Athrav – Online News Portal
Uncategorized हरियाणा

विडियो कान्फे्रंसिंग के माध्यम से 21 राजकीय महाविद्यालयों के भवनों की आधारशिला रखी

फरहीन खान, संवाददाता-हरियाणा में बड़े पैमाने पर विकास की गति को तेज करने और उच्चत्तर शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए आज महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने गुरु रविदास जयंती के अवसर पर विडियो कान्फे्रंसिंग के माध्यम से 13 जिलों में विभिन्न स्थानों पर महिला महाविद्यालयों सहित 21 राजकीय महाविद्यालयों के भवनों की आधारशिला रखी। इन भवनों के निर्माण पर लगभग 276 करोड़ रुपये की लागत आएगी और ये भवन दिव्यांग मैत्री होंगे।
प्रदेश के इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि आईटी टूल्स का उपयोग करके एक ही स्थान से एक ही समय पर इतनी अधिक संख्या में महाविद्यालयों की आधारशिलाएं रखी गई।
मुख्यमंत्री, जिन्होंने आज यहां शिक्षा मंत्री श्री राम बिलास शर्मा की उपस्थिति में एक ही समय पर विभिन्न स्थानों पर आयोजित समारोह में विडियो कान्फे्रंसिंग के माध्यम से महाविद्यालयों की आधारशिलाएं रखी, ने कहा इन महाविद्यालयों के खुलने से कन्याओं और समाज के गरीब लोगों सहित समाज के सभी वर्गों के विद्यार्थियों को लाभ होगा और ये महाविद्यालय प्रदेश में उच्चत्तर शिक्षा के लिए एक मील का पत्थर साबित होंगे।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार युवाओं को गुणवत्तापरक उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा, प्राईमरी शिक्षा प्रदान करने के साथ-साथ छोटे-छोटे कारोबार हेतु कुशल बनाने के लिए नया रोड मैप तैयार कर रही है, ताकि युवाओं के हुनर को तराशकर उन्हें रोजगार के अधिक से अधिक अवसर मुहैया करवाएं जा सके। युवाओं को अपनी शिक्षा पूरी करने के उपरांत उन्हें रोजगार योग्य बनाने के लिए राज्य सरकार हरियाणा कौशल विकास मिशन के तहत कौशल प्रशिक्षण भी प्रदान कर रही है और इसके लिए जिला पलवल में एक कौशल विकास विश्वविद्यालय की स्थापना की जा रही है। प्रदेश में  अधिक रोजगार के अवसर सृजित करने के लिए हैपनिंग हरियाणा ग्लोबल इंवेस्टर सम्मिट-2016 और हाल ही में हरियाणा प्रवासी दिवस-2017 जैसे कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस दौरान 7 लाख करोड़ रुपये के निवेश के 600 एमओयू किये गए, जिनसे प्रदेश में चार लाख व्यक्तियों के लिए रोजगार के अवसर सृजित होंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके अतिरिक्त, जिला रोहतक में 12 से 16 जनवरी, 2017 तक राष्ट्रीय युवा उत्सव जैसे कार्यक्रमों के माध्यम से प्रदेश की सांस्कृतिक धरोहर को बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि विभिन्न गतिविधियों में भाग लेने के लिए युवाओं के प्रोत्साहन हेतु भी अनेक अन्य कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।
श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में खेलों को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तरों पर उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाडिय़ों को नकद पुरस्कारों देने की पहल की गई है। ओलम्पिक में स्वर्ण पदक विजेताओं को दी जा रही छ: करोड़ रुपये की नकद पुरस्कार राशि विश्वभर में सबसे बड़ी पुरस्कार राशि है। इसके अतिरिक्त, एक करोड़ रुपये की सर्वाधिक पुरस्कार राशि के साथ कुश्ती चैपियनशिप का आयोजन किया गया और वर्तमान में चल रही कबड्डी चैपियनशिप का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश की स्वर्ण जयंती वर्ष समारोहों के रूप में अक्तूबर, 2017 में एक खेल महाकुंभ का भी आयोजन किया जाएगा।
उच्चत्तर शिक्षा विभाग की ई-शासन पहलों की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि विडियो कान्फे्रंसिंग के माध्यम से संचालित केन्द्रीयकृत और एक ही समय पर आधारशिला रखने के समारोहों के आयोजन से संसाधनों की बचत होगी और सभी विभागों के लिए यह एक उदाहरण बनेगा।
