ई-बसों को शामिल करने के बाद हमारे पास अब 7200 से अधिक बसें हो गई हैं। आज तक दिल्ली के इतिहास में यह सबसे ज्यादा बसें हैं। इतनी बसें दिल्ली की सड़कों पर पहले कभी नहीं थीं। अभी और भी बहुत सारी बसें आ रही हैं। यह भी संभव है कि हम बीच में 600 से 700 सीएनजी बसें भी खरीदेंगे। क्योंकि इतनी बड़ी संख्या में इलेक्ट्रिक बसें अभी नहीं बन रही हैं। लेकिन सैद्धांतिक तौर पर अब जितनी भी बसें दिल्ली में आएंगी, वो सारी इलेक्ट्रिक की ही होगी। हमारा मकसद है कि धीरे-धीरे करके दिल्ली के सारे बस बेड़े को इलेक्ट्रिक में बदल दिया जाए।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘प्रदूषण के खिलाफ़ जंग में दिल्ली ने आज नया अध्याय लिखा है। आज से दिल्ली की सड़कों पर एक साथ 150 इलेक्ट्रिक एसी बसें चलनी शुरू हो गई हैं। मैंने भी बस में बैठकर सफ़र किया, इसमें सभी आधुनिक सुविधाएं हैं। दिल्ली की शानदार इलेक्ट्रिक बस में एक बार आप भी सफ़र ज़रुर करें।’’
इस दौरान परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्ली निवासी और दिल्ली के परिवहन मंत्री के रूप में मैंने जिस दिन का सपना देखा था, आज उसको पूरा होते देखना एक अद्भुत अहसास है। दिल्ली में इलेक्ट्रिक बसों के युग की शुरुआत हो गई है। आज दिल्ली के बेड़े में 150 बसें शामिल हो रही हैं। दिल्ली अब अपने बेड़े में 7200 से अधिक बसों शामिल हो गई हैं, जो दिल्ली के सार्वजनिक परिवहन का एक ऐतिहासिक क्षण है। हम इन बसों को रखने, साथ ही और अधिक इलेक्ट्रिक बसें के लिए कई और इलेक्ट्रिक चार्जिंग डिपो बना रहे हैं। आज, मैं पूरी दिल्ली वासियों का आह्वान करता हूं कि अपने दोस्तों और परिवार को साथ ले जाएं और हमारी उत्सर्जन मुक्त, शोर मुक्त इलेक्ट्रिक बसों में सवारी करें, जो बहुत आरामदायक भी हैं। जब आप सवारी का आनंद ले रहे हों, तो एक सेल्फी भी लें, इसे पोस्ट करें और दिल्ली की ईवी क्रांति का हिस्सा बनें और आईपैड जीतने का मौका लें। आओ मिलकर दिल्ली को प्रदूषण मुक्त बनाएं! परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने ट्वीट कर कहा, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सपनों को सच होते देख रहा हूं। मैं दिल्ली को बदलते देख रहा हूं। इलेक्ट्रिक बसों की आज से शुरुआत होने पर सभी दिल्लीवासियों को बधाई!’’दिल्ली परिवहन निगम ने आज अपने बस बेड़े में 150 इलेक्ट्रिक बसें शामिल कर एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है। इन बसों को बेड़े में शामिल होने के साथ ही दिल्ली में कुल बसों की संख्या 7205 हो गई है। इन बसों में डीटीसी की 3912 बसें हैं और 3293 बसें क्लस्टर की हैं। वहीं, इलेक्ट्रिक बसों को ठहरने के लिए दिल्ली सरकार ने तीन इलेक्ट्रिक डिपो रोहिणी सेक्टर 37, मुंडेल कलां और राजघाट-2 में बनाया है। 24 करोड़ रुपए की लागत से बना मुंडेल कलां डिपो में 32 चार्जिंग स्टेशन बनाए गए हैं। जबकि 120 करोड़ रुपए से बने रोहिणी सेक्टर-37 डिपो में 48 चार्जिंग स्टेशन हैं।इलेक्ट्रिक बसों की सबसे बड़ी खासियत यही है कि ये प्रदूषण रहित हैं। इन बसों के चलने से प्रदूषण नहीं होता है। जीरो एमिशन के साथ ही ये बसें जीरो नॉइज़ वाली हैं। साथ ही इनमें जीपीएस डिवाइस, दिव्यांगों के लिए रैंप, पैनिक बटन, सीसीटीवी कैमरा समेत सुरक्षा संबंधित अन्य सुविधाओं से लैस हैं।आने वाले कुछ दिनों के अंदर डीटीसी के बेड़े में 150 और इलेक्ट्रिक बसों को शामिल किया जाएगा। इसके अलावा हाल ही में परिवहन विभाग ने 330 इलेक्ट्रिक बसों की बोली को भी अंतिम रूप दे दिया है, जिन्हें 4 से 6 महीने के भीतर शामिल कर लिया जाएगा। साल के अंत तक डीटीसी अपने बेड़े में 1500 इलेक्ट्रिक बसों को शामिल कर लेगा। जिसके बाद दिल्ली वालों का आवागमन और भी आसान और आरामदायक हो जाएगा। इन 1500 ई-बसों के लिए 12 ई-बस डिपो भी बनाए जा रहे हैं, जिसका कार्य अगले एक साल में पूरा हो जाएगा।केजरीवाल सरकार ने सभी के लिए 26 मई तक के लिए इलेक्ट्रिक बसों में यात्रा फ्री कर दी है। दिल्ली सरकार का प्रयास है कि दिल्ली के युवाओं को इलेक्ट्रिक बसों में सफर करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए। यह बसें मुद्रिका, कमला मार्केट से मंगोलपुरी वाई ब्लॉक, शिवाजी स्टेडियम से रोहिणी सेक्टर 22 (टर्मिनल) और 23, कश्मीरी गेट आईएसबीटी से कंझावला, मोरी गेट से होकर महरौली नजफगढ़ तक चलेंगी। इन रूट्स पर चलने वाली ई-बसों में यात्री तीन दिनों तक मुफ्त सफर का आनंद उठा सकते हैं। इस दौरान सीएम  अरविंद केजरीवाल ने इलेक्ट्रिक बस के साथ सेल्फी लेकर सेल्फी प्रतियोगिता की भी शुरुआत की। यह प्रतियोगिता आगामी 30 जून तक चलेगी। #IrideEbus  नाम से यह सेल्फी प्रतियोगिता सोशल मीडिया पर चलाया जाएगा, जहां पर यात्री इलेक्ट्रिक बस में सफर करने के दौरान सेल्फी लेकर उसे पोस्ट करेंगे और सबसे ज्यादा लाइक और शेयर किए जाने वाले तीन प्रतिभागियों का चयन किया जाएगा, जिनको दिल्ली सरकार की तरफ से आई-पैड इनाम स्वरूप दिया जाएगा।
*मुंडेलाकलां डिपो से इन रूटों पर पर चलेंगी 51 बसें-*

