Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद

ग्रेटर फरीदाबाद में अवैध निर्माणों का फैलता जाल, निगम के तोड़फोड़ विभाग का नाम बदल, अब जोड़तोड़ विभाग रख देना चाहिए।


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
फरीदाबाद: मुख्यमंत्री मनोहर मनोहर लाल खट्टर को ओल्ड फरीदाबाद नगर निगम के तोड़फोड़ विभाग का नाम बदल कर अब जोड़ तोड़ विभाग रख देना चाहिए,क्यूंकि ओल्ड फरीदाबाद नगर निगम के सम्बंधित विभाग के अधिकारी अब ऐसा ही कर रहे हैं। ओल्ड फरीदाबाद नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले नहर पार इलाके में अवैध निर्माणों का जाल लगातार बढ़ता ही जा रहा हैं, और अब भी कई स्थानों पर अवैध दुकानें बनाने का कार्य धड़ल्ले से चल रही हैं। जो थमने का नाम बिल्कुल नहीं ले रहा हैं।

इसी तरह की खबरें लगातार बीते कई दिनों से एनआईटी और बल्ल्भगढ़ नगर निगम क्षेत्रों से आई हैं, मै लोगों ने अवैध निर्माणों के लिस्ट जो तत्कालीन नगर निगम कमिश्नर यशपाल यादव ने बनाई थी,लगभग उन सभी अवैध निर्माणों को उनके जाने के बाद, पूर्ण रूप से बन कर तैयार हो गई हैं। इस खबर में प्रकाशित सभी अवैध निर्माणों की तस्बीरें गांव वजीरपुर , नहरपार , ओल्ड फरीदाबाद की हैं, जिसे सम्बंधित विभाग के एसडीओ सुरेंद्र हुड्डा के व्हाट्सएप्प पर कल वीरवार को भेज दी गई थी। इस बारे में उन्होनें यही कहा कि जल्द ही मौके को चेक किया जाएगा, इसके बाद कानूनी नियम के तहत आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

अब सेक्टर -29 पुल से गांव वजीरपुर रोड के किनारे शराब के ठेका से थोड़ा आगे एक साथ 3-4 अवैध रूप से दुकानें बन रही हैं, इससे थोड़ा और आगे जाने पर पुराने दरवाजे की दुकाने सजी होती हैं , के पास नीचे -ऊपर धड़ल्ले से एक बड़ी सी बिल्डिंग बन रही हैं। ये तो या बड़ी शोरूम हैं ,या बैंकट हॉल बन रही हैं। इससे थोड़ा और आगे जाएंगें तो दूसरा शराब का ठेका आएगा,के पीछे बहुत बड़ी तीनों के शेड व दुकानें अवैध रूप से बन रही हैं। यहां से लौट कर फिर से सेक्टर – 29 पुल की तरफ आएंगे तो आप देखेंगे तो जीवन नगर की तरफ तो एक बहुत बड़ी सी अवैध दुकानें अभी बन रही हैं। वही, तिगांव रोड पर एक ही स्थान पर 7 -8 दुकानें अवैध रूप से बन कर तैयार हो गई हैं। अवैध निर्माणों का यह खेला बीते कई महीनों से लगातार चलती आ रही हैं, लोग बतातें हैं कि इतनी बड़ी तादाद में अवैध निर्माणों का निर्माण होना, फरीदाबाद नगर निगम के ऊपर कई सवाल खड़ा करता हैं। लोग दबी हुई जुबान कहते हैं कि ये सभी अवैध निर्माण नगर निगम के सम्बंधित विभाग के अधिकारी की मिलीभगत बिना नहीं बन सकती हैं।

अब देखते हैं कि नगर निगम के सम्बंधित अधिकारी बन रहे अवैध निर्माणों पर किस तरीके की कार्रवाई करते हैं, या नहीं करते हैं, इसके बाद ओल्ड फरीदाबाद की संयुक्त आयुक्त शिखा और नगर निगम कमिश्नर जितेंद्र दहिया को ये सभी तस्बीरें  खबर के माध्यम से भेज दी  जाएगी, और उनसे पूछा जाएगा कि ये सब आखिरकार क्या हो रहा हैं। इसके बाद भी अवैध निर्माणों पर अंकुश नहीं लगता हैं, तो इसकी शिकायत मुख्यमंत्री मनोहर लाल से खबर के माध्यम से किया जाएगा। पता चला हैं कि ज्यादातर जो अवैध निर्माण जो बन रहे हैं, वह सब खेती की जमीन पर बन रही हैं,कई लोगों के पास जमीनों की रजिस्ट्री , जीपीए के अलावा एक भी कागजात नहीं हैं, क्यूंकि लम्बें समय से अवैध प्लाटों की रजिस्ट्री और जीपीए बंद हैं। फिर भी लोग जमीनों को खरीद या ख़रीदे गए जमीनों पर बड़े -बड़े अवैध दुकानें बनाएं जा रहे हैं। खबर लिखते समय सेक्टर -37 के निकट 12/ 2 , 100 फुट रोड , शेर शाह सूरी रोड पर, नाले की जमीन पर अवैध रूप से दुकानें बन रही हैं की खबरें आई हैं। इसके अलावा अमृता हॉस्पिटल के नजदीक मुख्य गेट से थोड़ा आगे तीन बड़ी -बड़ी दुकानें बन गई हैं , जो  निर्माणधीन हैं , के साथ में भी नया अवैध निर्माण कार्य तेजी से चल रहा हैं। ये गांव का इलाका हैं , इसका निगम एसडीओ विनोद सिंह हैं , जो 3 -4 दिन पूर्व ही कार्यभार संभाला हैं। पत्रकारों का काम होता गलत कार्यों को ख़बरों के माध्यम से  उजागर करना, जांच करना , कार्रवाई करना संबंधित विभाग का कार्य हैं।          

Related posts

पलवल जिले के एक्सिस बैंक में 95 लाख रूपए की दिन दहाड़े हुई सरेआम लूट की वारदात को अंजाम देने वाले 5 लूटेरे अरेस्ट।

Ajit Sinha

मानव रचना में आयोजित स्मार्ट इंडिया हैकथॉन-2023 में दिखी प्रतिभा , छह श्रेणियों में विजेताओं को किया सम्मानित

Ajit Sinha

फरीदाबाद : देर रात सेक्टर -17 पुल से आगरा नहर में सब्जी बेचने वाला एक लड़के ने छलांग लगा दी, नहर में तेजी से तलाश जारी।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//doowhouptu.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x