Athrav – Online News Portal
अपराध हरियाणा

पत्रकार बता कर ठगी करने वाले आरोपित को पुलिस ने किया अरेस्ट।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
पंचकूला:थाना सेक्टर -20 की टीम ने आज धोखाधडी से 6 लाख रुपये के ठगी के मामले में आरोपित को अरेस्ट  किया हैं। अरेस्ट किए गए आरोपित का नाम  सुरेन्द्र आहूजा, निवासी एमएस इनकलेव ढकौली, जीरकपुर, पंजाब हैं। आरोपित को अदालत के सम्मुख पेश कर किया गया जहां से उसे न्यायिक हिरासत भेज दिया गया हैं। आरोपित अपने आप को पत्रकार बताता था । पुलिस प्रवक्ता मुताबिक बीते 8 फरवरी 2022 को थाना सेक्टर- 20 में रहमत निवासी इन्द्रा कालोनी, सेक्टर- 17 नें शिकायत दर्ज करवाई कि उसकी मुलाकात अमन गिल नाम के लडके से हुई ।

जिसनें कहा कि उसकी कपडे की फैक्टरी है और प्रापर्टी डीलिंग का काम करता है जिसने कहा कि ढकौली में एक मकान बिकाऊ है शिकायतकर्ता ने मकान देखकर बताया कि वह इस मकान को खरीदना चाहता है जब इस बारें अमन गिल से बात की तो उसने कहा कि यह मकान मुझे किसी व्यक्ति ने 8 लाख रुपये में गिरवी रखा हुआ है जिसके कागजात मेरे पास है और मै तुम्हे ये मकान 18 लाख रुपये में दिलवा दूंगा । और कहा कि आप 6 लाख रुपये पहले दे दो बाकि रकम का मै तुम्हारा बैंक से लोन करवा दूंगा, जौ सौदा होने पर शिकायतकर्ता ने दो दिन में नकद 6 लाख रुपये दे दिए । तथा बैंक से लोन करवानें के नाम पर 18380/- रुपये अलग से ले  लिए, और पैसे की रिसिप्ट भी दे दी और मकान की रजिस्ट्री करवाने के लिए 1 महीने का समय दे दिया।

उसके कुछ दिन बाद पुलिस अमन गिल को लेकर घर पर आई जहा से पता चला कि अमन गिल का असली नाम अजय है और संजय शर्मा के पास इण्डस्ट्रीज  एरिया में नौकरी करता है जो संजय के साथ भी धोखाधड़ी की है जब संजय शर्मा की शिकायत पर कार्रवाई  करते हुए अमन गिल को उसके घर से 3 लाख रुपये सहित काबू किया था । जो पैसे लिए हुए शिकायतकर्ता रहमत खान के वापिस कर दिए और तभी पुलिस चौकी में संजय शर्मा के साथ एक और व्यक्ति सुरेन्द्र आहूजा भी आया हुआ था । पुलिस चौकी में अमन गिल उर्फ अजय ने शिकायतकर्ता व अपने मालिक संजय शर्मा से माफी मांगना शुरू कर दिया और अपनी गलती मानते हुए पंचायती तौर पर बात खत्म करने की कहने लगा ।

