Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद

फरीदाबाद:ग्रीन फील्ड घटिया राजनितिक से ग्रस्त हैं, जहां सौंदर्यीकरण होना था ,वहां तो अवैध शोरूम और दुकानें खुली हैं,होगी कार्रवाई ।  


अजीत सिन्हा की रिपोर्ट
फरीदाबाद: ग्रीन फील्ड कॉलोनी की लाइफ लाइन कही जाने (मॉल रोड) मुख्य सड़क के दोनों तरफ एक के बाद एक रिहायशी मकानों में लगातार बड़ी-बड़ी अवैध शोरूम और दुकाने खुलते ही जा रही हैं, जो थमने का नाम बिल्कुल नहीं ले रहा हैं, नाही सम्बंधित विभाग के अधिकारी इसे रोकने के लिए कोई पहल कर रहा हैं, इस खबर में लगभग 2-3 पुरानी तस्बीरें प्रकाशित की गई हैं,मैं दिखाई दे रहा ये हालत आने वाले वक़्त में ग्रीन फील्ड के हजारों लोगों को बहुत ज्यादा मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता हैं। जो जिला प्रशासन व यूआईसी के लिए बहुत ही शर्म की बात होगी।

इन सभी अवैध शो रूम और दुकानों को जिला प्रशासन व यूआईसी संयुक्त कार्रवाई करके बिल्कुल बंद करवा देना चाहिए, ताकि मॉल रोड को बहुत ही सुंदर बनाया जा सकें ,क्यूंकि ये कॉलोनी दिल्ली के बिल्कुल नजदीक हैं। इस मामले में ग्रीन फील्ड रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान वीरेंद्र भड़ाना से पूछा गया की इन रिहायशी मकानों में अवैध रूप से खुले हुए बड़े -बड़े शोरूम और दुकानों को बंद करवाने में कोई महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगें तो, वह बिल्कुल खामोश हो गए, और साफतौर पर उन्होनें कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया।

इस मामले में अर्बन इंप्रूवमेंट कंपनी लिमिटेड के महाप्रबंधक प्रवीण चौधरी का कहना हैं कि यूआईसी कंपनी ने ग्रीन फील्ड कॉलोनी के तीनों सेक्टरों में अलग – अलग मार्किट बनाई हुई हैं, जिसमें एससीओ टाइप की प्लॉटिंग की गई हैं,पर वहां पर बिल्कुल वीरान पड़ी हुई हैं, वहां लोग शोरूम या दुकाने खोल नहीं रहे,और शिफ्ट भी नहीं कर रहे, जबकि वहां पर पार्किंग की सुविधा भी हैं। सवाल के जवाब में उनका कहना हैं कि जो लोग रिहायशी मकानों में अवैध रूप से शोरूम और दुकानें खोली हुई हैं, और धड़ल्ले से खोले ही जा रहे हैं, का सर्वे करवा बहुत पहले उन्होनें डीटीपी इंफोर्स्मेंट एंव विजिलेंस विभाग को दी थी, उस समय तो डीटीपी इंफोर्स्मेंट एंव विजिलेंस विभाग ने सख्त कार्रवाई की थी, अब भी डीटीपी इंफोर्स्मेंट विभाग उनसे कहेगा तो फिर से रिहायशी मकानों में खुले दुकानों और शोरूम का सर्वे करवा कर उन्हें दे देंगें, जिससे सम्बंधित विभाग को रिहायशी मकानों में चल रहे अवैध शोरूम और दुकानों को पर सख्त कार्रवाई करने में आसानी होगी। प्लाट नम्बर -120 , मॉल रोड की ये तस्बीर हैं। इस बारे में डीटीपी इंफोर्समेंट एंव विजिलेंस राजेंद्र टी शर्मा का कहना हैं कि अगले सप्ताह में इसकी जाँच करवाएंगे और फिर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। 

ग्रीन फील्ड कॉलोनी में लाइफ लाइन कहे जाने वाली (मॉल रोड) मुख्य सड़क के दोनों साइडों में जो बड़े -बड़े शो -रूम एंव दुकानें हैं,इसमें एकाद को छोड़ कर सभी अवैध हैं,ये सभी शो-रूम एंव दुकानें रिहायशी प्लाटों पर बने मकानों के नीचे खुले हुए हैं। ऐसी दुकानों और शो-रूम की तादाद लगातार बढ़ती और बनती ही जा रही हैं। इन दुकानों में स्पा सेंटर , मिठाइयों की दुकान , लोहे की दुकान , प्रॉपर्टी डीलर्स के कार्यालय व बिल्डरों के कार्यालय, ढाबा, रेस्टोरेंट, किराने की दुकानें और स्टेशनरी, बाइक के शोरूम और दुकानें खुली हुई हैं, और लगातार और सामानों की दुकानें खुलती ही जा रही हैं। ये सभी दुकानें और शो -रूम के नीचे पार्किंग की जगह हैं, जिस पर शोरूम और दुकानें खुली हुई हैं।

ये तो गलत तो हैं ही, इसके आगे दुकानदार लोग अपने -अपने गाड़ियों को खड़ी कर देते हैं, इसके बाद ग्राहक अपनी -अपनी गाड़ियां को इसके पीछे लगा देते हैं, और इसके पीछे आ जाती सड़क और इसके दोनों तरफ गाड़ियां खड़ी होने से सड़क पर लग जाती जाम, और देखने में बहुत ज्यादा ख़राब और गंदा लगता हैं। इस पर लगाम लगाने वाला कोई नहीं हैं। इस पर पूरी तरह से लगाम लगताना डीटीपी इंफोर्स्मेंट एंव यूआईसी व पुलिस विभाग का काम हैं, ये तीनों संस्थान अपने जिम्मेदारी से पीछे हट रहे हैं। इसके परिणाम ये रहा हैं , कि अवैध दुकानों और शो -रूम की संख्या काफी बढ़ गई। अब देखा गया हैं कि कई बड़े – बड़े बिल्डिंगे इस समय भी बन रही हैं। इसमें भी जल्द ही कोई ना कोई शोरूम और दुकानें खुल जाएगीग्रीन फील्ड के हजारों परिवारों की मुश्किलें बढ़ती हैं तो बढे। नेताओं को तो अपने वोट से मतलब हैं। नीचे की ये तस्वीर हैं जहां दुकानें सजनी थी , वहां पर गंदगी की ढेर लगी हुई हैं, जहां सौंदर्यीकरण होना चाहिए था, वहां अवैध दुकानों और शोरूम खुली हुई हैं , और गलत तरीके से गाड़ियां पार्क की हुई हैं। ये कॉलोनी घटिया राजनितिक से ग्रस्त हैं।

Related posts

चंडीगढ़ ब्रेकिंग 9 वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों के तबादले आदेश जारी

Ajit Sinha

नरेंद्र मोदी चाय बेच कर प्रधानमंत्री बने, मै भी चाय बेच कर नगर निगम का पार्षद बना हूँ : पार्षद सुभाष आहूजा।

Ajit Sinha

हरियाणा विधानसभा अब होगा पेपर लैस, 20 करोड़ रूपए मंजूर , विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने दी अनुमति।

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//sauptowhy.com/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x