Athrav – Online News Portal
दिल्ली नई दिल्ली

केजरीवाल सरकार हजारों परिवारों को जहां झुग्गी, वहीं देगी पक्का मकान, सीएम अरविंद केजरीवाल ने की समीक्षा बैठक

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
नई दिल्ली:केजरीवाल सरकार, झुग्गियों में रह रहे हजारों परिवारों को जहां उनकी झुग्गी है, वहीं पक्का मकान बनाकर देने के लिए प्रतिबद्ध है। इस संबंध में मुख्यमंत्री  अरविंद केजरीवाल ने आज दिल्ली सचिवालय में उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक कर चल रहे विभिन्न प्रोजेक्ट्स की मौजूदा स्थिति की जानकारी ली और काम में तेजी लाने के निर्देश दिए। दिल्ली सरकार चरणबद्ध तरीके से झुग्गियों में रह रहे करीब 78 हजार परिवारों को पक्के मकानों में शिफ्ट करेगी। पहले चरण में करीब 16 हजार परिवारों को शिफ्ट किया जाएगा। इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चल रहे मौजूदा प्रोजेक्ट्स को हर हाल में 3 साल के अंदर पूरा करने के सख्त निर्देश निर्देश दिए, ताकि झुग्गियों में जीवन यापन करने को मजबूर परिवारों को जल्द से जल्द पक्के मकान में शिफ्ट कर उन्हें एक सम्मान जनक जिंदगी दी जा सके। उन्होंने फ्लैट निर्माण के साथ बिजली-पानी समेत अन्य सुविधाओं को भी समय पर पूरा करने के निर्देश दिए। 

अब जहां झुग्गियां हैं, उसी जमीन पर वहीं मकान बनाकर दिए जाएंगे, पहले  झुग्गी के आस-पास 5 किलोमीटर के दायरे में मकान बनाकर देने का प्रावधान था। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने झुग्गियों में रह रहे हजारों परिवारों को ‘जहां झुग्गी, वहीं मकान’ योजना के तहत पक्के मकान बनाकर देने को लेकर चल रहे प्रोजेक्ट की आज दिल्ली सचिवालय में उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की। इस बैठक में उपमुख्यमंत्री एवं पीडब्ल्यूडी मंत्री मनीष सिसोदिया, शहरी विकास मंत्री सत्येंद्र जैन के साथ डूसिब, पीडब्ल्यूडी, दिल्ली जल बोर्ड समेत संबधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे। समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डूसिब अधिकारियों से झुग्गियों में रहने वाले परिवारों के लिए बनाए जा रहे पक्के मकानों की मौजूदा स्थिति की विस्तृत जानकारी ली। अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि अलग-अलग स्थानों पर पक्के मकान बनाए जा रहे हैं। केजरीवाल सरकार को झुग्गियों में रहने वाले करीब 78 हजार परिवारों को पक्के मकान में शिफ्ट करना है। इसके लिए सरकार अपने अधिकार क्षेत्र में उपलब्ध भूमि पर फ्लैट बनवा रही है। यह फ्लैट कई फेज में बनाए जाएंगे। इस तरह, दिल्ली सरकार चरणबद्ध तरीके से 78 हजार से अधिक फ्लैट बनाएगी। पहले फेज में लगभग 16 हजार परिवारों को पक्के मकान में शिफ्ट किया जाएगा और यह लक्ष्य 2024 तक पूरा कर लिया जाएगा। डूसिब ने करीब 15,962 फ्लैट बनाकर तैयार कर लिया है। इन फ्लैट्स में परिवारों को शिफ्ट करने का कार्य इसी साल शुरू हो जाएगा। इसके अलावा, डूसिब के कई प्रोजेक्ट चल रहे हैं, जिन पर तेजी से काम किया जा रहा है। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने चल रहे मौजूदा प्रोजेक्ट्स को 3 साल के अंदर हर हाल में पूरा करने के सख्त निर्देश दिए। उल्लेखनीय है कि केजरीवाल सरकार, झुग्गियों में रह रहे हजारों परिवारों को ‘जहां झुग्गी, वहीं मकान’ योजना के तहत पक्के मकान बनाकर दे रही है। इन हजारों परिवारों को जहां उनकी झुग्गी है, वहीं पर मकान बनाकर दिए जाएंगे। जब तक पक्के मकान बनकर तैयार किए जाएंगे, तब तक इन परिवारों को उनकी कालोनी के पास में ही दिल्ली सरकार के पहले से तैयार फ्लैटों में अस्थाई तौर पर शिफ्ट कर दिया जाएगा। जब ये पक्के मकान बनकर तैयार हो जाएंगे, तब उन परिवारों को वापस उस फ्लैट में शिफ्ट करा दिया जाएगा। 

