Athrav – Online News Portal
फरीदाबाद

फरीदाबाद: सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को करनी होगी भारत निर्वाचन आयोग की हिदायतों की पालना: डीसी

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
फरीदाबाद:डीसी कम जिला निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह ने कहा कि सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को भारत  निर्वाचन आयोग की हिदायतों की पालना करनी होगी। डीसी कम जिला निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह ने कहा कि आगामी लोकसभा आम चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता के तुरंत बाद चुनाव आयोग के अधीन अधिकारी और कर्मचारी ड्यूटियां सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी और कर्मचारी निर्धारित समय पर दायित्व और जिम्मेदारी को पूरा करना सुनिश्चित करें। ड्यूटी में कोताही करने पर किसी भी सूरत में नहीं बक्शा जाएगा।डीसी विक्रम सिंह आज लघु सचिवालय के बैठक कक्ष में जिला के विभिन्न विभागों के अधिकारियों को भारत निर्वाचन आयोग की हिदायतों के अनुसार लोक सभा चुनाव में अधिकारियों और कर्मचारियों की विभाग वार जिम्मेदारियां और दायित्वों समीक्षा बैठक कर उन्हें दिशा-निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि भारतीय निर्वाचन आयोग जारी सभी दिशा निर्देशों का आगामी लोकसभा के आम चुनावों के दौरान पालन करना अनिवार्य है। इसमें सभी अधिकारियों व कर्मचारियों सहित राजनीतिक दल, उम्मीदवार और कार्यकर्ता व आम लोग भी शामिल हैं।