1- रूट संख्या 821 पर जगनपुर कलां से तिलक नगर तक मिठौरा, नजफगढ़, नवादा और उत्तम नगर होते हुए जाएगी। करीब 20 किमी लंबे इस रूट पर 3 इलेक्ट्रिक बसें चलेंगी।
2- रूट संख्या 835 पर ढांसा बॉर्डर से तिलक नगर तक मुंधेला एक्स-आईएनजी, रावता एक्स-आईएनजी, मित्रांव, नजफगढ़, नवादा, उत्तम नगर होते हुए जाएगी। करीब 30.7 किमी लंबे इस रूट पर 7 इलेक्ट्रिक बसें चलेंगी।
3- रूट संख्या 764 नजफगढ़ टर्मिनल से नेहरू प्लेस (टी) तक द्वारका एक्स-आईएनजी, द्वारका सेक्टर -3, 2, 1, पालम फ्लाईओवर, पालम एयरपोर्ट, वसंत गांव, मुनिरका, आईआईटी गेट होते हुए जाएगी। करीब 34.4 किमी लंबे रूट पर 12 बसें चलेंगी।
4- रूट संख्या 978 पर नजफगढ़ टर्मिनल से आजाद पुर टर्मिनल तक दिचाओं कलां डिपो, बपरोला, रणहोला, नांगलोई, पीरा गढ़ी, पंजाबी बाग, अशोक विहार एक्स-इंग होते हुए जाएगी। करीब 26 किमी लंबे रूट पर 9 बसें चलेंगी।
5- 539ए पर नजफगढ़ टर्मिनल से लाडो सराय फिरनी रोड तक दीनपुर, छावला, बिजवासन, कापसहेड़ा, महिपाल पुर, वसंत कुंज, छतरपुर एक्स-आईएनजी होते हुए जाएगी। करीब 33.9 किमी लंबे रूट पर 5 बसें चलेंगी।
6- रूट संख्या 923 पर नजफगढ़ टर्मिनल से पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन तक दिचाओं कलां डिपो, बपरोला, रणहोला, नांगलोई, पीरा गढ़ी, पंजाबी बाग, जखीरा, सराय रोहिल्ला, मॉडल बस्ती, तीस हजारी कोर्ट, आईएसबीटी काशमीरी गेट होते हुए जाएगी। करीब 30.4 किमी लंबे इस रूट पर 5 बसें चलेंगी।
7- रूट संख्या 826 पर चौधरी ब्रह्म प्रकाश आयुर्वेदिक अस्पताल खेरा डाबर से तिलक नगर तक मित्रांव, नजफगढ़, नवादा, उत्तम नगर होते हुए जाएगी। करीब 25.7 किमी लंबे इस रूट पर 3 बसें चलेंगी।
8- रूट संख्या 817छ पर नजफगढ़ टर्मिनल से मोरी गेट टर्मिनल तक नवादा, उत्तम नगर, तिलक नगर, मोती नगर, ज़खीरा, इंद्रलोक, सराय रोहिल्ला, मॉडल बस्ती, तीस हजारी कोर्ट, आईएसबीटी कश्मीरी गेट तक जाएगी। करीब 31.8 किमी लंबे इस रूट पर 7 बसें चलेंगी।

