Athrav – Online News Portal
गुडगाँव टेक्नोलॉजी

हरियाणा सरकार ने ई-लाइब्रेरी प्रोजेक्ट को दी मंजूरी,1200 गाँवों में स्थापित की जाएगी- देवेंद्र सिंह बबली

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
गुरुग्राम: हरियाणा के ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री देवेंद्र सिंह बबली ने कहा हरियाणा सरकार ने ई-लाइब्रेरी प्रोजेक्ट को मंजूरी दे दी है। इस प्रोजेक्ट के तहत पहले फेज में अगले वर्ष मार्च माह तक प्रदेश के 1200 गांवों में ई -लाइब्रेरी बनाई जाएंगी। सरकार का लक्ष्य है कि आने वाले पांच सालों में योजना को विस्तार देते हुए विभिन्न चरणों में प्रदेश के सभी 7200 गांवों में ई -लाइब्रेरी खोली जाएगी। उन्होंने कहा कि पूरे देश में इस तरह के प्रोजेक्ट की शुरुआत करने वाला हरियाणा पहला राज्य है।

बबली गुरुग्राम के सेक्टर 46 स्थित सामुदायिक केंद्र में शैक्षणिक एवं सामाजिक उत्थान जाट सभा के नौवें वार्षिक कार्यक्रम के उपरांत मीडिया प्रतिनिधियों से बात कर रहे थे। मीडिया प्रतिनिधियों द्वारा देश सेवा में जाट समाज के योगदान पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए श्री बबली ने कहा कि देश के विकास में जाट समाज का अहम योगदान है। सीमाओं पर रक्षा की बात हो या फिर अन्न उत्पादन में देश को आत्मनिर्भर बनाने में समाज का विशेष योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि जाट वह कौम है जिसे देवता के नाम से पुकारा गया है क्योंकि यह अन्न पैदा कर पूरे देश का पेट भरने का काम करने के साथ साथ समाज के हर तबके को साथ लेकर चलने में विश्वास रखती है। उन्होंने प्रदेश सहित देश का नाम रोशन करने वाले जाट समाज सहित सर्वसमाज के सभी लोगों व उनके परिवारों को नमन करते हुए कहा कि उन्हें गर्व है कि वह ऐसे समाज से संबद्ध रखते हैं जिसका एक बहुत बड़ा तबका देश की सीमा के ऊपर अपना महत्वपूर्ण योगदान देता है।

दिल्ली के विधायक वीरेंद्र कादयान भी वशिष्ठ अतिथि के रूप में कार्यक्रम में पहुंचे । हरियाणा से महम के विधायक बलराज कुंडू भी बतौर विशिष्ट अतिथि के रूप में पहुंचे। कार्यक्रम में सबसे पहले पढ़ाई, खेलो में अच्छा प्रदर्शन करने वाले बच्चों को सभा द्वारा सम्मानित किया गया। बताया गया कि सभा का मुख्य मकसद सभी जातियों के बच्चों का मानसिक, शारीरिक व आध्यात्मिक विकास करना है । युवाओं की प्रतिभा निखार कर राष्ट्रहित व समाज हित में काम करने के लिए प्रेरित करना है।सभा के वार्षिक उत्सव पर खेल प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया जिसमें बच्चे,महिलाएं ,युवक , युवतियों व मान सम्मान के योग्य बुजुर्गों ने भी बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। बच्चो की 50 मीटर की दौड़ व 100 मीटर की दौड़ आकर्षण का केंद्र रही, वहीं महिलाओं की चमच व नींबू रेस ने सभी में उत्साह भर दिया। रस्सा कसी में बुजुर्गों ने युवाओं को हराकर कार्यक्रम को रोमांचक बना दिया ।

Related posts

बच्चों को औपचारिक शिक्षा के लिए तैयार करने पर पैनल चर्चा में शामिल हुए भारत, जर्मनी और फिनलैंड के विशेषज्ञ

webmaster

केजरीवाल सरकार का गेस्ट टीचरों को नववर्ष का तोहफा, सैलरी में बढ़ोतरी के आदेश

webmaster

विद्यार्थियों के 60 स्टार्ट-अप आइडिया प्रदर्शित किए गए , सर्वश्रेष्ठ आइडिया को मिलेगा 50 हजार का नकद पुरस्कार

webmaster
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//grunoaph.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x