Athrav – Online News Portal
गुडगाँव

79 करोड़ रुपए की पकड़ी बिजली चोरी और 48 करोड़ रुपए वसूले – पीसी मीणा।

अजीत सिन्हा की रिपोर्ट 
गुरुग्राम:दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा बिजली चोरी पकड़ने का अभियान जारी है। इस अभियान से बिजली निगम को टेक्निकल एवं डिस्ट्रीब्यूशन लॉस (टी एंड डी) कम करने में सहायता मिली है। निगम के प्रबंध निदेशक पीसी मीणा ने बताया कि चालू वित्त वर्ष 2022-23 में गत माह तक 79.13 करोड़ रुपए की बिजली चोरी पकड़ी जा चुकी है। बिजली चोरी कर रहे उपभोक्ताओं द्वारा जुर्माने के 48.08 करोड़ रुपए जमा किए जा चुके है। उन्होंने बताया कि वर्तमान वित्त वर्ष में लगाए गए जुर्माना में से 60 प्रतिशत से अधिक राशि वसूली जा चुकी है।

इस अभियान में बिजली निगम की संयुक्त जांच टीम द्वारा 71787 उपभोक्ताओं के मीटरों को चेक किया गया है जिसमें से 20568 बिजली उपभोक्ता चोरी करते हुए पकड़े गए। इनके खिलाफ 20038 एफआईआर दर्ज करवाई गई हैं।प्रबंध निदेशक ने बताया कि बिजली चोरी का बकाया जुर्माना जिन्होंने अभी तक जमा नहीं किया है रिकवरी के लिए उन उपभोक्ताओं पर पुलिस एवं कानूनी कार्रवाई की जा रही है।दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम ने वितरण प्रणाली में तकनीकी सुधार कर और चोरी का पता लगाकर तकनीकी और वितरण हानियों को काफी कम किया है। निगम टी एंड डी घाटे को रोकने के लिए बहुआयामी दृष्टिकोण अपना रहा है।

मौजूदा वितरण नेटवर्क का तकनीकी संवर्धन, तकनीकी नुकसान को कम करने के लिए एचटी से एलटी अनुपात बढ़ाना और एचटी लाइनों को बढ़ाकर चोरी को रोकना है। ज्यादा हानि वाले फीडरों पर गहन और लक्षित चोरी का पता लगाने का अभियान जारी है।प्रबंध निदेशक पीसी मीणा ने कहा कि बिजली चोरी करना कानूनन अपराध है। बिजली चोरी पर जुर्माना और सजा का प्रावधान है। इसे खत्म करने में सभी का सहयोग अपेक्षित है। दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा बिजली चोरी को रोकने के लिए एक XYZ पोर्टल भी बनाया गया है।  कोई भी व्यक्ति यदि किसी को बिजली चोरी करते हुए देखता है तो वह बिजली निगम के टोल फ्री नंबर 18001801011 पर या व्हाट्स ऐप नंबर 7027008325 अथवा ईमेल से hookacrook4dhbvn@dhbvn.org.in या theftinformer@dhbvn.org.in पर दे सकता है और बिजली चोरी रोकने में अपना योगदान दे सकता है। कोई भी प्रातः 9:00 बजे से रात के 9:00 बजे तक किसी भी कार्य दिवस पर चोरी की सूचना दे सकता है। निगम द्वारा चोरी बताने वाले को पुरस्कार देने का भी प्रावधान है। बिजली निगम द्वारा चोरी बताने वाले का नाम आदि गुप्त रखा जाता है। बिजली निगम की संयुक्त टीम द्वारा समय-समय पर बिजली चोरी रोकने का अभियान चलता रहता है। बिजली निगम अपने उपभोक्ताओं को बेहतर बिजली आपूर्ति करने और लाइन लॉसेस को कम करने में निरंतर प्रयासरत है।

Related posts

सेंटर फॉर वेलफेयर ऑफ स्पीच एंड हियरिंग इंपेयर्ड में कार्यक्रम का आयोजन किया गया

Ajit Sinha

गुरूग्राम मैराथन को लेकर उपमंडल सोहना व पटौदी में प्रोमो रेस आयोजित

Ajit Sinha

मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में जीएमडीए की 11वीं बैठक आयोजित

Ajit Sinha
0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
//woafoame.net/4/2220576
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x