*रोहिणी सेक्टर-37 डिपो से इन रूटों पर पर चलेंगी 99 बसें -*

1-रूट संख्या 901 पर मंगोलपुरी वाई-ब्लॉक से कमला मार्केट तक मधुबन चौक, वजीरपुर डिपो, आजादपुर, जीटीबी नगर, पुरानी दिल्ली सचिवालय, आईएसबीटी कश्मीरी गेट, लाल किला, दिल्ली गेट, रामलीला ग्राउंड तक जाएगी। करीब 24.5 किमी लंबे इस रूट पर 15 बसें चलेंगी।
2- रूट संख्या 990 ए पर रोहिणी सेक्टर-25 (दीप विहार) से शिवाजी स्टेडियम तक रिठाला मेट्रो स्टेशन, रोहिणी सेक्टर-1 और रोहिणी सेक्टर 7-8, मधुबन चौक, सीडी ब्लॉक पीतमपुरा, वजीरपुर डिपो, पंजाबी बाग, करमपुरा, पटेल नगर, करोल बाग और गोले मार्केट होते हुए जाएगी। करीब 25 किमी लंबे इस रूट पर 3 बसें चलेंगी।
3- रूट संख्या 879 पर शाहबाद डेयरी से जनक पुरी डी-ब्लॉक तक रोहिणी सेक्टर-16, रोहिणी सेक्टर-15 जी-ब्लॉक, सेक्टर-9, सेक्टर-7/8, मधुबन चौक, पीरा गढ़ी, विकासपुर, आउटर रिंग रोड, जनकपुरी जिला केंद्र, उत्तम नगर, ब्1 जनकपुर और सागरपुर होते हुए जाएगी। करीब 28.4 किमी लबें इस रूट पर 15 बसें चलेंगी।
4- रूट संख्या 990म्ग्ज् पर रोहिणी सेक्टर-23 (पैकेट-सी) से शिवाजी स्टेडियम तक रिठाला मेट्रो स्टेशन, रोहिणी सेक्टर-1, रोहिणी सेक्टर 7-8, मधुबन चौक, पीतमपुरा, वजीरपुर डिपो, पंजाबी बाग, करमपुरा, पटेल नगर और करोल बाग होते हुए जाएगी। करीब 25 किमी लंबे इस रूट पर 10 बसें चलेंगी।
5- रूट संख्या 957 पर रोहिणी सेक्टर-22 टर्मिनल से शिवाजी स्टेडियम वाई ब्लॉक तक मंगोलपुरी, अवंतिका, रोहिणी सेक्टर-7 क्रॉसिंग, महिंद्रा पार्क, ब्रिटानिया, पंजाबी बाग, ज़खीरा फ्लाईओवर, सराय रोहिल्ला, देवनगर, करोल बाग और गोल मार्केट होते हुए जाएगी। करीब 25.6 किमी लंबे इस रूट से 13 बसें चलेंगी।
6- रूट संख्या 165 पर शाहबाद डेयरी से आनंद विहार आईएसबीटी तक रोहिणी सेक्टर-18 एक्स-आईएनजी, बादली रेलवे, स्टेशन, समयपुर, जीटीके बाइ पास, बुराई एक्स-इंग, वज़ीराबाद एक्स-इंग, भजनपुरा, यमुना विहार, नंद नगरी डिपो, दिलशाद गार्डन और आनंद विहार होते हुए जाएगी। करीब 35.2 किमी लंबे इस रूट पर 18 बसें चलेंगी।
7- रूट संख्या 182ए पर कंझावाला गांव से कश्मीरी गेट आईएसबीटी, कराला, बेगमपुर, मंगोलपुर, मधुबन चौक, वज़ीरपुर, बी -3 केशवपुरम, घंटाघर और तीस हजारी होते हुए जाएगी। करीब 27 किमी लंबे इस रूट पर 5 बसें चलेंगी।
8- रूट संख्या 971 पर रोहिणी सेक्टर-1 अवंतिका से आनंद विहार आईएसबीटी तक रोहिणी सेक्टर-4,5 एक्स-आईएनजी, रोहिणी सेक्टर-7,8 एक्स-इंग, मधुबन चौक, वजीरपुर, अशोक विहार, आजादपुर, जीटीबी नगर, बालकराम अस्पताल, वजीराबाद, भजनपुरा, यमुना विहार, नंदनगरी डिपो, सीमापुरी और आनंद विहार होते हुए जाएगी। करीब 34 किमी लंबे इस रूट पर 20 बसें चलेंगी।
****

Related posts

दिल्ली यातायात पुलिस ने ग्रीन कॉरिडोर के माध्यम से कैडवेरिक लिवर के परिवहन की सफलता पूर्वक सुविधा प्रदान की-वीडियो देखें। 

Ajit Sinha

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने अन्तर्राष्टीय ड्रग गिरोह के दो सदस्यों को 40 करोड़ रुपए के हेरोइन के साथ किया गिरफ्तार।  

Ajit Sinha

नई दिल्ली: जगदीश ठाकोर को गुजरात कांग्रेस कमेटी के बने अध्यक्ष

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//reemebal.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x