Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद विशेष

ग्रीन फिल्ड कालोनी में सील किए अवैध फ्लैटों व दुकानों के सील तोड़ने वाले बिल्डरों के खिलाफ होंगें मुकदमें दर्ज: डीटीपी  

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
फरीदाबाद: ग्रीन फिल्ड कालोनी के बिल्डरों के हौंसले इतने बुलंद हैं कि डीटीपी इंफोर्स्मेंट द्वारा सील किए गए अवैध फ्लैटों व दुकानों का सीलों को तोड़ कर और आम लोगों को धोखा देकर अवैध फ्लैट बेचने का गोरख धंधा बेखुबी कर रहे हैं। इनमें कुछ ऐसे भी बिल्डर हैं जो मंत्री व विधायक का मामूली सा हिस्सा डाल कर उनसे गलत तरीके धौंस दिलवा कर सम्बंधित अधिकारीयों पर दवाब डलवा कर अपने अवैध निर्माणों का धंधा धड़ल्ले से जारी रखे हुए हैं। इस प्रकरण में डीटीपी इंफोर्स्मेंट नरेश कुमार का कहना हैं कि जिसने भी लगाए गए सील को तोड़ने का जुर्म किया हैं,उसे फिर से एक बार चेक करवा कर,उन सभी बिल्डरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया जाएगा। 

खबर हैं कि पिछले दो से तीन महीनों में डीटीपी इंफोर्स्मेंट की टीम ने ग्रीन फिल्ड कालोनी में बनाए गए डबल यूनिट, ट्रिपल यूनिट व फॉर यूनिट को बिल्डरों ने अवैध रूप से बनाए थे जिसमें बिजली व सीवर का कनेक्शन बिल्कुल अवैध हैं। यहां तक की बिजली विभाग भी गलत तरीके से बिजली मोटी रकम लेकर दी गई हैं। ऐसे कई फ्लैट और देखने में आया हैं जोकि ग्रीन फिल्ड कालोनी में हैं जिसे डीटीपी इंफोर्स्मेंट द्वारा सील किए गए थे और कुछ ऐसे भी बिल्डिंग हैं जिनमें तोड़फोड़ भी की गई थी उन सभी अवैध निर्माणों का सील तोड़ कर अपने ग्राहकों को धोखे से बेच रहे हैं,कई बिल्डरों ने ग्राहकों को कुछ अवैध फ्लैट बेच भी दिए हैं जिसने भी इस तरीके के टूटे हुए सील वाले अवैध फ्लैट बिल्डरों से ख़रीदे हैं उन्हें आने वाले समय में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता हैं। 



खबर के अनुसार ग्रीन फिल्ड कालोनी में जिन जिन फ्लैटों के सील बिल्डरों ने तोड़े हैं उनके नंबर इस प्रकार हैं : प्लाट नंबर – 96 ,ब्लॉक बी, प्लाट नंबर -3461 ,ब्लॉक सी, प्लाट -3460 ,ब्लॉक सी, प्लाट नंबर 2203, ब्लॉक ए, प्लाट नंबर -1783 ,ब्लॉक ए , प्लाट नंबर -2898, ब्लॉक ए , प्लाट नंबर – 736 ,ब्लॉक बी, प्लाट नंबर -732 ,ब्लॉक बी, प्लाट नंबर -561, ब्लॉक बी, प्लाट नंबर -319 , ब्लॉक  बी, प्लाट नंबर -1506 ,ब्लॉक ए ,755 ,865 व 1015 हैं। इस मामले में डीटीपी इंफोर्स्मेंट नरेश  कुमार का कहना हैं कि उपरोक्त सभी नंबरों को फिर से एक बार चेक करवा कर ,उन सभी बिल्डरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया जाएगा। क्यूंकि कानून के साथ मजाक वह बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेंगें।          
  

Related posts

फरीदाबाद: जे.सी. बोस विश्वविद्यालय और श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के बीच समझौता

Ajit Sinha

फरीदाबाद: तिगांव विधानसभा में करोड़ों के विकास कार्य जारी – राजेश नागर

Ajit Sinha

फरीदाबाद :विद्यार्थी अपनी क्षमता तथा रूचि के अनुरूप करें करियर का चयन,‘करियर मार्गदर्शन एवं परामर्श’ कार्यक्रम का आयोजन: दिनेश कुमार

Ajit Sinha
//chourdain.com/4/2220576
error: Content is protected !!