Athrav – Online News Portal
दिल्ली राजनीतिक राष्ट्रीय

राहुल बोले- प्रधानमंत्री मोदी और आरएसएस देश के संविधान को खत्म करने का प्रयास कर रहे

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली:कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आरएसएस द्वारा लगातार लोकतंत्र एवं संविधान पर आक्रमण किया जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी और आरएसएस देश के संविधान को खत्म करने का प्रयास कर रहे हैं।छत्तीसगढ़ के बस्तर और महाराष्ट्र के भंडारा में लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी उम्मीदवारों के समर्थन में आयोजित जनसभाओं में उमड़ी विशाल भीड़ को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि देश में आज दो विचारधाराओं की लड़ाई है। एक तरफ कांग्रेस पार्टी और इंडिया गठबंधन है, जो संविधान को बचाने में लगे हैं। दूसरी तरफ नरेंद्र मोदी और आरएसएस हैं, जो संविधान को खत्म करने का प्रयास रहे हैं।

भाजपा पर आदिवासियों का अपमान करने का आरोप लगाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस आदिवासी शब्द का इस्तेमाल करती है, वहीं भाजपा के लोग आदिवासियों को वनवासी कहते हैं। इन दोनों शब्दों में जमीन-आसमान का फर्क है। आदिवासी का मतलब जल, जंगल, जमीन पर सबसे पहला अधिकार आदिवासियों का है, लेकिन वनवासी का मतलब इन सब चीजों पर आदिवासियों का अधिकार नहीं है। राम मंदिर के उद्घाटन के समय राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को नहीं बुलाया गया, क्योंकि वह आदिवासी हैं। यह मोदी जी की सोच है। उन्होंने आगे कहा कि आज देश में आदिवासियों की भागीदारी नहीं है। कांग्रेस चाहती है कि आदिवासियों को हिंदुस्तान में भागीदारी मिले। कोरोना महामारी के समय मोदी सरकार की विफलताओं की याद दिलाते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना महामारी के समय ऑक्सीजन की कमी थी। लोग मर रहे थे, तब देश के प्रधानमंत्री थाली बजाने की बात कह रहे थे। जब थाली से काम नहीं हुआ तो कहने लगे कि मोबाइल फोन की लाइट जलाओ। लाखों लोगों की जान कोरोना से गई। देश के अलग-अलग राज्यों से गरीब लोग घर वापस लौटे, लेकिन मोदी सरकार ने किसी की भी मदद नहीं की।उन्होंने कहा कि पिछले दस वर्षों में नरेंद्र मोदी ने चुनिंदा अरबपतियों के लिए सरकार चलाई है। नरेंद्र मोदी 24 घंटे इन अरबपतियों की मदद करते हैं। आज सब कुछ अडानी को दिया जा रहा है। केंद्र की सरकार को नरेंद्र मोदी की सरकार कहा जाता है, मगर सच्चाई यह है कि यह अडानी की सरकार है। आज देश में बेरोजगारी, महंगाई और भागीदारी सबसे बड़े मुद्दे हैं। लेकिन मोदी कभी भी इन मुद्दों पर बात नहीं करते। राहुल गांधी ने कहा कि हिंदुस्तान में पिछड़े वर्ग की 50 प्रतिशत,दलित वर्ग की 15 प्रतिशत, आदिवासी वर्ग की आठ प्रतिशत, अल्पसंख्यकों की 15 प्रतिशत और सामान्य वर्ग के गरीबों की पांच प्रतिशत आबादी है। मगर इस 90 प्रतिशत से ज़्यादा आबादी की कहीं भागीदारी नहीं है। अपने संबोधन में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने पार्टी के घोषणा पत्र में किए गए वादों का जिक्र करते हुए कहा कि केंद्र में कांग्रेस सरकार आने पर जातिगत जनगणना कराई जाएगी। हर गरीब परिवार की एक महिला को हर महीने साढ़े आठ हजार रूपये की मदद दी जाएगी। इस तरह महिलाओं को सालाना एक लाख रूपये मिलेंगे। इस कदम से एक झटके में हिंदुस्तान में गरीबी खत्म हो जाएगी। इसके अलावा सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा। उन्होंने इस दौरान युवाओं से केंद्र में ख़ाली पड़े 30 लाख सरकारी पद भरने, ट्रेनिंग के लिए अप्रेंटिसशिप कानून लागू करने, अग्निवीर योजना रद्द करने और सरकारी कार्यों में ठेका प्रथा को खत्म करने जैसे वादे दोहराए। उन्होंने किसानों के लिए एमएसपी कानून लागू करने और कर्ज माफी का वादा किया।जीएसटी में बदलाव करने का वादा करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने गलत जीएसटी लागू की है। इस जीएसटी से छोटे व्यापारी और छोटे व्यवसाय खत्म हो गए हैं। कांग्रेस की सरकार आने पर एक टैक्स होगा। कम से कम टैक्स होगा। भाषण के आखिर में उन्होंने जनता से कांग्रेस उम्मीदवारों को भारी मतों से जिताने का आह्वान किया।

Related posts

10 लाख रुपए का इनामी खूंखार आतंकवादी,5 पुलिसकर्मियों की हत्या और दर्जनों पुलिसकर्मी का खून बहाने वाला पकड़ा गया।

Ajit Sinha

केंद्र सरकार ने राज्यों पर वैक्सीन खरीदने की जिम्मेदारी डाल दी है-अरविंद केजरीवाल

Ajit Sinha

फिल्म “धूम” से प्रेरित होकर,हाई-स्पीड बाइक पर दिल्ली-एनसीआर में सोने की चैन और आई फोन छीन कर जाते थे भाग -3 अरेस्ट।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//whulsaux.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x