उसके बाद हमने चौकीं के बाहर सभी ने आपस में पंचायती तौर पर मिल बैठकर फैसला किया कि अमन गिल उर्फ अजय के घर से जो 3 लाख रुपये मिले है वह मुझे  दिए  जाए  और बकाया 318380/- रुपये के 2 चैक अमन गिल उर्फ अजय मुझे देगा।  पंचायती तौर पर फैसला होने के बाद मुझे और संजय शर्मा को यह फैसला मंजूर होने पर संजय शर्मा के साथ आए हुए  सुरेन्द्र आहूजा ने अपने मोबाईल मे फैसला लिख मार्किट से उसका प्रिंट निकाल कर अमन गिल उर्फ अजय व उसकी पत्नि विमला  के हस्ताक्षर करवाकर अपने पास रख लिया  । उसके  1 घंटे बादसुरेन्द्र आहूजा ने अपने मोबाइल से  शिकायतकर्ता को मेरे फोन पर कहा कि मैंने आपका फैसला करवाया है । और मै अमन गिल उर्फ अजय तेरे बकाया रुपया जल्दी वापिस दिलवा दुँगा । औऱ कहा कि  मुझे चौकी के मुलाजमान की भी सेवा पानी करनी है । मैंने अपनी मर्जी से 5000/- रुपये देने के लिए  हां  कर दी थी फिर अगले दिन सुरेन्द्र आहूजा ने अपने मोबाइल से फोन करके कहा कि मेरे द्वारा लिखित फैसला मांगने पर उसने पुलिस को देने के लिए  मेरे से   40000/- रुपये मागे और सेक्टर- 14 पंचकुला की लाईटो के पास शिकायतकर्ता ने 30000/- रुपये नगद सुरेन्द्र अहुजा को दे दिए  और फैसले की कॉपी सुरेन्द्र आहूजा से मांगी तो उसने मुझे अपने मोबाइल से व्हाट्सएप  पर भेज दी । उसने दौबारा पुलिस को देनें के 15000/- रुपये मांग कि वह भी दे दिए । उसके उपरान्त जब सजंय शर्मा से बात हुई तो बताया कि संजय आहूजा ने उसके पास से पुलिस को पैसे देने के लिए 45000/- रुपये ले गया  है। परन्तु जब संजय शर्मा तथा सुरेन्द्र आहुजा को आमने सामने किया तो सुरेन्द्र आहूजा ने कहा कि मैंने जो रुपये रहमत से लिए  है मेरे पास ही है मै किसी को रुपये नही दुगां और न ही रहमत के रुपये वापिस करता । संजय शर्मा ने जब सुरेन्द्र आहूजा को कहा की रहमत गरीब आदमी है। इस से 45000/- रुपये लेकर तुने गरीब मार की है  तो सुरेन्द्र अहुजा ने संजय शर्मा को भी धमकी भरे लहजे में कहा कि  तेरे से भी जो होता है कर ले  मै पत्रकार हुँ, तुझे भी मै देख लुंगा, हमारा रोज का काम है । उसके बाद मैंने दोबारा सुरेंद्र आहूजा से बात करने  की कोशिश की तो सुरेन्द्र आहूजा ने मेरा मोबाइल उठाना बंद कर दिया और मेरा नंबर ब्लॉक  कर दिया था । जिस बारें थाना में प्राप्त शिकायत पर भारतीय दंड संहिता की धारा 384,385,419,420,467,468,471,120-बी थाना सेक्टर- 20 पंचकूला में मामला दर्ज किया गया । जिस मामले में आगामी तफ्तीश सब इंस्पेक्टर  गुरपाल सिंह के अमल में लाते हुए उपरोक्त मामले में आरोपी को अरेस्ट  किया गया । अरेस्ट किए गए आरोपी के खिलाफ धमकी तथा आई एक्ट के तहत जिला फतेहाबाद में दर्ज है । जिन मामलों में कार्रवाई  की जा रही है

Related posts

करोड़ों रुपये की प्रॉपर्टी के लालच में और अवैध संबंधों के विरोध में भाई ने अपनी बहन का गला घोट दिया-मौत -अरेस्ट।

Ajit Sinha

दिल्ली पुलिस, एफबीआई और इंटरपोल के सहयोग से अंतर्राष्ट्रीय साइबर अपराध सिंडिकेट का हुआ पर्दाफाश -4 अरेस्ट

Ajit Sinha

बड़ी खुशी का दिन, 75 प्रतिशत लोकल रोजगार कानून देगा युवाओं को सुनहरा भविष्य – दुष्यंत चौटाला

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//eeptoabs.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x