आधारशिला रखने के ऐतिहासिक कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए शिक्षा मंत्री श्री राम बिलास शर्मा ने कहा कि पिछले 50 वर्षों  के दौरान कोई भी दूसरी सरकार एक साथ इतनी अधिक संख्या में महाविद्यालयों की आधारशिलाएं रखने में सक्षम नहीं हुई थी। उन्होंने कहा कि महिलाओं के लिए अनेक राजकीय महाविद्यालयों के खुलने से ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ जैसे महत्वकांक्षी कार्यक्रम को बढ़ावा मिलेगा।
निर्मित किये जाने वाले महाविद्यालयों में जिला गुरुग्राम में मानेसर, जिला करनाल में जुंडला, तरावड़ी और असंध, कुरुक्षेत्र, जिला महेन्द्रगढ़ में उन्हानी और छिलरो, जिला सिरसा में कालांवाली और रानियां, जिला फरीदाबाद में मोहना, मंडकोला और नचौली, जिला यमुनानगर में बिलासपुर व रादौर, जिला पलवल में बड़ौली, जिला पंचकूला में रायपुररानी, जिला फतेहाबाद में भूना और जिला नूंह में पुन्हाना शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने जिला गुरुग्राम के जाटौली हेलीमंडी में, जिला रेवाड़ी में कंवाली और जिला यमुनानगर में छछरौली के राजकीय महाविद्यालय में अतिरिक्त भवन, कलासरूम और बहुउद्देश्यीय हॉल के निर्माण के लिए भी आधारशिला रखी।  प्रत्येक भवन के निर्माण पर लगभग 12 करोड़ रुपये से 19 करोड़ रुपये की लागत आएगी।
इस अवसर पर जिला फरीदाबाद के नचौली में केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्ण पाल, हरियाणा उद्योग एवं वाणिज्यि मंत्री श्री विपुल गोयल और विधायक, श्री मूल चंद शर्मा व श्री टेक चंद शर्मा, जिला फतेहाबाद के भूना में श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री श्री नायब सिंह और विधायक श्री सुभाष बराला, जिला गुरुग्राम के मानेसर में लोक निर्माण (भवन एवं सडक़ें) मंत्री राव नरबीर सिंह और विधायक श्रीमती बिमला चौधरी, श्री तेजपाल तंवर व श्री उमेश अग्रवाल उपस्थित थे।
इसी प्रकार, जिला करनाल के असंध में खाद्य नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले मंत्री श्री कर्ण देव काम्बोज व मुख्य संसदीय सचिव श्री बख्शीश सिंह विर्क और विधायक हरविन्द्र कल्याण भी उपस्थित थे, जबकि तरावड़ी में परिवहन मंत्री श्री कृष्ण लाल पंवार और विधायक श्री भगवान दास कबीर पंथी भी उपस्थित थे।
इसी प्रकार, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री श्री कृष्ण कुमार और विधायक श्री सुभाष सुधा और श्री पवन सैनी कुरुक्षेत्र में उपस्थित थे। इसके अतिरिक्त, हरियाणा विधानसभा की उपाध्यक्ष श्रीमती संतोष यादव और विधायक डॉ० अभय सिंह यादव और श्री ओम प्रकाश यादव छिलरो जिला महेन्द्रगढ़ में उपस्थित थे। सहकारिता राज्य मंत्री श्री मनीष कुमार ग्रोवर और विधायक श्री रहीश खान पुन्हाना, जिला नूंह में उपस्थित थे।
शहरी स्थानीय निकाय मंत्री श्रीमती कविता जैन, मुख्य संसदीय सचिव श्रीमती सीमा त्रिखा, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव श्री दीपक मंगला और पूर्व मंत्री श्री हर्ष कुमार जिला पलवल के मंडकौला में उपस्थित थे। पंचकूला के रायपुररानी में विधायक ज्ञान चंद गुप्ता और श्रीमती लतिका शर्मा उपस्थित थी। इसी प्रकार, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी राज्य मंत्री डॉ० बनवारी लाल और विधायक श्री बिक्रम सिंह यादव व रणधीर सिंह कापड़ीवास जिला रेवाड़ी के कंवाली में उपस्थित थे। मुख्य संसदीय सचिव डॉ० कमल गुप्ता रानियां में जबकि हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष श्री कंवर पाल, मुख्य संसदीय सचिव श्री श्याम सिंह राणा और विधायक श्री घनश्याम दास तथा श्री बलवंत सिंह जिला यमुनानगर के छछरौली में उपस्थित थे।

Related posts

आज हुई मंत्रिमंडल की बैठक में हरियाणा ग्रुप-सी कर्मचारी (सेवा में भर्ती और शर्तें) विधेयक, 2020 पारित किया गया

Ajit Sinha

चंडीगढ़ ब्रेकिंग: हरियाणा के नूंह जिला में इंटरनेट सेवाएं 19 सितंबर तक बंद

Ajit Sinha

दरगाह पर IS के हमले से तिलमिलाया पाकिस्तान, 35 आतंकी मारे

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//vursoofte.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x