Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद हरियाणा

कल 21 जून को सुबह 10 बजकर 20 मिनट से दोपहर 1 बजकर 47 मिनट तक सूर्यग्रहण की पूर्ण छाया कुरुक्षेत्र में पड़ेगी।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
चंडीगढ़: सूर्यग्रहण के दौरान लोगों की सुरक्षा व शांति व्यवस्था बनाए रखने और कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर 21 जून को सायं 4 बजे तक कुरुक्षेत्र में कर्फ्यू  लगाया गया है। इस वर्ष 21 जून को कुरुक्षेत्र में सूर्यग्रहण पर किसी प्रकार के बड़े स्तर के कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जा रहा है। इस वर्ष 21 जून को प्रात: 10 बजकर 20 मिनट से दोपहर 1 बजकर 47 मिनट तक सूर्यग्रहण लगेगा और इसकी पूर्ण छाया कुरुक्षेत्र में पड़ेगी। इतना ही नहीं कुरुक्षेत्र जिले के चारों तरफ नाकाबंदी की गई है और ब्रह्मसरोवर, सन्निहित सरोवर के साथ-साथ अन्य सरोवरों पर बैरिकेटिंग के साथ नाकाबंदी के पुख्ता इंतजाम किए गए है।         
यह जानकारी देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि इस वर्ष 21 जून को सुबह 10 बजकर 20 मिनट से दोपहर 1 बजकर 47 मिनट तक सूर्यग्रहण की पूर्ण छाया कुरुक्षेत्र में पड़ेगी। इस महामारी के दौरान कुरुक्षेत्र में सूर्य ग्रहण मेले का बड़े स्तर पर आयोजन नहीं किया जाएगा। सभी लोग अपने-अपने घरों में बैठकर ही पूजा-अर्चना करेंगे। कुरुक्षेत्र में कानून व शांति व्यवस्था बनाए रखने तथा लोगों के आवागमन को रोकने और कोरोना के संक्रमण से बचाव को लेकर 21 जून सायं 4 बजे तक कफ्र्यू लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पिहोवा सरस्वती तीर्थ के लिए भी सूर्य ग्रहण के समय सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए है। उन्होंने कहा कि सूर्यग्रहण के समय ब्रह्मसरोवर, सन्निहित सरोवर व अन्य सरोवरों पर दान देने और स्नान करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।
इस सूर्यग्रहण में सूरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए 21 जून को सायं 4 बजे तक कफ्र्यू लगाया गया है। जिले में कुल 52 नाके लगाए गए है, इंटर-स्टेट, इंटर-डिस्ट्रिक और ब्रह्मसरोवर के चारों तरफ बेरिकेटिंग के साथ सुरक्षा-व्यवस्था के पुख्ता प्रबंध किए गए है, पुलिस के द्वारा लगातार पेट्रोलिंग की जाएगी। इस सुरक्षा व्यवस्था पर 750 पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों के अलावा लोकल पुलिस और एसएचओ की डयूटी लगाई गई है, जो पल-पल की गतिविधियों पर नजर रखेंगे। उन्होंने कहा कि ब्रह्मसरोवर के वीवीआईपी घाट पर धार्मिक अनुष्ठान और पाठ का आयोजन किया जाएगा। कुरुक्षेत्र में 21 जून को सुबह 10 बजकर 20 मिनट पर ब्रह्मसरोवर के वीवीआईपी क्षेत्र की तरफ गंगा घाट पर परम्परा अनुसार धार्मिक अनुष्ठान होगा और इसी के साथ ही शुभद्रा घाट पर पाठ का आयोजन किया जाएगा। इस धार्मिक अनुष्ठान और पाठ का आयोजन 1 बजकर 47 मिनट तक चलेगा।

Related posts

सूरजकुंड अंतर्राष्टीय हस्तशिल्प मेले में शिल्पकारों की स्टालों से चोरी करने वाला एक शख्स को पुलिस ने किया गिरफ्तार। 

Ajit Sinha

पृथला के बूथ न. 88 पर होने वाले पुनःमतदान के लिए डियूटी मजिस्टेट नियुक्त : डीसी

Ajit Sinha

फरीदाबाद: पूर्व क्रिकेटर कपिल देव ने मानव रचना की एलुमनाई पुस्तक उत्कृष्ट – ‘आइकॉन्स ऑफ मानव रचना’ का किया विमोचन

Ajit Sinha
//stoobsugree.net/4/2220576
error: Content is protected !!