Athrav – Online News Portal
अपराध फरीदाबाद वीडियो

फरीदाबाद: पुलिस कमिश्नर ओ. पी. सिंह ने कहा कि समाज के दुश्मनों का असली स्थान नीमका जेल में हैं-देखें वीडियो

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
फरीदाबाद: अब फरीदाबाद में बदमाशों को गुजारा नहीं हैं, उनका सही स्थान अब नीमका जेल में हैं, ऐसे 342 बदमाशों के नाम सूचि बद्ध किया गया हैं। इनमें 42 अन्तर्राजीय बदमाश हैं, जिन्हें असल जगह पहुंचाने की जिम्मेदारी क्राइम ब्रांच को सौपी गई हैं। और 300 बदमाशों की लिस्ट शहर के सभी थानों के एसएचओ को सौपी गई हैं जोकि अपने अपने थाना क्षेत्रों के बदमाशों पर नजर रखें। जरुरत पड़ने पर उसका सही इलाज करें। पुलिस कमिश्नर ओ. पी. सिंह ने आज अपने कार्यालय के कांफ्रेंस हॉल में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कहे। 
पुलिस कमिश्नर ओ. पी.सिंह ने  पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि 100 में से 90 प्रतिशत ऐसे लोग हैं जो कि अपने काम से मतलब रखते हैं और शांतिपूर्वक जिंदगी जीना चाहते हैं। इनमें से 7 से 8 प्रतिशत ऐसे लोग हैं जो कि गरीब हैं और छोटे -छोटे चीजों की छीना झपटी करके ज्यादा अमीर बनना चाहते हैं जिन्हें सुधारने की जरुरत हैं। उनका यह भी कहना हैं कि 2-3 प्रतिशत ऐसे लोग हैं जोकि बकाई बदमाश लोग हैं जो समाज,शहर व प्रदेश में अशांति फैलाना चाहते हैं। इन पर सख्त नजर रखने की जरुरत हैं। जरुरत पड़ने पर ऐसे लोगों के इलाज करने की जरुरत हैं। उनका कहना हैं कि फरीदाबाद शहर में अपराध रोकने की दिशा में कार्य करने आए हैं। इसलिए उन्होनें अपने सभी पुलिस के बड़े अधिकारियों से कहा गया हैं कि प्रति दिन जहां -जहां से कैश ट्रांजक्शन होती और बैंकों में पुलिस की ड्यूटी होती हैं।

उन सभी जगहों को जरूर चेक करें। उनका यह भी कहना हैं कि उन्होनें सभी थानों के एसएचओ को सख्त आदेश दे दिए हैं कि आम जनता की शिकायतें सुने और अपने स्तर पर ही निपटाए। उनके पास वह शिकायतें नहीं पहुंचनी चाहिए अगर ऐसा हुआ तो जवाब देह होंगें उनसे पूछा जाएगा। जो सही शिकायतें हैं उन पर वह जरूर कार्रवाई करे। और उन पर अमल भी करें। उनका कहना हैं कि पुलिस विभाग में 104 कोरोना योद्धा हैं और कोरोना के शिकार हुए हैं उनमें से 27 पुलिस कर्मियों को छोड़ कर सभी पुलिस कर्मी ठीक हो चुके हैं। जरुरत हैं ऐसे पुलिस कर्मियों को हौसला बढ़ा ने की। सवाल के जवाब में उनका कहना हैं कि जो परिवार के लोग अपने घरों से अपने निजी कार में सवार हो कर सफर करते हैं, उन्हें मास्क लगाने की जरुरत नहीं हैं पर जब वह लोग अपने कार से नीचे उतरे तो मास्क जरूर लगाए। उन्होनें यह भी कहा कि कुछ महीनों की बात हैं कोरोना महामारी देश से खत्म हो जाएगा। यह मुश्किल वक़्त सभी लोगों के साथ हैं। इसमें अपना खुद का वचाब हैं। 
    

Related posts

दो मोस्टवांटेड, कुख्यात एवं ईनामी बदमाशों, 74 उदघोषित अपराधियों व 51 बेल जम्परों को पहुंचाया सलाखों के पीछे।

webmaster

फरीदाबाद ब्रेकिंग: क्राइम ब्रांच, बॉर्डर ने आज 9 लोगों को जुआ खेलते हुए अरेस्ट किया हैं, एक लाख 39 हजार रूपए बरामद।

webmaster

फरीदाबाद: एसडीओ की तानाशाही के खिलाफ नारेबाजी कर आगामी रणनीति पर प्रदर्शन किया।

webmaster
//lephaush.net/4/2220576
error: Content is protected !!