Athrav – Online News Portal
अपराध नोएडा राष्ट्रीय वीडियो

फर्जी दस्तावेज से क्रेडिट कार्ड बनाकर बैंकों को करोड़ों का चूना लगाने वाले सरगना समेत चार शातिर ठग गिरफ्तार-देखें वीडियो

अरविंद उत्तम की रिपोर्ट 
नॉएडा: नोएडा एसटीएफ नोएडा यूनिट और थाना सैक्टर- 20 ने आमजनों के  दस्तावेज़ को चुरा कर इन दस्तावेज से दूसरों के नाम पर क्रेडिट कार्ड बनाकर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। एसटीएफ ने और थाना सैक्टर- 20 ने संयुक्तकार्रवाई करते हुए इस गिरोह के मास्टर माइंड सहित चार आरोपितों  को सेक्टर-16ए फिल्म सिटी के पास से गिरफ्तार किया है। एडिशनल डीसीपी नोएडा ज़ोन रणविजय सिंह ने बताया कि फर्जी क्रेडिट कार्ड बनाकर ठगी करने और धोखाधड़ी के कई मामले थाना सेक्टर- 20 में दर्ज हैं, पकड़े गए आरोपितों की पहचान जितेंद्र गुलाटी उर्फ जतिन निवासी रोहिणी दिल्ली, कपूर सिंह दाहिया निवासी रोहिणी, दिल्ली, त्रिलोक नाथ शर्मा निवासी रोहिणी दिल्ली और कुलदीप उर्फ करन निवासी जहांगीरपूरी ,दिल्ली के रूप में हुई है।

आरोपित कई बैंकों और फाइनेंस कंपनियों से करोड़ों रूपए ऐंठ चुके हैं। अब तक कितनी रकम आरोपितों ने ठगी इसकी जांच की जा रही है। फिलहाल, एसटीएफ ने आरोपितों के बैंक खाते में जमा 18.50 लाख रुपये फ्रीज कर दिए हैं। एसटीएफ अन्य आरोपितों की तलाश कर रही है। एडिशनल डीसीपी ने बताया कि  इनमें जितेंद्र गुलाटी उर्फ जतिन गिरोह का सरगना है। जतिन पहले भी ठगी के मामले में दिल्ली से दो बार जेल जा चुका है। पकड़े गए आरोपितों  के बैंक खातों में जमा 18 लाख पचास हजार फ्रीज किए हैं। 6 लाख 23 हजार रुपए, 44 ग्राम के सोने के 7 बिस्किट और 7.28 ग्राम के सोने के टाप्स। इसके अलावा 60 क्रेडिट कार्ड, 8-8 पैन और आधार कार्ड,  9 डेबिट कार्ड, 2 कार व अन्य जरुरी दस्तावेज बरामद किए गए हैं। 

पूछताछ के दौरान पकड़े गए आरोपित ने  बैंक के अच्छे सिविल स्कोर वाले खाताधारकों को वे अपना निशाना बनाते थे ये लोग इनके बैंक खाते के नाम पर फर्जी दस्तावेज के जरिए क्रेडिट कार्ड बनवा लेते थे। फिर खाता धारक के नाम पर रुपये निकालते थे। वहीं इससे शॉपिंग भी की जाती थी। इन्होंने खुद को मुख्य कंपनी में कार्यरत दिखा कर 20 से ज्यादा कार्ड बनवाए थे। कार्ड सत्यापन के लिए इन्होंने गुरुग्राम, करनाल, दिल्ली में किराए पर फ्लैट लिए थे। सत्यापन के लिए किराए पर लिए सत्यापन के समय आरोपित  वहां उपस्थित हो जाते थे। इन्होंने गौरव शर्मा द्वारा फर्जी बिजनेस दिखाकर बैंकों से कार्ड स्वाइप मशीन ली थी।

Related posts

आईएएस डीएम सुहास एलवाई पहले ऐसे नौकरशाह हैं जिन्होंने पैरालंपिक में देश का प्रतिनिधित्व कर मेडल जीता

Ajit Sinha

फरीदाबाद ब्रेकिंग: कांग्रेसी नेता लखन सिंगला ने 24 घंटे में ही लुटेरे पकड़े जाने पर जताया पुलिस प्रशासन का किया धन्यवाद।

Ajit Sinha

संतों की मांग संत विजयदास जी के आत्मदाह मामले की सीबीआई जांच हो:- अरुण सिंह

Ajit Sinha
//kirteexe.tv/4/2220576
error: Content is protected !!