Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद स्वास्थ्य

फरीदाबाद में कोरोना संक्रमित से शहरवासियों को छुटकारा मिलना मुश्किल,176 नए मरीजों के साथ आंकड़ा 2411 तक पहुंचा।  

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
फरीदाबाद जिले में कोरोना संक्रमित मामले थमने का नाम  नहीं ले रहा हैं, इससे शहरवासियों में इस महामारी के चलते चिंता बढ़ गई हैं। हालांकि जिला प्रशासन का इस कोरोना संक्रमण से लगातार जबरदस्त संघर्ष जारी हैं। ऐसे में आमजनों को  अपनी खुद की भी जिम्मेदारी हैं कि अपना वचाव के रास्ते को अपनाएं, हो सकें तो जिला प्रशासन की मदद करे इस बिमारी को कम करने में। जिला प्रशासन ने आज जो कोरोना संक्रमित मरीजों के आंकड़े मीडिया को जारी किए हैं  वह हैं 2411. इसमें कुल 176 नए केस हैं। इसमें अब तक 1054 मरीज ठीक हो कर अपने घर अपनों के बीच पहुंच चुके हैं।   
उप- सिविल सर्जन एवं जिला नोडल अधिकारी-कोरोना डा. रामभगत ने बताया कि जिला में अब तक 23427 यात्रियों को सर्विलांस पर लिया जा चुका है, जिनमें से 9235  लोगों का निगरानी में रखने का 28 दिन का पीरियड पूरा हो चुका है। शेष 14131लोग अंडर सर्विलांस हैं। कुल सर्विलांस में रखे गए लोगों में से 21016 होम आइसोलेशन पर हैं। अब तक 20357 लोगों के सैंपल लैब में भेजे गए थे, जिनमें से 17718 की नेगेटिव रिपोर्ट मिली है तथा 228 की रिपोर्ट आनी शेष है। अब तक 2411 लोगों के सैंपल पॉजिटिव मिले हैं, जिनमें से 498 लोगों को  अस्पताल में दाखिल किया गया है तथा 798 पॉजिटिव मरीजों को घर पर आइसोलेट किया गया है। इसी प्रकार ठीक होने के बाद 1054 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। अब तक 61 मरीजों की मौत हो चुकी है। इसमें  20 मरीज क्रिटिकल हालत में अस्पताल में दाखिल किए गए हैं इसी के साथ 3 मरीजो को आईसीयू में रखा गया है । 75 ऐसे मरीज हैं जो 10 दिनों से ज्यादा से  अस्पताल में दाखिल हैं आज जिले में  176 नए केस  आए हैं जिसमें कोरोना के साथ-साथ अन्य विभिन्न बीमारियां भी कारण रही।

Related posts

आगजनी के ढाई घण्टे बाद दमकल विभाग की गाडिय़ां को पहुंचना यह साबित करता है कि इस मामले में लापरवाही बरती गई है।

Ajit Sinha

चंडीगढ़ ब्रेकिंग: डीजीपी शत्रुजीत ने किया पूर्व डीजीपी डॉ. के पी सिंह द्वारा कानूनी प्रावधानों पर लिखित तीन पुस्तकों का विमोचन।

Ajit Sinha

फरीदाबाद : बीती रात बड़खल क्षेत्र के कालोनियों में दो तेंदुओं ने तक़रीबन 18 बकरियों को मौत के घाट उतार दिया, लोग जागते रहे , हड़कंप।

Ajit Sinha
//shooltuca.net/4/2220576
error: Content is protected !!