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि पूरे देश में लोकसभा चुनाव को लेकर तैयारियां की जा रही है और चुनाव के लिए भारतीय निर्वाचन आयोग द्वारा जरूरी दिशा निर्देश भी जारी किए जा रहे हैं। समय और आवश्यकता के अनुसार भविष्य में भी भारत निर्वाचन  आयोग द्वारा दिशा निर्देशों को जारी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान सभी अधिकारियों, कर्मचारियों, राजनीतिक दलों, उम्मीदवारों व दलों के कार्यकर्ताओं सहित आम लोगों को भी आयोग के आदेशों की पालना करना अनिवार्य है। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों में कोताही करने या दोषी पाए जाने पर सख्त कानूनी  कार्यवाही से गुजरना पड़ सकता है।भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी दिशा निर्देशों की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि आम चुनाव की घोषणा के उपरांत नामांकन पत्र भरने की अंतिम तिथि, स्थान, समय, नामांकन पत्रों की जांच, पत्र वापिस लेने की तिथि इत्यादि जानकारी सार्वजनिक की जाएगी और यह भी जानकारी सार्वजनिक की जाएगी कि आरओ के स्थान पर कौन से एआरओ नामांकन पत्र स्वीकार करेंगे। डीसी ने आगे बताया कि नामांकन प्रक्रिया के दौरान प्रत्याशियों को रिटर्निंग अधिकारी (आरओ), सहायक रिटर्निंग अधिकारी (एआरओ) के कार्यालय में अपने साथ अधिकतम 4 लोगों को लाने की अनुमति होगी। साथ ही, आरओ तथा एआरओ कार्यालय की 100 मीटर की परिधि में अधिकतम 3 वाहन लाने की अनुमति होगी। उन्होंने बताया कि लोकसभा आम चुनावों के लिए सिक्योरिटी डिपॉजिट 25 हजार रुपये होगी। वहीं  अनुसूचित जाति व जनजाति के के लिए आरक्षित सीटों पर उम्मीदवारों के लिए यह राशि 12,500 रुपये होगी।सिक्योरिटी डिपॉजिट नकद या ट्रेजरी के माध्यम से ही स्वीकार्य होगी। चेक या डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से इस राशि को स्वीकार नहीं किया जाएगा।जिला निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह ने कहा कि नामांकन भरने की पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी करवाई जाएगी और सभी दस्तावेजों को सुरक्षित तरीके से रखा जाएगा। एक उम्मीदवार अधिकतम 4 नामांकन पत्र भर सकता है तथा 2 लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ सकता है। नामांकन पत्र उम्मीदवार द्वारा या उसके प्रस्तावक द्वारा भरा जा सकता है। नामांकन पत्र डाक द्वारा नहीं भेजा जा सकता , बल्कि आरओ/एआरओ के कार्यालय में व्यक्तिगत रूप से ही प्रस्तुत किया जाएगा।जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि उम्मीदवार को अपने आपराधिक रिकॉर्ड, यदि कोई है तो, उसकी जानकारी भी सार्वजनिक करनी होगी। उम्मीदवार को फॉर्म 26 में एफिडेविट के साथ अपने आपराधिक मामले की पूरी जानकारी देनी होगी तथा वह राजनीतिक पार्टी को भी इस संबंध में अवगत करवाएगा।जिला निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह ने कहा कि राजनीतिक पार्टी द्वारा ऐसे आपराधिक मामले की जानकारी अपनी पार्टी की अधिकारिक वेबसाइट पर डालनी होगी। इतना ही नहीं, नामांकन भरने के उपरांत उम्मीदवार और राजनीतिक पार्टी को समाचार पत्रों तथा टीवी चैनलों में भी कम से कम 3 बार आपराधिक मामले की जानकारी भी सार्वजनिक करनी होगी।जिला निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह ने जिला के सभी मतदाताओं से अपील करते हुए कहा कि युवा भी आगे आएं और मतदान के प्रति दूसरे लोगों को भी जागरूक करें। उन्होने कहा कि हर पात्र मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करें। चुनाव का पर्व देश का गर्व है। चुनाव आयोग व निर्वाचन अधिकारी लोकतंत्र के इस पर्व में केवल माध्यम ही हैं,असली कड़ी तो मतदाता ही हैं। उसके मताधिकार के प्रयोग के बिना यह पर्व अधूरा है।जिला निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह ने कहा कि जिला फरीदाबाद में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए लाइसेंस धारी संबंधित थानों में अपने हथियार जमा करवाए। 18वीं  लोकसभा चुनाव को देखते हुए जिलाधीश  विक्रम सिंह ने सभी लाइसेंस शुदा हथियार धारकों को आदेश जारी किए हैं कि वे अपनी बंदूक, पिस्तौल, रिवाल्वर आदि नजदीकी थानों में जमा करवा दें।जिलाधीश ने जारी किए आदेश में कहा है कि चुनाव प्रक्रिया शीघ्र शुरू होने वाली है। चुनाव को शांतिपूर्ण व निष्पक्ष माहौल में संपन्न करवाने के लिए सभी नागरिकों को अपना सहयोग देना चाहिए। इसी कड़ी में लाइसेंसी हथियार धारकों को आदेश दिए गए हैं कि वे अपने समीप के पुलिस स्टेशन में जाकर बंदूक, रिवाल्वर, पिस्तौल आदि जमा करवा दें। बाद में चुनाव के दौरान किसी व्यक्ति के पास हथियार पाया जाता है या कोई व्यक्ति बंदूक, रिवाल्वर जैसा घातक शस्त्र लेकर घूमता हुआ पाया जाता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इसलिए समय रहते अपने हथियारों को पहले ही थानों में जमा करवा कर प्रशासन को सहयोग दें। जिला प्रशासन की ओर से मतदाताओं को जागरूक करने के लिए कवायद शुरू कर दी गई है। इसी कड़ी में जिला के विभिन्न शिक्षण संस्थानों में कैंपस एंबेसडर मनोनित कर दिए गए हैं। ये सभी एंबेसडर अपने संस्थान में मतदाता जागरूकता से संबंधित गतिविधियों को चलाएंगे। निर्वाचन आयोग के निर्देशों के अनुसार मतदान प्रतिशत को बढ़ाने के लिए यह कार्यवाही की जा रही है। इसी को लेकर स्पीप के नोडल अधिकारी एवं अतिरिक्त उपायुक्त आनन्द शर्मा ने भी समीक्षा बैठक कर डीसी एवं जिला निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह के मार्गदर्शन में मतदाता जागरूकता अभियान की शुरुआत कर दी गई है और विभिन्न माध्यमों से मतदाताओं को मतदान के लिए जागरूक करने का निर्णय लिया गया है। जिला के सभी छः  विधानसभा क्षेत्रों में मास्टर ट्रेनर शहरी वार्डो और गांवों में जाकर मतदाताओं को जागरूक कर रहे हैं। साथ ही शिक्षण संस्थानों में युवा मतदाताओं को जागरूक करने के लिए कैंपस एंबेसडर मनोनित किए गए  हैं। संस्थानों में विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से ये एंबेसडर जागरूकता करेंगे।उन्होंने कहा कि जिला में मानव चेन, सेल्फी प्वाइंट और नुक्कड नाटक के द्वारा भी लोगों को मतदान के प्रति जागरूक किया जाएगा। चुनाव का पर्व दया का गर्व है। ऐसे में ज्यादा से ज्यादा युवाओं को इस जागरूकता अभियान के साथ जोड़ा जाएगा। अगर कोई जागरूकता के बारे में बेहतरीन आईडिया देना चाहता है तो वह चुनाव कार्यालय को संपर्क कर सकता है। ऐसे ही जिला के एफएम के माध्यम से भी लोगों को जागरूक किया जाएगा। डीसी कम जिला निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह ने कहा कि लोक सभा चुनाव में मीडिया मॉनिटरिंग और चुनाव खर्च पर प्रशासन की विशेष रूप से भारत निर्वाचन आयोग की हिदायतों के अनुसार पूरी नजर रखी जाएगी। सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मीडिया मॉनिटरिंग में भागीदारी सुनिश्चित करेंगे। वहीं चुनाव खर्च पर चुनाव खर्च आब्र्जवर के अधीन अलग से अधिकारियों और कर्मचारियों की ड्यूटी सुनिश्चित की गई है।डीसी कम जिला निर्वाचन अधिकारी विक्रम सिंह ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग की हिदायतों के अनुसार आदर्श आचार संहिता घोषणा के तुरंत बाद प्रभावी ढंग से प्रचार प्रसार के अलावा सुरक्षा व्यवस्था सहित सम्बंधित तमाम प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को एक्टिव मोड में काम करना सुनिश्चित करें।बैठक में डीसीपी सैन्ट्रल जसलीन कौर, एमसीएफ के सयुक्त आयुक्त गौरव अंतिल, एसीईओ स्मार्ट सीटी गौरी मिड्ढा, ज्वाइंट कमिश्नर एमसीएफ जितेन्द्र सिंह, सीटीएम अंकित  कुमार, डीडीपीओ कैप्टन प्रदीप कुमार, डीआरओ बिजेन्द्र राणा, डीआईओ एलएन मित्तल, डीआईपीआरओ राकेश गौतम सहित अन्य अधिकारी गण उपस्थित रहे।

Related posts

हरियाणा में लॉकडाउन नहीं लगेगा, पड़ोसी राज्यों में कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए केवल नाईट कफ्र्यू लगाया गया है।

Ajit Sinha

हरियाणा में 45 नगर परिषद व नगर पालिकाओं के चुनावों से पहले अध्यक्ष पद के आरक्षण के लिए आज ड्रा निकाले गए।

Ajit Sinha

हरियाणा सरकार ने आज 5 एचसीएस अधिकारियों के तबादले एंव नियुक्ति आदेश जारी किए हैं-लिस्ट पढ़े

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//afodreet.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x