Athrav – Online News Portal
अपराध दिल्ली

फर्जी एफ़आईआर दर्ज करवा बीमा कंपनियों के साथ धोखाधडी करने वाला ठग अपराध शाखा ने गिरफ्त्तार


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की  डब्ल्यूआर-II/अपराध शाखा की टीम ने आज दिल्ली के नजफगढ़ से एक शातिर ठग को अरेस्ट किया हैं। अरेस्ट किए गए आरोपित का नाम राजबीर, उम्र 53 वर्ष, निवासी, नजफगढ़, दिल्ली  है। वह वाहन चोरी की झूठी एफआईआर दर्ज करवा कर या वाहन को नष्ट करके फर्जी बीमा लेने में शामिल था। कुल ऐसे 9 वाहनों की पहचान की गई, जिसमें आरोपित द्वारा फर्जी बीमा प्राप्त करने के लिए झूठी एफआईआर  दर्ज कराई गई  थी। आरोपित की निशानदेही पर चोरी व इंजन/चैसीस नंबर से छेड़छाड़ की गई 3 कारें, मोबाइल फोन, एक हाई-सिक्योरिटी नंबर प्लेट भी बरामद की गई है।

स्पेशल डीसीपी अपराध, रविंद्र सिंह यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि उप-निरीक्षक सुमित कुमार को गुप्त सूचना मिली कि आरोपित राजबीर दिल्ली के नजफगढ़ में रहता है व वाहन चोरी की झूठी एफआईआर दर्ज कराकर या वाहनों को नष्ट करके फर्जी बीमा दावा लेने में शामिल है। उपायुक्त सतीश कुमार और संयुक्त आयुक्त एसडी मिश्रा द्वारा सहायक आयुक्त यशपाल सिंह की देख रेख में व निरीक्षक विनय कुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया।  जिसमे उप-निरीक्षक सुमित कुमार, उप-निरीक्षक गौतम, सहायक उप-निरीक्षक दीपक, सहायक उप निरीक्षक राजेशम,सहायक उप-निरीक्षक मन्नोबर खान, प्रधान सिपाही पंकज, प्रधान सिपाही हरेंद्र, प्रधान सिपाही संदीप, प्रधान सिपाही महेश, प्रधान सिपाही राजेश, सिपाही श्रीराम व सिपाही मुकेश शामिल थे। टीम द्वारा जाल बिछाया गया और आरोपित  राजबीर, उम्र 53 वर्ष, निवासी प्रेम नगर, नजफगढ़, दिल्ली को प्रेम नगर, नजफगढ़, दिल्ली से पकड़ लिया गया।यादव का कहना हैं कि पूछताछ के दौरान आरोपित राजबीर ने खुलासा किया कि वह पुराने वाहनों को खरीदता था और इन वाहनों को डेंट/पेंट करवाकर लगभग 4-5 लाख रुपये के उच्च मूल्य पर उसका बीमा करवाता था। इसके बाद वह इन वाहनों को या तो चोरी की झूठी एफआईआर दर्ज करवाकर या इन वाहनों को नष्ट करके बीमा कंपनी से बीमा दावा प्राप्त किया करता था। इस कार्यप्रणाली से, उसने लगभग 10 वाहनों का धोखाधडी से बीमा प्राप्त किया।  आरोपित ने धोखाधड़ी से बीमा दावा हासिल करने के लिए अपने या अपने करीबी रिश्तेदारों के नाम पर वाहनों का पंजीकरण कराया था जिनका विवरण निम्नलिखित है:-

क्र.स. गाड़ी  नंबर प्राथमिकी संख्या थाना शिकायतकर्ता

1 HR-55-T-5212 12318 दिनांक 16/04/2018 थाना सेक्टर-23 द्वारका,राजबीर सिंह
2.DL-01-VB-7925 045596 दिनांक 23/12/2018 थाना सेक्टर-23 द्वारका,सोनिया (भाभी)
3.DL-01-VB-7569 013034 दिनांक 14/04/2019 थाना छावला प्रीति कुमारी (भाभी)
4.DL-01-VB-7568 003785 दिनांक 01/02/2019 थाना छावला,सोनिया (भाभी)
5.DL-1V-B-8458 027636 दिनांक. 05/08/2019,थाना द्वारका दक्षिण,प्रीति कुमारी (भाभी))
6.DL-01-VB-7928 036611 दिनांक. 13/10/2019,थाना महरौली,शिलेंद्रर (चचेरे बहनोई)
7.DL-01-VB-8015 040772 दिनांक 19/11/2019 थाना नजफगढ़ राजबीर
8.DL-8-CZ-8758 — — महाबीर सिंह रावत (करीबी दोस्त))
9.DL8CAF4048 014020 दिनांक 15.05.2023 थाना नजफगढ़ राजबीर सिंह

बरामदगी
•3 चोरी की  गईं कारें
•मोबाइल फोन
•एक नंबर प्लेट
आरोपित का प्रोफाइल:
राजबीर सिंह, उम्र 53 वर्ष, निवासी, नजफगढ़, दिल्ली का रहने वाला है व 12वीं कक्षा तक पढ़ा  है।  पहले वह पुराने वाहन खरीद कर ओला व उबर कंपनी में चलाता था। आरोपित  एक आदतन ठग  है जो उपरोक्त कार्यप्रणाली से बीमा कंपनियों को गलत तरीके से नुकसान पहुंचा रहा है।

 

Related posts

नेवी ऑफिसर रोज पीटता था पत्नी को, सोने गया तो पत्नी ने किचन से उठाई भारी चीज और कर दी हत्या

Ajit Sinha

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज पवन कुमार बंसल को एआईसीसी कोषाध्यक्ष की अतिरिक्त जिम्मेदारी सौंपी है।

Ajit Sinha

विदेश भेजने वाले और कबूतरबाजी में विभिन्न जिलों में दर्ज 28 मामलों के  27 आरोपी एजेंटो को गिरफ्तार किया है: विज  

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//nutchaungong.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x