समीक्षा बैठक में दिल्ली जल बोर्ड, बिजली विभाग, पीडब्ल्यूडी समेत सभी संबधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे। सीएम अरविंद केजरीवाल ने सभी विभागों से उनके द्वारा उपलब्ध कराई जाने वाली बुनियादी सुविधाओं की प्रगति रिपोर्ट भी देखी। जिसके बाद सीएम अरविंद केजरीवाल ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को शिफ्टिंग के लिए तैयार फ्लैटों में सभी बुनियादी सुविधाएं यथा शीघ्र मुहैया कराने के निर्देश दिए, ताकि जो परिवार फ्लैट में शिफ्ट हों, उनको किसी तरह की कोई परेशानी का सामना न करना पड़े। सीएम अरविंद केजरीवाल ने शिफ्ट होने वाले परिवारों को बिजली, पानी, सीवर, सड़क समेत सभी बुनियादी सुविधाएं गुणवत्ता युक्त मुहैया कराने के निर्देश दिए, जिससे कि इन परिवारों को एक सम्मान जनक जिंदगी जीने का अवसर मिल सके। दिल्ली में हजारों परिवार झुग्गियों में वर्षों से रह रहे हैं। इन परिवारों ने अपने जीवन यापन के लिए अपने निवास स्थान के आसपास ही रोजगार का भी बंदोबस्त कर रखा है। कुछ परिवार आसपास की फैक्ट्रियों समेत अन्य स्थानों पर नौकरी करते हैं, तो कुछ परिवार रेहड़ी-पटरी आदि लगाकर आपने जीवन यापन कर रहे हैं। इनके बच्चे पास के स्कूलों में ही पढ़ते हैं। साथ ही, उनकी रोजमर्रा की बुनियादी जरूरतें भी आसपास ही उपलब्ध हैं। इसके अलावा, वे वहां पर आपस मे काफी घुले-मिले हैं और एक परिवार की तरह सूख-दुख में साथ रहते हैं। केजरीवाल सरकार का मानना है कि अगर इन परिवारों को झुग्गियों से हटाकर दूर बने पक्के मकान में शिफ्ट किया जाता है, तो फिर इनका रोजगार अव्यवस्थित हो जाएगा और इनके सामने रोजी-रोटी का संकट पैदा हो जाएगा। बच्चों को भी मौजूद स्कूलों से नाम कटवाकर शिफ्टिंग वाले जगह पर एडमिशन लेना पड़ेगा। इन परिवारों को रोजमर्रा की जरूरतों के लिए परेशान होना पड़ेगा। इसलिए सरकार चाहती है कि सभी परिवारों को जहां उनकी झुग्गी है, वहीं पर पक्के मकान बना कर दिए जाएं, जिससे कि उनकी रोजमर्रा की जिंदगी प्रभावित न हो और सभी लोग एक सम्मान जनक जीवन यापन कर सकें।

Related posts

मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना के तहत 85वीं ट्रेन चार धाम में से एक रामेश्वरम के लिए रवाना, तीर्थ यात्रियों से मिली आतिशी

Ajit Sinha

कोरोना से निपटने की तैयारीयों का जायजा लेने लोकनायक अस्पताल पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज

Ajit Sinha

आज देश में राष्ट्रीय स्तर पर दो ही पार्टियां बची हैं, एक कट्टर ईमानदार, दूसरी कट्टर बेइमान- अरविंद केजरीवाल

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//nossairt.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x