Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद हरियाणा

हरियाणा: डीएसपी बिरम सिंह का परिवार कोरोना संक्रमण की हत्या करने के बाद, अब संक्रमित पुलिस कर्मियों को बचाने में लगा हैं।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
हरियाणा पुलिस के महकमें से आज एक बहुत ही बेहतरीन खबरें निकल आई हैं, ये खबरे उन सभी पुलिस कर्मियों के लिए संजीवनी साबित हो रही  है, जो लम्बें समय से कोरोना संक्रमण जैसे बिमारी से लड़ रहे हैं। जी हाँ  हम बात कर रहे हैं टोहाना के डीएसपी बिरम सिंह पोसवाल की । डीएसपी बिरम सिंह पोसवाल का परिवार बीते 9 महीनों से कोरोना संक्रमण से एक- एक लड़ रहे थे। आखिरकार उनका पूरा का पूरा परिवार कोरोना संक्रमण जैसे गंभीर बिमारी को मात देने में कामयाब हो गया । अब ये लोग इस संक्रमण से जूझ रहे अपने साथियों और सहयोगियों के हौसला बढ़ा कर कोरोना संक्रमण जैसे गंभीर बीमार को मात देने के नुस्खे बता रहे है और उनकी सहायता कर रहे हैं। 

डीएसपी बिरम सिंह पोसवाल की पोस्टिंग इस वक़्त टोहाना में हैं। वहीं , उन्होनें कहा कि डीएसपी अशोक दहिया, बिजेंदर सिंह व सीआईए इंस्पेक्टर जसबीर सिंह की कोरोना संक्रमण से मौत होने पर उन्हें बहुत दुःख हैं। इनमें से डीएसपी अशोक दहिया व बिजेंद्र सिंह उन्हीं के बेच के थे। इन दोनों डीएसपी की मौत ने ना सिर्फ मुझे ही झंकझोड़ा, बल्कि पूरे के पूरे पुलिस महकमें को झंकझोड़ दिया। वावजूद इसके हरियाणा पुलिस के जवान अपने जिम्मेदारी को बखूबी निभा रहे हैं। और लोगों की सेवाओं में पुलिस के जवान दिन रात लगे हुए हैं। 

डीएसपी बिरम सिंह पोसवाल बतातें हैं कि उनके परिवार में कुल चार लोग हैं,इनमें उनकी धर्म पत्नी श्रीमती सीमा पोसवाल, बेटी सोनल पोसवाल व बेटा हिमांशु पोसवाल हैं। बेटी सोनल पोसवाल दांतों की डॉक्टर हैं जबकि बेटा हिमांशु पोसवाल कंप्यूटर साइंस से इंजीनियर हैं। उनका कहना है कि सबसे पहले बेटी डा.सोनल पोसवाल को जून-2020 में कोरोना हुआ था। इस दौरान उसकी हालत बहुत ज्यादा ख़राब हो गई थी। गंभीर हालत में उसे फरीदाबाद के सेक्टर-21 स्थित एशियन अस्पताल में बीते 3 जून को भर्ती कराया था। वहां पर उसकी 4-5 दिनों तक इलाज चला था। फिर अस्पताल ने उसे डिस्चार्ज किया था। और कई दिनों तक उसकी दवाइयां चली थी। इस दौरान उनका परिवार काफी परेशान रहा था। इस जानलेवा बिमारी से जब तक उनका परिवार उभर पाता, की वह खुद कोरोना संक्रमण के चपेट में आ गए। और वह भी बीमार हो गए। और वह सितंबर-2020 से लेकर 7 अक्टूबर-2020 तक बीमार रहे थे। उनका इलाज घर में ही चला था। इस दौरान भी उनका परिवार के लोग काफी परेशान व तनाव में रहे थे। उनका कहना हैं कि इस दौरान उनके साथियों और सगे संबंधियों ने उनका भरपूर हौंसला बढ़ाया था जिसकी वजह से उन्होनें कोरोना संक्रमण जैसे गंभीर बिमारी को मात देने में सफल हुए थे। 

उनका कहना हैं कि जब तक वह लोग कोरोना संक्रमण जैसे बिमारी को भुला पाते कि उनके बेटे हिमांशु पोसवाल को 15 अप्रैल-2021 5 मई तक कोरोना ग्रस्त था। और वह 21 अप्रैल तक बीमार रहा था। इसके बाद उनकी पत्नी श्रीमती सीमा पोसवाल की तबियत 22 अप्रैल-2021 को कोरोना संक्रमण होने के कारण ज्यादा ख़राब हो गई। और उन्हें बीते 1 मई-2021 को एक निजी हॉस्पिटल,हिसार में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। और वहां पर गत 1 मई से 15 मई 2021 तक उनका इलाज चला था । और कोरोना संक्रमण जैसी जानलेवा बिमारी की हत्या करके वापिस अपने घर लौट आई। उनका कहना है कि इस तरीके से उनके परिवार के सदस्यों ने कोरोना संक्रमण जैसे जानलेवा बिमारी को मात देकर जिंदादिली की मिसाल पेश की हैं। अब वह खुद और परिवार के सभी सदस्य कोरोना संक्रमित पुलिसकर्मियों, आमजनों और सगे संबंधियों की सहायता करने में जुटे हैं।          

Related posts

हरियाणा सरकार ने आज वर्ष 2020 के दौरान अपने कार्यालयों के सार्वजनिक अवकाशों की सूची अधिसूचित की है।

Ajit Sinha

अम्बाला छावनी के सिविल अस्पताल परिसर में तैयार हुआ सबसे आधुनिक कैंसर अस्पताल-अनिल विज

Ajit Sinha

वर्तमान सरकार ने प्रदेश के हर क्षेत्र का किया समान विकास- रतन लाल कटारिया

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//gaptooju.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x