Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली राष्ट्रीय

प्रोटेम स्पीकर  शोएब इकबाल ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत नव निर्वाचित विधायकों को दिलाई पद एवं गोपनीयता की शपथ

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज करने के बाद आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में नव गठित सरकार का पहला विधानसभा सत्र सोमवार को शुरू हुआ। तीन दिन चलने वाले विधानसभा सत्र के पहले दिन सोमवार को प्रोटेम स्पीकर शोएब इकबाल ने नव निर्वाचित सभी विधायकों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। जिसके बाद आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता व विधायक रामनिवास गोयल को सातवीं विधानसभा का निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया। वह लगातार दूसरी बार विधानसभा अध्यक्ष चुने गए हैं। उनके नाम का प्रस्ताव उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने रखा था। जिसका सभी ने समर्थन किया। अब 25 फरवरी को दोपहर 2 बजे उप राज्यपाल अनिल बैजल विधानसभा को संबोधित करेंगे।

आप विधायक शोएब इकबाल को सोमवार सुबह 9.30 बजे उप राज्यपाल ने राज निवास पर प्रोटेम स्पीकर की शपथ दिलाई। शोएब इकबाल मटिया महल विधानसभा क्षेत्र से छठीं बार विधायक चुने गए हैं। जिसके बाद दिल्ली की सातवीं विधानसभा के पहले तीन दिवसीय विशेष सत्र की कार्रवाई सोमवार सुबह 11 बजे शुरू हुई। प्रोटेम स्पीकर शोएब इकबाल ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया समेत सभी नव निर्वाचित विधायकों को विधानसभा के सेंट्रल हाल में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। 61 सदस्यों ने हिंदी में, 3 ने ऊर्दू में, 2 ने मैथिली और एक-एक सदस्यों ने अंग्रेजी और पंजाबी भाषा में शपथ लिए। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष चुनने की कार्रवाई शुरू हुई। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ‘आप’ विधायक राम निवास गोयल के नाम का प्रस्ताव विधानसभा अध्यक्ष के लिए रखा। जिसका विधायक कुलदीप कुमार, सतेंद्र जैन, प्रवीण कुमार, दिनेश मोहनिया, एसके बग्गा,विशेष रवि और राघव चड्ढा ने समर्थन किया। जिसके बाद ध्वनि मत से प्रस्ताव को पास कर दिया गया। इसी के साथ रामनिवास गोयल लगातार दूसरी बार दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष चुन लिए गए। आम आदमी पार्टी की पिछली सरकार के दौरान भी रामनिवास गोयल ही विधानसभा अध्यक्ष थे। इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रामनिवास गोयल को निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुने जाने पर कहा कि हमारे लिए यह हर्ष का विषय है कि रामनिवास गोयल को निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुना गया। इससे स्पष्ट है कि पक्ष और विपक्ष दोनों का ही उन पर पूरा भरोसा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बीते पांच साल में हमने देखा कि रामनिवास जी सदन के भीष्म पितामह की तरह रहे। विपक्ष को भी उन्होंने शिकायत का कोई मौका नहीं दिया।



मुख्यमंत्री ने भरोसा जताया कि रामनिवास जी की अध्यक्षता में आने वाला पांच साल भी अच्छा होगा। सदन दिल्ली का मंदिर है, जो लोगों ने भरोसा जताया है, उसे पूरा करेंगे। वहीं, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी रामनिवास गोयल को निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुने जाने पर सभी विधायकों की तरफ से उन्हें बधाई दी। उन्होंने कहा कि आपके मार्ग दर्शन में दिल्ली में विकास की नई गाथा लिखी गई। आपके नेतृत्व में फिर से दिल्ली विधानसभा विकास की राह पर दिल्ली को तेजी से ले जाएगी। वहीं, नेता प्रतिपक्ष व भाजपा विधायक श्री रामवीर सिंह बिधूड़ी ने भी रामनिवास गोयल को विधानसभा अध्यक्ष चुने जाने पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि सदन चलने में वे पूरा सहयोग करेंगे। गौरतलब हैं कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को कुल 70 विधानसभा सीटों में से 62 सीटों पर विजय मिली थी। वहीं, भाजपा के खाते में 8 सीटें आई थी.

Related posts

बीजेपी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने तृणमूल कांग्रेस सरकार को जड़ से उखाड़ फेंकने का आह्वान किया।

Ajit Sinha

टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक विजेता रेसलर बजरंग पुनिया ने की सीएम अरविंद केजरीवाल से मुलाकात

Ajit Sinha

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के आवास पर उन्हें “भारत रत्न” से किया सम्मानित।

Ajit Sinha
//dolatiaschan.com/4/2220576
error: Content is protected !!