Athrav – Online News Portal
हरियाणा

हरियाणा की छोरियां किसी से कम नहीं , 40 मेधावी छात्राओं ने खुद के बने ड्रोन उड़ाए।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
चंडीगढ़:अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन द्वारा आई.बी.एम और स्कूल शिक्षा विभाग हरियाणा के सहयोग से चंडीगढ़ के कलाग्राम में स्टेम फॉर गर्ल्स इंडिया प्रोग्राम का आयोजन किया गया।  जिसमे हरियाणा प्रदेश के विभिन्न जिलों की 40 मेधावी छात्राओं ने भाग लेकर उपग्रह और ड्रोन लांच किया। इस 40 छात्राओं में से टॉप 4 छात्राओं को अगले चरण के लिए चुना गया।  इन चार छात्राओं में गौरी शर्मा (जी.जी.एच.एस हब्री कैथल) , डॉली शर्मा (जी.एस.एस.एस कंवला अम्बाला) , हिमांशी (सार्थक स्कूल पंचकूला) और भूमिका (जी.एम.एस.एस.एस.एस पंचकूला) शामिल है।  यह चारों छात्राएं चेन्नई में राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाले एक कार्यक्रम में भाग लेनी। कार्यक्रम में छात्राओं ने खुद से तैयार किये ड्रोन उड़ाकर दिखाए।
 
इस दौरान हरियाणा के शिक्षा मंत्री श्री कंवर पाल गुज्जर ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बच्चों का उत्साहवर्धन और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन और आई.बी.एम ने सरकार के साथ मिलकर एक अच्छा प्रयास किया है और ऐसे कार्यक्रमों से हरियाणा के बच्चों को एक बढ़िया प्लेटफार्म मिलेगा।  उन्होंने कहा कि इन छात्राओं ने चुनौतियों को हल करने के लिए टेक्नोलॉजी को लागू करने में अपनी क्षमता का बेहतर प्रदर्शन किया है।इस अवसर पर एडिशनल डायरेक्टर सेकेंडरी एजुकेशन हरियाणा श्री विवेक कालिया जी ने कहा कि अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन हरियाणा और आईबीएम ने हरियाणा सरकार के सहयोग से प्रदेश के 7 जिलों के लगभग 88 सरकारी स्कूलों की छात्रों को उपग्रह, ड्रोन और अंतरिक्ष  में प्रशिक्षित किया गया। उन्होंने कहा कि ऐसे कार्यक्रम आगे भी जारी रहेंगे , इसके लिए और स्कूलों को शॉर्टलिस्ट किया जा रहा है।  ज्वाइंट डायरेक्टर (आईटी एजुकेशन )  हरियाणा प्रवीण सांगवान ने भी कार्यक्रम में शिरकत कर छात्राओं के कौशल की सराहना की।

चयनित छात्राओं ने कहा कि यह उनके लिए किसी सपने से कम नहीं है।  सार्थक स्कूल पंचकूला की हिमांशी ने अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन और आईबीएम का धन्यवाद करते हुए कहा कि सरकारी स्कूल की छात्राओं के लिए यह बहुत बड़ा प्लेटफार्म है। इस तरह की चीजों को सीखना और उसका अनुभव करने यह अपने आप में अलग है। बता कि इस कार्यक्रम उद्देश्य आठवीं एवं नौवीं की छात्राओं को स्टेम विषयों से जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करना है। इनोवेशन प्रोजेक्ट के इस संस्करण में, आई.बी.एम और ए.आई.एफ ने हरियाणा के 9 जिलों के 100 सरकारी स्कूलों में से 1460 छात्राओं ने भाग लिया

जिनमें से 104 छात्राओं का चयन प्रारंभिक प्रशिक्षण के लिए किया गया । इसके बाद पंचकूला वर्कशॉप के लिए 40 छात्रों का चयन किया गया। चयनित 40 छात्राओं को सैटेलाइट्स, ड्रोन, स्पेस टेक्नोलॉजी, सैटेलाइट्स और ड्रोन को असेंबल करने का प्रशिक्षण दिया गया।  जिसके बाद छात्राओं ने कलाग्राम में  ड्रोन, सिम्युलेशन और डिजाइन सॉफ्टवेयर को असेंबल किया और उनका इस्तेमाल नेनो सैटेलाइट्स को लॉन्च करने में किया।

इन सैटेलाइट्स का इस्तेमाल पृथ्वी के वातावरण के विभिन्न मापदंडों के अवलोकन किया गया, जैसे वायु की गति, यूवी किरणें, जीपीएस, दाब और तापमान। इस अवसर पर आईबीएम इंडिया साउथ एशिया के सीएसआर प्रमुख मनोज बालचद्रन, रीजनल टेक्नोलॉजी लीडर लता सिंह , अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन के डिजिटल इक्वलाइज़र प्रोग्राम डायरेक्टर संयुक्ता चतुर्वेदी, रेणुका मालाकार (एआईएस) व कविता श्रीवास्तव (एआईएस) मौजूद रहे।

Related posts

हरियाणा: राज्य में ब्लैक फंगस को अधिसूचित रोग घोषित किया गया है-स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज

Ajit Sinha

आर्मी में नौकरी लगवाने के नाम पर लोगों से करोड़ो रूपए की धोखाधड़ी करने वाली एक महिला सहित दो आरोपित अरेस्ट

Ajit Sinha

चंडीगढ़: लोकतांत्रिक बजट बनाना सरकार का पहला प्रयास: मनोहर लाल

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//shaveeps.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x